World No Tobacco Day: जानें तम्बाकू उत्पादों को छोड़ने के बाद कैसे ठीक होता है शरीर

World No Tobacco Day: जानें तम्बाकू उत्पादों को छोड़ने के बाद कैसे ठीक होता है शरीर
डॉक्टरों का मानना ​​है कि धूम्रपान छोड़ने के तुरंत बाद से ही शरीर सामान्य अवस्था में वापस आना शुरू कर देता है.

भारत (India) में लगभग 28 मिलियन यानी करीब 2.8 करोड़ लोग तम्बाकू (Tobacco) के विभिन्न उत्पादों (चबाने और धूम्रपान दोनों) का सेवन करते हैं. सरकार विभिन्न माध्यमों से लगातार लोगों से तम्बाकू छोड़ने की अपील करती रही है.

  • Last Updated: May 31, 2020, 10:32 AM IST
  • Share this:
तंबाकू (Tobacco) के सेवन को रोकने और इसके दुष्प्रभावों के बारे में लोगों को जागरूक (Aware) करने के लिए हर साल 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) के रूप में मनाया जाता है. दुनियाभर में तम्बाकू के उत्पादों का बहुतायत में प्रयोग किया जा रहा है. वर्ष 2017 में ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे के अनुसार, भारत में लगभग 28 मिलियन यानी करीब 2.8 करोड़ लोग तम्बाकू के विभिन्न उत्पादों (चबाने और धूम्रपान दोनों) का सेवन करते हैं. सरकार विभिन्न माध्यमों से लगातार लोगों से तम्बाकू छोड़ने की अपील करती रही है. इसी क्रम में साल 2015 में भारत सरकार ने ‘बी हेल्दी-बी मोबाइल’ नाम से एक पहल की. इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन और अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ की साझेदारी में शुरू किया गया.

इस पहल के तहत लोगों के मोबाइल पर संदेश भेजकर उन्हें तम्बाकू के सेवन से परहेज के बारे में जागरूक किया जाता है. लोगों को तम्बाकू छोड़ने के फायदों के बारे में बताया जाता है. डॉक्टरों का मानना ​​है कि धूम्रपान छोड़ने के तुरंत बाद से ही शरीर सामान्य अवस्था में वापस आना शुरू कर देता है. धूम्रपान से प्रभावित हिस्से धीरे-धीरे सही होने शुरू हो जाते हैं. इतना ही नहीं अगर आप छोड़ने के बाद 10 से 15 साल तक तम्बाकू का बिल्कुल भी सेवन न करें तो धूम्रपान से होने वाली फेफड़ों की सभी बीमारियों का जोखिम भी बहुत कम रह जाता है.

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि तम्बाकू छोड़ने के बाद शरीर में किस प्रकार से परिवर्तन आना शुरू होता है, साथ ही इसके क्या-क्या लाभ हो सकते हैं?



धूम्रपान छोड़ने के लाभ



विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक धूम्रपान छोड़ने के तुरंत बाद से ही शरीर पर इसका सकारात्मक प्रभाव दिखाई देने लगता है. धूम्रपान छोड़ने से आपको शॉर्ट टर्म और लॉग टर्म दोनों प्रकार के लाभ मिल सकते हैं. धूम्रपान छोड़ने के बाद शरीर में आने वाले परिवर्तन निम्नलिखित हैं.

  • धूम्रपान छोड़ने के 20 मिनट के भीतर ही हृदय गति और ब्लड प्रेशर सामान्य होना शुरू हो जाता है.

  • धूम्रपान के कारण खून में मौजूद कार्बन मोनोऑक्साइड गैस का स्तर, धूम्रपान छोड़ने के 12 घंटे बाद से ही कम होना शुरू हो जाता है.

  • धूम्रपान छोड़ने के 2-12 सप्ताह के भीतर शरीर में खून का संचार और फेफड़ों की कार्यक्षमता बेहतर होने लगती है. 12 सप्ताह के भीतर, हृदय और फेफड़ों को उचित मात्रा में ऑक्सीजन मिलना शुरू हो जाती है जो उनके सही से कार्य के लिए आवश्यक होती है.

  • धूम्रपान छोड़ने के 1-9 महीनों के भीतर खांसी और सांस की तकलीफ कम होती है.

  • जब आप पूरे साल के लिए धूम्रपान छोड़ देते हैं, तो धूम्रपान करने की तुलना में हृदय रोग होने का खतरा आधा हो जाता है.

  • धूम्रपान छोड़ने से 5 साल के बाद स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है.

  • धूम्रपान छोड़ने के 10 साल बाद, मुंह, गले, ग्रासनली, फेफड़े, मूत्राशय और अग्न्याशय के कैंसर का खतरा आधे से कम हो जाता है.

  • धूम्रपान छोड़ने के लगभग 15 साल बाद हृदय संबंधी रोगों का जोखिम बहुत ही कम होता है.


धूम्रपान कैसे छोड़ें : तरीका

उपरोक्त बिंदुओं में आपने धूम्रपान और तम्बाकू के विभिन्न उत्पादों के छोड़ने के फायदे के बारे में जान लिया. लेकिन अब सवाल यह उठता है कि आप इस लत को छोड़ें कैसे? धूम्रपान छोड़ने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को सबसे पहले मानसिक रूप से तैयार होने की जरूरत होती है. उसे तय करना होता है कि अब वह कभी धूम्रपान नहीं करेगा. कुछ लोग आसानी से इस लत को छोड़ नहीं पाते हैं. ऐसे लोगों को निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी की आवश्यकता होती है. इस थेरेपी में लोगों को निकोटीन पैच, इनहेलर आदि दिए जाते हैं, जो तम्बाकू की विषाक्तता के बिना शरीर में निकोटिन की एक सीमित मात्रा पहुंचाते हैं. कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि योग और एक्यूपंक्चर जैसे उपायों को अपनाकर भी लोग इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, तम्बाकू और गुटखा खाना कैसे छोड़ें पढ़ें.


न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading