Hindi Diwas 2019: हिंदी को लेकर ये थे इन महान लोगों के विचार

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 10:21 AM IST
Hindi Diwas 2019: हिंदी को लेकर ये थे इन महान लोगों के विचार
14 सितंबर 1949 को संविधान सभा (Constituent Assembly) में एकमत के साथ हिन्दी (Hindi) को राजभाषा घोषित कर दिया गया. इसके बाद हर साल इसी दिन को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

14 सितंबर 1949 को संविधान सभा (Constituent Assembly) में एकमत के साथ हिन्दी (Hindi) को राजभाषा घोषित कर दिया गया. इसके बाद हर साल इसी दिन को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2019, 10:21 AM IST
  • Share this:
अंग्रेजी भाषा के बढ़ते चलन और हिंदी की अनदेखी को रोकने के लिए हर साल 14 सितंबर को देशभर में हिंदी दिवस मनाया जाता है. आजादी मिलने के दो साल बाद 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में एक मत से हिंदी को राष्ट्रभाषा घोषित किया गया था और इसके बाद से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. 1947 में जब देश अंग्रेजों की हुकूमत से आजाद हुआ था तो देश के सामने राष्ट्रभाषा को लेकर एक अहम सवाल खड़ा था.

सवाल यह था कि भारत की राष्ट्रभाषा कौन सी होगी. संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिंदी को राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया. हिंदी की खास बात यह है कि इसमें जिस शब्द को जिस प्रकार से उच्चारित किया जाता है, उसे लिपि में लिखा भी ठीक उसी प्रकार जाता है. 14 सितंबर, 1949 के दिन हिंदी को राजभाषा का दर्जा मिला. आपको बता दें कि आज देश के 77% लोग हिंदी लिखते, पढ़ते, बोलते और समझते हैं. आइए तस्वीरों के माध्यम से देखते हैं कि देश के महापुरुषों ने हिंदी को अपने शब्दों में कैसे सम्मानित किया है.










Loading...



News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 6:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...