कोरोना के मुश्किल वक्‍त में सोशल मीडिया बना मददगार, बढ़ रहे मदद को हाथ

सोशल मीडिया बन रहा सहारा. Image/Shutterstock

सोशल मीडिया बन रहा सहारा. Image/Shutterstock

कोरोना काल (Corona Era) में लोगों के लिए राहत का जरिया बनकर साथ खड़ा है सोशल मीडिया (Social Media). लोग मदद (Help) की गुहार लगा रहे हैं और दुख की इस घड़ी में उनकी ओर मदद के हाथ भी बढ़ रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 4:58 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस का संक्रमण (Coronavirus Infection) तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है. मरीजों (Patients) की बढ़ती संख्‍या से जहां स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा सी गई हैं, वहीं कोरोना के फैलते संक्रमण से डर का माहौल बना हुआ है. मगर ऐसी बदहाल स्थिति में भी लोगों ने आस नहीं छोड़ी है और वे डट कर इस भयावह स्थिति का सामना कर रहे हैं. ऐसे में लोगों के लिए राहत का जरिया बना है सोशल मीडिया. सोशल मीडिया (Social Media) पर लोग मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन आदि की मदद मांग कर रहे हैं, वहीं ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है, जो दुख की इस घड़ी में खुल कर मदद कर रहे हैं. इस तरह की चीजें जहां राहत देती हैं, वहीं इससे यह भी साफ हो जाता है कि सोशल मीडिया मनोरंजन के अलावा भी काफी मददगार हो सकता है.

कोरोना के समय बड़ा मददगार

इस समय जब कोरोना वायरस के संक्रमण की दूसरी लहर ने लोगों को बेहाल कर रखा है और दिन ब दिन मरीजों की संख्‍या बढ़ती जा रही है, तब सोशल मीडिया के जरिये लोग मदद का हाथ बढ़ा रहे हैं. सोशल मीडिया के जरिये लोग रेमडेसिविर इंजेक्शन, दवाओं, ऑक्सीजन और बेड की व्‍यवस्‍था करके तो लोगों की मदद कर ही रहे हैं, वहीं ऐसी भी खबरें सामने आई हैं कि कुछ लोग खाना आदि सहूलियतें देकर भी मदद कर रहे हैं. हालांकि जब तब सोशल मीडिया के जरिये जाल में फंसा कर ठगी करने वाले लोगों की बातें भी सामने आई हैं और अक्‍सर फर्जी खबरों, अफवाहों के लिए भी कुछ लोग सोशल मीडिया का इस्‍तेमाल करते रहे हैं, मगर इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि कोरोना काल में सोशल मीडिया मदद मांगने वालों और करने वालों के बीच अहम माध्‍यम बना हुआ है.

Youtube Video

ये भी पढ़ें - कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम? निजी-प्रोफेशनल लाइफ में बिठाएं तालमेल

अकेलेपन का साथी बनकर है साथ

यह सही है कि कई स्‍टडी के जरिये कुछ गलत चीजों का प्रचार कुछ लोग करने से नहीं चूकते. सोशल मीडिया पर जहां नेगेटिव बातें सामने आती हैं, वहीं यहां कुछ पॉजिटिव बातें भी शेयर होती रहती हैं. ऐसे में इसकी अहमियत से इंकार नहीं किया जा सकता. अकेले जीवन गुजार रहे और घर से दूर परदेस में बसे लोगों के लिए सोशल मीडिया एक साथी की तरह है. अकेलेपन में सोशल मीडिया का इस्‍तेमाल मानसिक तौर पर काफी राहत देता है. लोग जब अकेले होते हैं तो अपनों से इसके जरिये जुड़ते हैं और अपना अकेलापन दूर करते हैं. वहीं बड़ी तादाद में बड़ी उम्र के लोग भी इस पर मौजूद हैं. जीवन संध्‍या के अकेलेपन में वे सोशल मीडिया पर समय बिता कर अपना अकेलापन दूर करते हैं.



अपनों से मिलाने में मददगार बना

ऐसी कई खबरें सामने आई हैं जब सालों से बिछड़े लोग अपनों से मिल पाए वह भी सोशल मीडिया के जरिये. कई बार सोशल मीडिया इस बात के लिए भी सुर्खियों में रहा कि इसके जरिये लोगों ने अपनों को खोज लिया. सहारनपुर की राधा कृष्ण कॉलोनी के रहने वाले मानसिक रूप से कमजोर एक युवक को सोशल मीडिया के माध्‍यम से ही उसके घर तक पहुंचाने में मदद मिली. और यह अकेला मामला नहीं है, ऐसी कई खबरें सुर्खियां बनती रही हैं. वहीं कई बार बचपन के कुछ दोस्‍त अचानक सोशल मीडिया के जरिये मिल जाते हैं और ऐसे में हमारी खुशी का ठिकाना नहीं रहता.

साहित्यिक गतिविधियों का माध्‍यम

बीते साल से कोरोना वायरस का संक्रमण फैला है और लोग एहतियात के तौर पर सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन कर रहे हैं. ऐसे में साहित्यिक गतिविधियां भी रुक गईं, मगर इनको एक बार फिर गति मिली सोशल मीडिया के माध्‍यम से. सोशल मीडिया के जरिये लोग ऑनलाइन मीटिंग, साहित्यिक वेबीनार करके सक्रिय हैं और इसके माध्‍यम से ऑनलाइन आकर अपनी लेखनी को साहित्‍य प्रेमियों तक पहुंचा रहे हैं.

ये भी पढ़ें - कोरोना महामारी में आपके अकेलेपन को मात देने में मददगार होंगे ये तरीके

समाज सेवा के लिए मिलती है प्रेरणा

बात जब मदद की आती है तो सोशल मीडिया इसमें आगे नजर आता है. कई कम्‍युनिटी और समाज सेवा से जुड़े लोग एक दूसरे से जुड़ कर लोगों की मदद कर करने और उन तक सहायता पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का ही सहारा ले रहे हैं. यहां तक कि लोग अपने पीड़ा को भी इसके जरिये व्‍यक्‍त करते हैं ताकि लोग उनकी मदद को आगे आएं. ऐसे में सोशल मीडिया पर आए दिन ऐसे वीडियो, मैसेज वायरल होते दिख जाते हैं. वहीं इस तरह की चीजें न सिर्फ सकारात्‍मक पहल के तौर पर नजर आती हैं, बल्कि अन्‍य लोगों को भी समाज सेवा के लिए प्रेरित करती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज