#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करना सुरक्षित है?

प्रतीकात्‍मक चित्र
प्रतीकात्‍मक चित्र

पीरियड्स के समय सेक्‍स करने में कोई दिक्‍कत नहीं है, लेकिन प्रोटेक्‍शन का इस्‍तेमाल बहुत जरूरी है

  • Last Updated: August 30, 2018, 2:53 PM IST
  • Share this:
प्रश्‍न : पीरियड्स के दौरान सेक्‍स करना कितना सुरक्षित है? क्‍या उस दौरान सेक्‍सुअली एक्टिव होने पर कोई बीमारी या इंफेक्‍शन होने का डर रहता है?

#सेक्‍सोलॉजिस्‍टडॉ. पारस शाह

उत्‍तर : पीरियड्स के समय सेक्‍स करने में कोई दिक्‍कत नहीं है, लेकिन प्रोटेक्‍शन का इस्‍तेमाल बहुत जरूरी है. महिलाओं के पीरियड्स के समय होने वाले रक्‍तस्राव में बैक्‍टीरिया पनपने की आशंका ज्‍यादा होती है. अगर उस दौरान बिना किसी सुरक्षा या कंडोम के यौन संबंध बनाया जाए तो पुरुष को भी इंफेक्‍शन होने की आशंका बढ़ जाती है. प्राचीन आयुर्वेद में भी यह लिखा गया है कि मासिक रक्‍सस्राव के समय यौन संबंधों से दूरी बनाकर रखी जाए.



यदि आपको तो पीरियड्स के समय असुरक्षित संबंध बनाने के कारण लिंग में कोई इंफेक्‍शन हो गया है तो आप बिलकुल भी समय बर्बाद किए बगैर तुरंत किसी अच्‍छे डॉक्‍टर से संपर्क करें और अपना इलाज करवाएं. डॉक्‍टरी सलाह के बगैर अपने मन से अपना इलाज करने की कोशिश न करें. और हां, किसी भी प्रकार की चिंता या परेशानी को अपने दिमाग से निकाल दें. यह कोई बड़ी समस्‍या नहीं है. कोई मामूली इंफेक्‍शन हो सकता है, जो दवाइयों के सेवन से ठीक हो जाएगा.
सेक्‍स के मामले में तो यह बात पूरी तरह लागू होती है कि हम जो चाहें, कर सकते हैं, बस सावधानी और सुरक्षा बहुत जरूरी है. अब वक्‍त बदल रहा है. विज्ञान ने काफी प्रगति कर ली है, इसलिए इस बात का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है कि संबंध बिलकुल नहीं बनाने चाहिए. पीरियड्स के समय यौन संबंध बनाने में कोई नुकसान नहीं है, लेकिन चूंकि उस दौरान इंफेक्‍शन का डर ज्‍यादा होता है, इसलिए कंडोम का इस्‍तेमाल जरूरी है.

अगर सुरक्षा का पूरा ख्‍याल रखा जाए तो पीरियड्स के दौरान सेक्‍स से कोई नुकसान नहीं है, बल्कि कई महिलाओं के लिए पी‍रियड्स के समय सेक्‍स का अनुभव ज्‍यादा आनंददायक होता है. पीरियड्स एक तरह से नैचुरल लुब्रीकेंट का काम करते हैं और महिला को खासतौर पर ज्‍यादा आनंद का अनुभव होता है.

इसलिए पीरियड्स के समय सेक्‍स करना या न करना, दो व्‍यक्तियों की मानसिक और शारीरिक इच्‍छा पर ही निर्भर है. इसे लेकर मन में किसी प्रकार का भ्रम पालने, चिंतित या परेशान होने की जरूरत नहीं है.

(डॉ. पारस शाह सानिध्‍य मल्‍टी स्‍पेशिएलिटी हॉस्पिटल, अहमदाबाद, गुजरात में चीफ कंसल्‍टेंट सेक्‍सोलॉजिस्‍ट हैं.)

अगर आपके मन में भी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप इस पते पर हमें ईमेल भेज सकते हैं. डॉ. शाह आपके सभी सवालों का जवाब देंगे.  
ईमेल – Ask.life@nw18.com
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज