अकेले हैं तो क्या ग़म है बस हम ही हम हैं,जाने चार संकेत जो बताते हैं कि आप अकेले ही खुश हैं

सिंगल लोग किसी के प्रति जवाबदेह हुए बगैर खुद को आजाद महसूस करते हैं Image Credit : Pixabay

Happiness of Singlehood: कौन कहता है कि सिंगलहुड (Singlehood) अकेले और दुखी होने का नाम है ? आप अपने अकेलेपन के एक-एक पल का आनंद ले सकते हैं.

  • Share this:
    Happiness of Singlehood:  सोसाइटी ने हमारा इस तरह से ब्रेनवॉश किया है कि हमें यकीन हो चला है कि सिंगल होना (Singlehood) या रहना बुरी बात है.जैसे ही आप किसी को बताते हैं कि आप अनमैरिड या डिवोर्सी है और अपने में ही खुश हैं तो उसी पल लोगों की नजरें आपकी इस खुशी को शक की नजरों से देखने और आश्चर्य करने लगती हैं कि आपके साथ क्या गलत है, यकीन मानिए कभी-कभी अकेला होना थेरप्यूटिक (Therapeutic ) यानी उपचारात्मक होता है. लोग अकेले होकर भी खुश रह सकते हैं.आपके लिए यह भी जरूरी नहीं है कि आप सिंगल हैं और केवल किसी का साथ चाहने के लिए आप एक रिश्ते से दूसरे में कूदें. अगर आप अकेले रहने पर भी अपनी जिंदगी में खुश हैं. आपको लगता है कि आप अभी किसी रिश्ते के लिए तैयार नहीं हैं तो सिंगल रहना बेहतर हैं. आज हम आज आपको कुछ ऐसे ही संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं.

    अपनी शर्तों का जीवनः

    आपको अपने सभी काम खुद ही अकेले करना पसंद है और आप किसी के लिए भी जवाबदेह नहीं होना चाहते हैं.आप आत्मनिर्भर हैं, स्वतंत्र हैं और आखिरकार अपनी शर्तों पर जीवन जीने में सक्षम हैं.

    ये भी पढे़ं : ये 5 संकेत जो बताएंगे सच्चे और झूठे दोस्तों में अंतर, नहीं मिलेगा धोखा  

    लक्ष्यों पर फोकस करने का वक्तः 

    आप अपनी पूरी एनर्जी व्यक्तिगत (Personal) और व्यावसायिक (Professional) लक्ष्यों (Goals) को पूरा करने की तरफ लगा रहे हैं. आप खुद का ही बेहतरीन एडिशन बनने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और एक शानदार जीवन जी रहे हैं.

    खुद को जानना- समझनाः  

    आप हर दिन अपने बारे में कुछ नया सीख रहे हैं.आप आखिरकार अपने में ही खुश हैं अपनी ही खुद की कंपनी या साथ आपके लिए काफी हैं और लोगों के साथ होने के दौरान आप अकेले रहने के लिए तरस रहे होते हैं.

    ये भी पढ़ेंःअकेलेपन से बचने के लिए हर उम्र में दोस्‍त होने हैं जरूरी, इस तरह बनाएं नए दोस्‍त


    आजादी का फायदाः  

    आप अपने अकेलेपन की लग्जरी का बेहतरीन फायदा उठा रहे हैं. आप जो भी करना चाहते हैं, जिससे भी मिलना चाहते हैं बगैर किसी के प्रति जवाबदेह हुए आप यह सब करने के लिए खुद को आजाद महसूस करते हैं. आप खुश हैं कि इसमें आपको किसी की सलाह, किसी की रजामंदी, नाराजगी,फिलिंग्स और प्लान को ध्यान में नहीं रखना पड़ रहा है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:user_2167
    First published: