लाइव टीवी

वैज्ञानिकों ने बनाईं एचआईवी-प्रतिरोधी कोशिकाएं

आईएएनएस
Updated: February 26, 2015, 6:11 PM IST
वैज्ञानिकों ने बनाईं एचआईवी-प्रतिरोधी कोशिकाएं
बिना एंटी-रिट्रोवायरल दवाओं के इस्तेमाल से एचआईवी वायरस को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

बिना एंटी-रिट्रोवायरल दवाओं के इस्तेमाल से एचआईवी वायरस को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

  • Share this:
लास एंजेलिस। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एचआईवी-प्रतिरोधी कोशिकाएं बनाई हैं। इन कोशिकाओं से बिना एंटी-रिट्रोवायरल दवाओं के इस्तेमाल से एचआईवी वायरस को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। शोधकर्ताओं के दल की प्रवक्ता मेगान लिविट ने बताया कि सदर्न कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय के 'कैक स्कूल ऑफ मेडीसिन' के वैज्ञानिकों ने प्रयोग के लिए चूहे की कोशिकाओं का इस्तेमाल किया था।
शोधकर्ताओं ने रक्त की स्तंभ कोशिकाओं को एचआईवी प्रतिरोधक बनाने के लिए उनमें बदलाव किया था और इसके बाद इन कोशिकाओं को चूहों में प्रतिरोपित किया गया। चूहों में एचआईवी संक्रमण रोकने के लिए ऐसा किया गया। लिविट कहती हैं कि यदि इस प्रक्रिया को मानव में अपनाया जाए तो उनमें एचआईवी प्रतिरोधी कोशिकाएं बनने में लंबा समय लगेगा और ये कोशिकाएं बनने के बाद मरीज की कोशिकाएं एचआईवी वायरस को निष्क्रिय अवस्था में ला देंगी।
शोधकर्ता पाउला कैनन का कहना है कि यह संकर जीन और स्तंभ कोशिका प्रक्रिया बताती है कि एचआईवी-रोधी प्रतिरोधक कोशिकाएं बनाना संभव है और एचआईवी के खिलाफ लड़ाई जीती जा सकती है। उन्होंने कहा कि अभी यह प्रयोग चूहों पर किया गया है और अब यह देखना है कि मानव में यह प्रयोग कितना सफल रहता है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2010, 9:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर