Covid 19: जॉब जाने से न हों निराश, खुद को मोटिवेटेड रखने के लिए करें ये जरूरी काम

जॉब जीवन का आखिरी सच नहीं है. इस बात को हमेशा मन में रखें.

जॉब जीवन का आखिरी सच नहीं है. इस बात को हमेशा मन में रखें.

कोरोना वायरस (Corona Virus) भारत में आने के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने नौकरी खोई है. नौकरी जाने के कई कारण हो सकते हैं. जैसे कम्पनी बंद हो जाना, वित्तीय घाटा, कॉस्ट कटिंग, आपका व्यवहार आदि.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2020, 11:49 AM IST
  • Share this:
नौकरी (Job) का चला जाना या निकाल देना वर्तमान समय में काफी सुनने और देखने को मिल रही है. कोरोना वायरस (Covid 19) के कारण कई कम्पनियों (Companies) से कर्मचारियों (Employees) को नौकरी से निकालने की खबरें आई हैं. कुछ जगहों पर अन्य कारणों से भी कर्मचारी की नौकरी (Job) चली जाती है. कोरोना वायरस (Corona Virus) भारत में आने के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने नौकरी खोई है. नौकरी जाने के कई कारण हो सकते हैं. जैसे कम्पनी बंद हो जाना, वित्तीय घाटा, कॉस्ट कटिंग, आपका व्यवहार आदि. सब काम अच्छे से चलते हुए भी नौकरी जाने पर झटका लगता है और भविष्य की कई योजनाओं पर पानी फिर जाता है. व्यक्ति असहाय महसूस करने के अलावा स्वभाव से भी बदल जाता है. ऐसी स्थिति में खुद को संभालते हुए आत्मविश्वास (Self-Confidence) के साथ आगे बढ़ना होता है. नौकरी जाने के बाद कैसे आत्मविश्वास से लबरेज रहें, इस बारे में यहां बताया गया है.

नौकरी जाने के बाद कैसे बनाएं आत्मविश्वास



नकारात्मकता को हावी न होने दें
नौकरी जाने के बाद नकारात्मकता से दूसरी नौकरी की तलाश उसके लिए विश्वास की कमी हो जाती है. निराशा के इस समय में सकारात्मकता बनाकर रखना ख़ासा अहम हो जाता है. अकेलेपन को हावी नहीं होने दें और अगर कोई मदद नहीं करे, तो भी अपने मन में निराशा का भाव नहीं आने दें. खुद को मोटिवेट रखते हुए पॉजिटिव फ्रेम ऑफ़ माइंड (Positive Frame of Mind) के साथ आगे के बारे में सोचें.

इसे भी पढ़ें: PM Modi Birthday: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पसंद है ढाबा स्टाइल चाय, जानें पीएम मोदी के खानपान के बारे में

अपने नेटवर्क से सम्पर्क में रहें



नेटवर्क से बातचीत करने से काफी वैकेंसी (Vacancies) का पता चलता है. दोस्तों और पुराने साथियों से सम्पर्क बनाकर रखना चाहिए. उनसे अपनी नौकरी के बारे में बात करें जिससे कहीं कोई हायरिंग होगी तो आपको पता चलने में आसानी रहेगी. अपने शुभचिंतकों से सम्पर्क कभी समाप्त नहीं करना चाहिए.

गुस्सा नियंत्रित रखें

कई बार नौकरी जाने के बाद मैनेजमेंट या साथ में काम करने वाले लोगों पर गुस्सा आता है. एक समय के बाद इस पर नियंत्रण भी जरूरी है. गुस्सा करने से छवि को नुकसान पहुंचता है और नई नौकरी मिलने में भी परेशानी हो सकती है. किसी वजह से नौकरी गई हो, आगे के बारे में सोचते हुए गुस्से पर नियंत्रण रखें और करियर को प्रभावित होने से बचाएं.

सकारात्मक लोगों के साथ रहें

नौकरी जाने के बाद आप घर में हर वक्त रहेंगे तो बुर विचार मन में आएंगे. सकारात्मक और सपोर्टिव (Supportive) लोगों के साथ साथ रहने से आपको अच्छा महसूस होगा. बाहर जाएं और प्रेरणा देने वाले लोगों से मिलकर अपनी बात भी शेयर करें. इससे आपको कुछ सकारात्मक ऊर्जा भी मिलेगी.

फोकस के साथ नई नौकरी तलाशें

नौकरी जाने के बाद नई नौकरी के लिए फोकस रहें और दिन में कहां दूसरी नौकरी के लिए आवेदन करना है, कैसे करना है आदि बातों को जरुर ध्यान में रखें. इसके अलावा आपके फील्ड की नौकरी के लिए पूरी तरह से फोकस होकर ही तलाश करें. कुछ नहीं है तब कुछ भी करने से बचना चाहिए. थोड़ा समय जरुर लगेगा लेकिन इस तरह नौकरी सर्च (Search) करने से भविष्य में कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

रूटीन नहीं छोड़ें

नौकरी नहीं होने पर पुराने रूटीन को बदलने का प्रयास नहीं करें. उस समय को खुद के लिए उपयोग करें. घूमने बाहर जाएं या अपनी हॉबी (Hobby) का कोई काम कर सकते हैं. थोड़ा व्यस्त रहने से दिमाग शांत रहेगा और नई नौकरी मिलने से पहले यह सबसे जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज