होम /न्यूज /जीवन शैली /

World Hepatitis Day 2022: लिवर कैंसर समेत कई खतरनाक बीमारियों की वजह बनता है हेपेटाइटिस, ऐसे कर सकते हैं बचाव

World Hepatitis Day 2022: लिवर कैंसर समेत कई खतरनाक बीमारियों की वजह बनता है हेपेटाइटिस, ऐसे कर सकते हैं बचाव

हेपेटाइटिस की वजह से मौत भी हो सकती है.

हेपेटाइटिस की वजह से मौत भी हो सकती है.

हेपेटाइटिस लिवर से जुड़ा इंफेक्शन होता है, जिसकी वजह से कई गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. हर साल बड़ी संख्या में लोग इसकी वजह से जान गंवाते हैं. कुछ सावधानियां बरतकर इससे बचा जा सकता है.

हाइलाइट्स

हेपेटाइटिस B और C सबसे ज्यादा खतरनाक होते हैं. इनका सही समय पर इलाज जरूरी है.
एल्कोहल का ज्यादा सेवन करने की वजह से भी लिवर में हेपेटाइटिस इंफेक्शन हो सकता है.

Hepatitis Infection Prevention: हेपेटाइटिस के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 28 जुलाई को ‘वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे’ मनाया जाता है. हेपेटाइटिस इंफेक्शन की वजह से लिवर पर सूजन आ जाती है. कई मामलों में इस इंफेक्शन से लिवर कैंसर और अन्य गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) की रिपोर्ट के मुताबिक हर साल हेपेटाइटिस की वजह से करीब 11 लाख लोगों की मौत हो जाती है. सभी उम्र के लोग इस इंफेक्शन की चपेट में आ सकते हैं. आज एक्सपर्ट से जानेंगे कि हेपेटाइटिस कैसे फैलता है और इससे किस तरह बचाव किया जा सकता है.

क्या होता है हेपेटाइटिस इंफेक्शन?
नई दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल की प्रिवेंटिव हेल्थ एंंड वेलनेस डिपार्टमेंट की डायरेक्टर डॉ. सोनिया रावत के मुताबिक हेपेटाइटिस एक वायरल इंफेक्शन होता है, जिसकी वजह से लिवर पर सूजन आ जाती है. इसकी वजह से लिवर की फंक्शनिंग बुरी तरह प्रभावित होती है. हेपेटाइटिस कई तरह का होता है, लेकिन सबसे ज्यादा कॉमन हेपेटाइटिस A, हेपेटाइटिस B और हेपेटाइटिस C होता है. इसके अलावा एल्कोहल की वजह से भी लिवर में हेपेटाइटिस इंफेक्शन हो सकता है. तीनों ही कंडीशन में अगर व्यक्ति का इलाज न कराया जाए, तो लिवर फेलियर या लिवर कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं.

यह भी पढ़ेंः फिजिकल और मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होती है मॉर्निंग वॉक

हेपेटाइटिस A. B, C की प्रमुख वजह जान लीजिए
डॉ. सोनिया रावत के अनुसार हेपेटाइटिस A दूषित खाना और गंदे पानी की वजह से हो सकता है. यह अनहेल्दी खान-पान की वजह से होता है. हेपेटाइटिस B और हेपेटाइटिस C ब्लड ट्रांसफ्यूजन, नीडल इंजरी, बॉडी फ्लूड्स, अनप्रोटेक्टेड सेक्स की वजह से होता है. कई बार यह प्रेग्नेंसी में मां से बच्चे में पहुंच सकता है. एल्होकल के अत्यधिक सेवन से एल्कोहॉलिक हेपेटाइटिस हो सकता है. इसके अलावा भी कई तरह के हेपेटाइटिस होते हैं, जो वायरल इंफेक्शन की वजह से होते हैं. लंबे समय तक अगर क्रोनिक हेपेटाइटिस का इलाज न कराया जाए, तो लिवर की डाइजेस्टिव जूस प्रोड्यूस करने की क्षमता घट जाती है और कई बार लिवर फेलियर हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः क्या मलेरिया से बचने के लिए स्वस्थ लोगों के लिए भी दवा लेना जरूरी?

हेपेटाइटिस के प्रमुख लक्षण

  • आंखों में पीलापन आना
  • पेट में तेज दर्द होना
  • उल्टी या सूजन आना
  • अत्यधिक थकान होना
  • भूख न लगना
  • वजन कम हो जाना
  • ज्यादा मोटापा होना

हेपेटाइटिस से कैसे करें बचाव

  • बचाव के लिए वैक्सीन लगवाएं
  • हेल्दी डाइट का ध्यान रखें
  • एल्कोहल का सेवन न करें
  • ब्लड चढ़वाने से पहले स्क्रीनिंग करा लें
  • इंजेक्शन की नीडल शेयर न करें
  • असुरक्षित यौन संबंध न बनाएं
  • हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं
  • परेशानी होने पर डॉक्टर की सलाह लें

Tags: Health, Hepatitis C, Lifestyle, Trending news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर