Home /News /lifestyle /

विंटर में बच्चा करता है बिस्तर गीला? तो इन आसान तरीकों से सुधारें उसकी ये आदत

विंटर में बच्चा करता है बिस्तर गीला? तो इन आसान तरीकों से सुधारें उसकी ये आदत

कई बार इमोशनल और मेंटल स्‍ट्रेस के कारण बच्चे बिस्‍तर गीला कर देते हैं Image : shutterstock

कई बार इमोशनल और मेंटल स्‍ट्रेस के कारण बच्चे बिस्‍तर गीला कर देते हैं Image : shutterstock

Home Remedies For Bedwetting Child : बच्चों का बिस्तर गीला (Bedwetting) करना एक आम परेशानी है जो विंटर (Winter) के मौसम में और अधिक बढ़ जाती है. कई बार अपनी इस आदत की वजह से बच्‍चे अपने माता-पिता से डांट भी खाते हैं और उनका आत्‍मविश्‍वास भी डगमगाने लगता है. ऐसे में मेडिकल ट्रीटमेंट की बजाय अगर आप कुछ होम रेमेडीज़ (Home Remedies) को ट्राई करें तो आपकी परेशानी एक दिन में भी समाप्‍त हो सकती है. कई बार बिस्‍तर गीला करने की वजह (Causes) शाम के बाद अत्‍यधिक लिक्विड चीजों के सेवन, मूत्राशय के पूरी तरह विकसित ना हो पाने, मीठी चीजों का अधिक सेवन, डायबिटीज जैसी समस्‍या के कारण भी होता है.

अधिक पढ़ें ...

    Home Remedies For Bedwetting Child: कई बार यह देखने को मिलता है बच्‍चे (Child) थोड़े बड़े हो जाते हैं लेकिन फिर भी वह बिस्‍तर गीला (Bedwetting) कर देते हैं. बिस्‍तर गीला करने की समस्‍या कई बार इमोशनल और मेंटल स्‍ट्रेस का कारण (Causes) भी हो सकता है. कई बार इसकी वजह फैमिली हिस्‍ट्री भी होती है और कई बार मेडिकल कारणों से बच्‍चे मूत्राशय में पेशाब को नहीं रोक पाते हैं.

    यहां हम आपको कुछ ऐसे आसान घरेलू उपाय (Home Remedies) बता रहे हैं जिसे अपनाकर आप बच्‍चों की बिस्तर गीला करने की परेशानी (Bedwetting Problem) को दूर कर सकते हैं. तो आइए पहले जानते हैं कि आखिर ये समस्‍या क्‍यों होती है.

    बिस्‍तर गीला करने की वजह ((Bedwetting Reason)

    – बार-बार डांटने से बच्‍चों के दिमाग में स्‍ट्रेस (Stress) हो जाता है और नींद में घबराकर वे बिस्तर गीला करते हैं.

    – कई बार फैमिली हिस्ट्री (Family History) भी वजह हो सकती है.

    – यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन होने पर बच्चे बिस्तर गीला करते हैं.

    – बच्चों में हार्मोनल इम्बैलेंस (Hormonal imbanlance) होना.

    – शाम के बाद ज्यादा पानी या लिक्विड पीना.

    बिस्‍तर गीला करने के घरेलू उपाय ((Bedwetting Home Remedies)

    1. गुड़ खिलाएं

    शरीर में गर्माहट रहने पर रात को सोते समय बच्‍चा पेशाब नहीं करता है. ऐसे में बच्‍चे के आहार में गुड़ (Jaggery) को शामिल करने से उनका शरीर गर्म रहता है और बच्‍चे का इस समस्‍या से आराम मिलता है. इसके लिए आप एक चम्‍मच गुड़ को एक गिलास गुनगुने दूध के साथ मिलाकर बच्‍चे को पिलाएं.

    इसे भी पढ़ें : विंटर में नन्‍हें बच्चों को खास देखभाल की पड़ती है जरूरत, इन ज़रूरी बातों का रखें ख्‍याल

     

    2. आंवला दें

    विटामिन सी और एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर आंवला बच्‍चों को इंफेक्‍शन से बचाने के साथ-साथ पाचन को बढ़ावा देते हैं और कब्‍ज से बचाता है. यह मूत्राशय या आंतों में इंफेक्‍शन से बचाव के लिए फायदेमंद है जिससे सोते समय अचानक पेशाब निकलने की दिक्‍कत से राहत मिलती है.आप एक चम्‍मच आंवला पाउडर को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाएं और रोज बच्‍चे को पिलाएं.

    3. एप्‍पल साइडर विनेगर

    अगर आप रोज बच्‍चे को एप्‍पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar)  एक ग्‍लास पानी में मिलाकर पिलाएं तो बच्‍चों का बिस्‍तर गीला करना खत्‍म हो जाएगा. इससे इम्‍यूनिटी भी बढ़ती है और सर्दी-जुकाम से बचाव होता है.

    4. ऑलिव ऑयल

    विटामिन ए और ओमेगा एसिडों से युक्‍त ऑलिव ऑयल (Olive oil) बच्‍चों के मस्तिष्‍क के विकास में तो उपयोगी है ही, यह बच्‍चों में बिस्‍तर गीला करने की शिकायत को भी दूर करता है. इसके लिए आप थोड़ा-सा ऑलिव ऑयल लें और उसे हल्‍का गर्म कर के सर्कुलर मोशन यानि गोल-गोल बच्‍चे के पेट पर लगाते हुए मालिश करें. कुछ ही दिनों में फर्क दिखने लगेगा.

    इसे भी पढ़ेंः पैरेंटिंग में बढ़ी पिता की भागीदारी, अब बच्चों के साथ मजबूत बॉन्डिंग चाहते हैं फादर

    5. सोने से पहले पेशाब जरूर कराएं

    जब भी बच्‍चे सोने जाएं तो उसे रात में सोने से पहले बाथरूम जाकर पेशाब करने की आदत दिलाएं. यही नहीं, आप रात में दोबारा उसे उठाकर टॉयलेट कराएं. ऐसा करने से बिस्‍तर गीला नहीं होगा.

    6. स्‍ट्रेस न दें

    कई बार मां-पिता बच्चों को हर बात पर बहुत डांटते या गुस्सा करते हैं. इसके बजाय आप उसे प्यार से समझाएं. जिस दिन वो बिस्तर पर पेशाब न करे, उसे गिफ्ट दें. इससे उन्हें स्ट्रेस नहीं होगा और बच्‍चा स्‍ट्रेस फ्री रहेगा.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Baby Care, Home Remedies, Lifestyle, Parenting tips

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर