होम /न्यूज /जीवन शैली /क्या आपको भी लगता है बच्चे का पेट नहीं भरा है? जानिए इसकी वजह और उपाय

क्या आपको भी लगता है बच्चे का पेट नहीं भरा है? जानिए इसकी वजह और उपाय

 दांत निकलने पर भी बच्चा भूखा हो सकता है.  image canva

दांत निकलने पर भी बच्चा भूखा हो सकता है. image canva

कई बच्चे ऐसे होते हैं, जिन्हें बार-बार भूख लगती है. कभी-कभी पैरेंट्स इस बात से संतुष्ट होते हैं कि बच्चे को खाना खिलाने ...अधिक पढ़ें

Baby Feeling Hungry -छोटे बच्चों के रूटीन में जो बातें शामिल रहती हैं, वो है खाना-पीना और खेलने-कूदने जैसी आदतें. बच्चा खाए, खेले और खुश रहे यह हर पैरेंट्स की चाहत होती है. बच्चे खाना ठीक से खाए, तो माता-पिता की बड़ी चिंता कम हो जाती है. इससे उलट अगर बच्चा सारा दिन भूखा महसूस करें और थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ खाने की इच्छा दिखाए, तो कई बार पैरेंट्स इसे कोई समस्या समझकर परेशान होते हैं. 

 हेल्थलाइन के मुताबिक असल में यह कोई बीमारी नहीं है, बल्कि इसके पीछे कई सामान्य वजहें हो सकती हैं. बच्चे के बड़े होने के साथ-साथ उन्हें पहले से ज़्यादा भूख लगना स्वाभाविक है, क्योंकि शरीर के विकास के लिए बच्चे के शरीर में पोषण की ज़रूरत भी लगातार बढ़ती है.  अगर यह भूख ज़रूरत से ज़्यादा लगने लगती है, तो पैरेंट्स इसकी वजह पर ज़रूर गौर करें.

इसे भी पढ़ें: चिप्स और बर्गर बच्चों की सेहत को कैसे पहुंचा रहे हैं नुकसान, जानिए

दांत निकलते समय
अगर बच्चे  के नए दांत निकलना शुरू हो रहे हैं तो चबाने से सूजे और अकड़े हुए मसूड़ों में मदद मिलती है. चूसने से बच्चे को मसूड़ों में आराम मिलता है, इसलिए वह हर वक्त किसी न किसी चीज को चबाने और चूसने की कोशिश करता है.

आराम पाने के लिए
कई बार बच्चे की शरारतों या उसके रोने के कारण यह समझ लिया जाता है कि वह भूखा है, लेकिन अक्सर इसकी वजह यही हो, ऐसा ज़रूरी नहीं है. कुछ बच्चे आराम पाने के लिए भी दूध पीना पसंद करते हैं. रिलैक्स महसूस करने के लिए वे भूख न होने पर भी ब्रेस्ट फीड करना पसंद करते हैं. कुछ बच्चों को ऐसा करने से सोने या आराम करने में आसानी होती है.

एंजाइटी
बच्चों में भी एंजाइटी की समस्या आम होती जा रही है. यह प्रॉब्लम बच्चों को ही नहीं बल्कि, बड़ों को भी एंग्जायटी की स्थिति में किसी चीज को जोर से चबाने में मजा आता है. इससे उन्हें शांत रहने में मदद मिलती है. अगर बच्चा लगातार कुछ चबाने या खाने की कोशिश करता है, तो ऐसी स्थिति में उसे आराम पहुंचाने के लिए मालिश की जा सकती है.

इसे भी पढ़ें: बच्चे में एनीमिया की समस्या को दूर करेगी किशमिश, इन फलों-सब्जियों से भी बढ़ेगा पोषण

एसिड रिफ्लक्स
कई बार एसिड रिफ्लक्स के कारण भी बच्चे को भूख महसूस होती है, लेकिन भूख महसूस कर रहे बच्चे को बार-बार दूध पिलाने से उनकी हालत और खराब हो सकती है. इस स्थिति से निपटने के लिए डॉक्टर से मिलकर उनकी सलाह के आधार पर आगे बढ़ना ही बेहतर माना जाता है.

Tags: Health, Lifestyle, Parenting tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें