Home /News /lifestyle /

how to deal with stubborn kids follow these tips in hindi kee

यदि बच्चे हो गए हैं बेहद जिद्दी, तो माता-पिता अपनाएं ये टिप्स

जिद्दी बच्चों से कैसे डील करें? (image-shutterstock)

जिद्दी बच्चों से कैसे डील करें? (image-shutterstock)

बच्चों की हर बात मान कर पूरी करना माता-पिता के लिए उस वक्त भारी पड़ने लगता है, जब बच्चा हर छोटी-छोटी चीज़ों के लिए जिद करने लगे. यह बात तब और ज़्यादा शर्मिंदगी वाली होती है, जब बच्चा घर आए मेहमान के सामने या फिर कहीं बाहर भी अपनी जिद शुरू कर दे. ऐसे बच्चों को समझाने के लिए अपनाएं ये तरीके.

अधिक पढ़ें ...

Parenting Tips: हर माता-पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा संस्कारी हो, लेकिन माता-पिता के अधिक लाड प्यार के कारण बच्चे अक्सर जिद्दी हो जाया करते हैं, और जिद्दी बच्चों को संभालना खुद माता-पिता के लिए एक चुनौती बन जाती है. ऐसा नहीं है कि बच्चों के जिद्दी होने में सिर्फ उन्ही का दोष है. इसके लिए बच्चे के माता-पिता की मुख्य भूमिका रहती है. ऐसे में यदि बच्चा बहुत ज्यादा जिद करने लगे तो उसके इस जिद्दी स्वभाव के कारण हो सकता है कि भविष्य में उसे कोई बड़ा नुकसान झेलना पड़ जाए. यदि आपका बच्चा भी जिद्दी होता जा रहा है, तो यहां हम आपको बच्चे के साथ कैसे डील की जाए, इसके लिए कुछ आसान तरीके बता रहे हैं.

बच्चों की बातें सुने
अक्सर माता-पिता अपनी व्यस्त जीवनशैली के कारण बच्चों की बातें इग्नोर कर देते हैं, लेकिन ऐसा करने से बच्चा अपनी बात सुनाने के लिए जिद्द करने लगता है. धीरे-धीरे यह उसकी आदत में शुमार हो जाता है. इसीलिए जरूरी है कि आप अपने बच्चे की बात को अच्छे से सुने. बढ़ती उम्र के बच्चों के पास अपनी बात सुनाने के लिए माता-पिता के अलावा कोई भी नहीं होता. इसलिए वे अपनी बातें अपने माता-पिता के साथ शेयर करना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें – इन घरेलू नुस्ख़ों को अपनाकर दूर करें नाक पर जमे व्हाइट हेड्स की प्रॉब्लम

सही-गलत का फर्क समझाएं
बढ़ती उम्र के बच्चों को सही और गलत का कोई आभास नहीं होता है. ऐसे में जब बच्चे कोई गलती करते हैं तो माता-पिता उन्हें चिल्लाकर या डांट कर चुप करा देते हैं. ऐसा करने से बच्चे के अंदर एक रोष उत्पन्न हो जाता है. ऐसे में बच्चे को डांटने या मारने की बजाय उन्हें सही और गलत का फर्क समझाएं.

यह भी पढ़ें – चेहरे पर निखार के लिए ट्राई करें टीवी एक्ट्रेस जूही परमार का बताया ये घरेलू फेस पैक

खुद पर रखें काबू
बढ़ती उम्र के बच्चे बहुत ज्यादा शैतानी करते हैं. ऐसे में माता-पिता उन पर गुस्सा हो जाते हैं और कई बार तो उन्हें मार भी देते हैं, लेकिन ऐसा करने से बच्चे के अंदर गुस्सा और चिड़चिड़ापन बढ़ जाता है. इसलिए माता-पिता को जरूरी है कि वह अपने ऊपर संयम रखें और बच्चे पर गुस्सा ना करें. बच्चे को अपनी बात बोलने का मौका देना चाहिए. साथ ही माता-पिता के लिए जरूरी है कि वह बच्चे की बात समझें और उसे डांटने मारने की जगह उसकी बात का सही जवाब दें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Tags: Parenting, Parenting tips

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर