World No Tobacco Day: तंबाकू छोड़ने की सोच रहे हैं तो निकोटीन थेरेपी है मददगार, जानें इसके बारे में

World No Tobacco Day: तंबाकू छोड़ने की सोच रहे हैं तो निकोटीन थेरेपी है मददगार, जानें इसके बारे में
बहुत से लोग ऐसे हैं जो तंबाकू छोड़ना चाहते हैं, लेकिन लत के कारण छोड़ नहीं पा रहे हैं.

दुनिया में हर साल लगभग 8 मिलियन यानी करीब 80 लाख लोगों की मौत (Death) तंबाकू उत्पादों के सेवन के कारण होती है. इसी को ध्यान में रखते हुए हर साल 31 मई को ‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’ (World No Tobacco Day) के रूप में मनाया जाता है.

  • Last Updated: May 31, 2020, 7:00 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
तंबाकू (Tobacco) उत्पादों को दुनियाभर में होने वाली मौतों के एक प्रमुख कारक के रूप में माना जाता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के आंकड़ों के अनुसार, दुनिया में हर साल लगभग 8 मिलियन यानी करीब 80 लाख लोगों की मौत (Death) तंबाकू उत्पादों के सेवन के कारण होती है. इसी को ध्यान में रखते हुए हर साल 31 मई को ‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’ (World No Tobacco Day) के रूप में मनाया जाता है. इसका उद्देश्य लोगों को तंबाकू सेवन के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक करना है, जिससे वह स्वयं को इस हानिकारक उत्पाद से दूर कर सकें. वैसे तो बहुत से लोग ऐसे हैं जो तंबाकू छोड़ना चाहते हैं, लेकिन लत के कारण छोड़ नहीं पा रह हैं. ऐसे लोगों के लिए ‘निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी’ सबसे प्रभावी उपाय हो सकता है. विशेषज्ञों का मानना है कि इस थेरेपी से तंबाकू छोड़ने में काफी आसानी होती है.

इस लेख में हम आपको निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी के बारे में विस्तार से बताएंगे.

निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी है क्या?



निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी तंबाकू उत्पादों को छोड़ने के सबसे आम उपायों में से एक है. इस थेरेपी के दौरान तंबाकू उत्पादों के विकल्प के रूप में शरीर को विभिन्न माध्यमों से निकोटीन की सीमित मात्रा दी जाती है जिससे तंबाकू उत्पादों को छोड़ने में आसानी हो. इस थेरेपी के दौरान निम्न तरीकों को प्रयोग में लाया जाता है.




  • निकोटीन पैच : निकोटीन पैच को त्वचा पर लगाना होता है. इसके माध्यम से शरीर में नियत मात्रा में निकोटीन पहुंचता है. अपनी जरूरत के अनुसार आप 16 घंटे (कम धूम्रपान करने वालों के लिए) या 24 घंटे वाले पैच का उपयोग कर सकते हैं.

  • लॉजेंज्स : यह रिफ्रेसिंग क्यूब की तरह होता है जो मुंह में रखते ही घुल जाता है. घुलने के साथ ही इससे एक नियत मात्रा में निकोटीन निकलती है.

  • चुइंगम : यह सामान्य चुइंगम की तरह ही होता है जिसे चबाने पर उसमें से निकोटीन निकलता है. जब आपको तंबाकू या धूम्रपान की तलब लगे तो आप इसे चबा सकते हैं. विशेषज्ञों को कहना है कि जब आप निकोटीन चुइंगम चबा रहे हों, उस दौरान या उससे 15 मिनट पहले कोई भी एसिडिक ड्रिंक जैसे कॉफी, बीयर, सोडा आदि न लें.

  • टेबलेट : निकोटीन की टेबलेटों को जीभ के नीचे रखना होता है जो धीरे-धीरे मुंह में घुलकर एक नियत मात्रा में निकोटीन शरीर को प्रदान करती हैं.


यहां ध्यान देने की जरूरत है कि निकोटीन थेरेपी के उपरोक्त सभी विकल्प अलग-अलग स्ट्रेंथ के होते हैं. इनमें से किसी के भी सेवन से पहले अपनी जरूरत के हिसाब से डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें. लॉजेंज्स और चुइंगम को सबसे बेहतर विकल्पों के रूप में माना जाता है.

प्रिस्क्रिप्शन आधारित विकल्प

  • इन्हेलर : इन्हेलरों में एक काट्रेज होता है, जिसके माध्यम से मुखनली में निकोटीन की सीमित मात्रा पहुंचती है.

  • नेजल स्प्रे : ये एक प्रकार का पंप बॉटल होता है जिसे नाक में स्प्रे करने से निकोटीन की एक संतुलित मात्रा मिल जाती है.


निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी की जरूरत क्यों?

निकोटीन तम्बाकू में मौजूद मुख्य सक्रिय यौगिक है, जिसके कारण व्यक्ति तम्बाकू का आदी हो जाता है. जब कोई व्यक्ति तंबाकू या धूम्रपान लेता है, तो निकोटीन तेजी से संचार प्रणाली के माध्यम से मस्तिष्क तक पहुंचता है और डोपामाइन, ग्लूटामेट और गाबा सहित विभिन्न न्यूरोट्रांसमीटर रिलीज करता है. डोपामाइन वह हार्मोन है जो आपको अच्छा महसूस कराती है. ग्लूटामेट, डोपामाइन और गाबा हार्मोन रिलीज करने को प्ररित करता है.

अगर आप नियमित रूप से तंबाकू उत्पादों का सेवन करते हैं तो यह आपके सप्रिशन फंक्शन को असंवेदनशील बना देता है, जिससे शरीर में निकोटीन का प्रभाव बहुत अधिक बढ़ जाता है. यही कारण है कि जब आप निकोटीन लेना बंद कर देते हैं तो आपको बहुत अधिक तलब होती है. बिना किसी दुष्प्रभाव के इस तलब को दूर करने के लिए निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी को प्रयोग में लाया जाता है.

यहां आपको ध्यान देने की जरूरत है कि निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी मात्र से आप तंबाकू उत्पादों से बिल्कुल दूर नहीं हो जाते हैं. तंबाकू उत्पादों के छोड़ने के बाद आपको अलग सी उलझन महसूस होती है, इस तरह के मनोवैज्ञानिक प्रभावों से निपटने के लिए आपको एक माइंडसेट बनाना होता है. इसके लिए आप वर्क आउट, रिलेक्सेशन तकनीक का प्रयोग कर सकते हैं. तंबाकू छोड़ने के लिए विभिन्न प्रकार की थेरेपी के साथ दृढ़ निश्चय का होना बहुत आवश्यक होता है.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, निकोटीन का प्रभाव, लत और छुटकारा कैसे पाएं पढ़ें.

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

First published: May 31, 2020, 7:00 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading