Home /News /lifestyle /

महिलाओं के कार्डियक फंक्शन को ज्यादा प्रभावित करता है HIV, मरीजों में हार्ट फेलियर का रिस्क ज्यादा - स्टडी

महिलाओं के कार्डियक फंक्शन को ज्यादा प्रभावित करता है HIV, मरीजों में हार्ट फेलियर का रिस्क ज्यादा - स्टडी

स्टडी के नतीजे इशारा करते हैं कि HIV पुरुषों की तुलना में महिलाओं के कार्डियक फंक्शन को ज्यादा प्रभावित करता है. (फोटो-Shutterstock.com)

स्टडी के नतीजे इशारा करते हैं कि HIV पुरुषों की तुलना में महिलाओं के कार्डियक फंक्शन को ज्यादा प्रभावित करता है. (फोटो-Shutterstock.com)

HIV Patients at Higher Risk of Heart Failure : सामान्य लोगों के मुकाबले एचआईवी पीड़ितों को हृदय गति रुकने (Heart Failure) का खतरा ज्यादा होता है. मेयो क्लिनिक प्रोसिडिंग्स (Mayo Clinic Proceedings) में प्रकाशित यह स्टडी अपनी तरह के विस्तृत स्टडीज में शुमार है. अमेरिका स्थित कैसर परमानेंट डिवीजन ऑफ रिसर्च (Kaiser Permanente division of research) में एचआईवी महामारी विशेषज्ञ (HIV epidemiologist) और इस स्टडी के सीनियर राइटर माइकल जे सिल्वरबर्ग (Michael J. Silverberg) ने कहा, 'नई स्टडी में हमने एचआईवी मरीजों के दिल पर पड़ने वाले प्रभावों से लेकर उसकी गति रुकने तक के पहलुओं को शामिल किया.'

अधिक पढ़ें ...

    HIV Patients at Higher Risk of Heart Failure : साइंटिस्टों ने हाल ही में एचआईवी मरीजों (HIV patients) की हृदय गति रुकने यानी हार्ट फेलियर (heart failure) के खतरे, और उम्र लिंग और समुदाय विशेष की वजह से पड़ने वाले अंतर का पता लगयाा है. इस स्टडी में पाया गया है कि सामान्य लोगों के मुकाबले एचआईवी पीड़ितों को हृदय गति रुकने (Heart Failure) का खतरा ज्यादा होता है. मेयो क्लिनिक प्रोसिडिंग्स (Mayo Clinic Proceedings) में प्रकाशित यह स्टडी अपनी तरह के विस्तृत स्टडीज में शुमार है. अमेरिका स्थित कैसर परमानेंट डिवीजन ऑफ रिसर्च (Kaiser Permanente division of research) में एचआईवी महामारी विशेषज्ञ (HIV epidemiologist) और इस स्टडी के सीनियर राइटर माइकल जे सिल्वरबर्ग (Michael J. Silverberg) ने कहा, ‘नई स्टडी में हमने एचआईवी मरीजों के दिल पर पड़ने वाले प्रभावों से लेकर उसकी गति रुकने तक के पहलुओं को शामिल किया.’

    सिल्वरबर्ग और उनके सहयोगियों ने एचआईवी के 38 हजार 868 मरीजों को इस स्टडी में शामिल किया. ये साल 2000 से साल 2016 तक कैसर परमानेंट (Kaiser Permanente) के सदस्य रहे और कैलिफोर्निया, साउथ कैलिफोर्निया और मध्य अटलांटिक स्टेट्स (mid atlantic states) के रहने वाले थे.

    स्टडी में क्या निकला
    इस स्टडी में पाया गया कि सामान्य के मुकाबले एचआईवी (HIV) पीड़ितों को हृदय गति रुकने यानी हार्ट फेलियर (heart failure) का खतरा 68 प्रतिशत ज्यादा था. वहीं 40 साल से कम उम्र वाली महिला और एशियाई या प्रशांत द्वीपीय (Pacific Island) लोगों के लिए यह रिस्क और भी ज्यादा हो सकता है.

    यह भी पढ़ें-
    Parkinson’s Disease: अब नौजवानों को भी अपनी गिरफ्त में ले रहा है ‘पार्किंसन’, जानें क्‍या है वजह?

    रिसर्चर्स के मुताबिक, प्रारंभिक आंकड़े इस बात की ओर इशारा करते हैं कि एचआईवी पुरुषों की तुलना में महिलाओं के कार्डियक फंक्शन (cardiac function) को ज्यादा प्रभावित करता है. ऐसा संभवत: हार्मोन रेगुलेशन से होता है

    हाइड्रोजन सल्फाइड से होगा HIV मरीजों का का इलाज
    एक अन्य खबर के अनुसार, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IIsc), बेंगलुरु के शोधकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक ईजाद करने का दावा किया है जिसकी मदद से अब एचआईवी (HIV) मरीजों का इलाज हाइड्रोजन सल्फाइड गैस की मदद से किया जाएगा.

    यह भी पढ़ें-
    आर्टिफिशियल फूड कलर बन रहा है बच्चों में गुस्से की वजह- रिपोर्ट

    हाइड्रोजन सल्फाइड शरीर में एचआईवी के वायरस को वृद्धि करने से रोक देगा. हाइड्रोजन सल्फाइड सीधे वायरस पर हमला करेगा जिसके कारण वायरस मल्टीप्लाई नहीं हो पाएगा. इस खोज के बाद वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि हाइड्रोजन सल्फाइड के माध्यम से ऐसी एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी (ART) विकसित हो सकेगी जो एचआईवी के खिलाफ प्रभावी भूमिका निभाएगी.

    Tags: Health, Health News, HIV

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर