होम /न्यूज /जीवन शैली /

जानिए क्या है आरईएम स्लीप और इसकी कमी से सेहत को होने वाले नुकसान

जानिए क्या है आरईएम स्लीप और इसकी कमी से सेहत को होने वाले नुकसान

आरईएम स्लीप की कमी से कम होने लगती है मेमोरी Image / Canva

आरईएम स्लीप की कमी से कम होने लगती है मेमोरी Image / Canva

क्या आप जानते हैं हमारे स्लीपिंग पैटर्न में आरईएम स्लीप शामिल हैं, जो हमें हील करने में मदद करता है. यह हमारे नेगेटिव थॉट को दूर कर पॉजिटिव बने रहने में मदद करता है. इसकी कमी सेहत के लिए कैसे बुरी साबित हो सकती है, आइए जानते हैं.

Importance of REM sleep: रात में सोते वक्त ज़्यादातर लोगों को सपने आते हैं. क्या आपने नींद खुलने के बाद सपने को गंभीरता से लिया है? जगने के बाद ये सोचा है कि आपको सपने काफी ब्लैक एंड वाइट, तो कभी कलरफुल क्यों नज़र आते हैं? कई बार तो हमें सपने टुकड़ों में नज़र आते हैं. कभी आधी रात में नींद टूटने के बाद जब हम दोबारा सोते हैं, तो हमें फिर से पुराने सपने की आगे की कहानी नज़र आने लगती है.

आप समय के जिस चरण में सबसे ज़्यादा सपने देखते हैं, उसे आरईएम यानी रैपिड आई मूवमेंट स्लीप कहते हैं. इस दौरान देखे गए सपने गहरे इमोशन के साथ जुड़े हुए होते हैं. आरईएम स्लीप के दौरान हमारा मस्तिष्क नकारात्मक भावनाओं को कम करते हुए सकारात्मक भावनाओं के स्टॉक को मजबूत करने का काम करता है. आरईएम स्लीप के दौरान हमारा दिमाग बेहद सक्रिय होता है. उतना ही जितना दिन में जागते समय होते हैं. इस दौरान हमारी आंखें तेज़ी से पलक के अंदर चलती हैं और सांसों के साथ-साथ हार्ट रेट और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है.

इसे भी पढ़ेंः हेपेटाइटिस को हल्के में न लें डैमेज हो सकता है लिवर, जानिए इस बीमारी में क्या खाएं-क्या नहीं

हर दिन कितनी आरईएम स्लीप है ज़रूरी?
वेबमेड में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक आरईएम स्लीप हमारी मेमोरीज़ को पढ़ने और उन्हें स्टोर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. यह हमें ज़िंदगी की भावनात्मक समस्याओं से लड़ने में और डर के ऊपर काबू पाने के लिए तैयार करता है. इसके अलावा आरईएम स्लीप हमें क्रिएटिव तरीके से सोचने और चीज़े याद रखने में मदद करती हैं. हमारे शरीर को आरईएम स्लीप की दिन में 20- 25 प्रतिशत ज़रूरत होती है.

इसे भी पढ़ेंः बेहद सामान्य होते हैं कैंसर के शुरुआती लक्षण, इन्हें इग्नोर करना हो सकता है खतरनाक

आरईएम स्लीप की के क्या है साइड अफेक्ट्स
आरईएम स्लीप की कमी कई बार हमारी बॉडी पर नेगेटिव इंपैक्ट डालती है. अगर लंबे समय तक शरीर को आरईएम स्लीप नहीं मिली, तो यह गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं की वजह भी बन सकती है. इसकी कमी से डिप्रेशन, एंग्जायटी, कमज़ोर इम्यून सिस्टम, वज़न बढ़ना, थकान, कम होती मेमोरी जैसी समस्याएं शुरू हो सकती हैं. ऐसे में अगर आपको सोने में समस्या आती है या नियमित तनाव, थकान, कमज़ोरी और कम होती मेमोरी की समस्या हो रही है, तो बिना देर के एक्सपर्ट से मिलना ज़रूरी है.

Tags: Better sleep, Health, Lifestyle

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर