लाइव टीवी

बच्‍चों का दिमाग कैसे बनाएं शार्प, जरूर अपनाएं ये उपाय

News18Hindi
Updated: November 13, 2019, 11:02 AM IST
बच्‍चों का दिमाग कैसे बनाएं शार्प, जरूर अपनाएं ये उपाय
कहते हैं कि बच्चे गीली मिट्टी की तरह होते हैं. उन्हें जिस आकार में ढाल लो ढल जाते हैं. ऐसे में छोटे बच्चे अक्सर बिगड़ जाते हैं.

अगर आप अपने बच्‍चों का दिमाग शार्प बनाना चाहते हैं तो उन्‍हें इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों की बजाए दूसरी चीजों में व्यस्त रखें ताकि उनके मस्तिष्‍क का विकास हो सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2019, 11:02 AM IST
  • Share this:
माता-पिता अपने बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास को लेकर काफी चिंतित रहते हैं. अक्सर छोटे बच्चों के साथ ये परेशानी सबसे ज्यादा नजर आती है. कहते हैं कि बच्चे गीली मिट्टी की तरह होते हैं. उन्हें जिस आकार में ढाल लो ढल जाते हैं. ऐसे में छोटे बच्चे अक्सर बिगड़ जाते हैं. आज की लाइफस्टाइल में बच्चों की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर निर्भरता बढ़ती जा रही है. आईपैड, लैपटॉप, स्मार्टफोन में वह इतने घुसे रहते हैं कि दोस्तों और अपने माता-पिता के साथ भी समय बिताना सही नहीं समझते हैं. इसका असर कहीं न कहीं उनके दिमाग पर भी पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ेंः खुश रहने के लिए बच्चों से सीखें ये 6 गुण, टेंशन हो जाएगी दूर

इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों से रखें दूर
कई शोध में ये बात निकलकर आई है कि बच्‍चों का इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों पर निर्भरता उनकी बुद्धिमत्‍ता को चोट पहुंचा रही है. ऐसे में अगर आप अपने बच्‍चों का दिमाग शार्प बनाना चाहते हैं तो उन्‍हें इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों की बजाए दूसरी चीजों में व्यस्त रखें ताकि उनके मस्तिष्‍क का विकास हो सके. आइए आपको कुछ उपायों के बारे में बताते हैं जिनकी मदद से आप अपने बच्चे का दिमाग शार्प बना सकते हैं.

दोपहर की नींद जरूरी
दोपहर में खाना खाने के बाद करीब एक घंटे की नींद लेने से बच्चों की मेमोरी अच्छी बनी रहती है. दिमाग को मजबूत बनाने और चीजें सीखने के लिए दोपहर की नींद बहुत जरूरी होती है.

मां का प्‍यारजो महिलाएं अपने नवजात बच्चे को बहुत प्यार देती हैं और उनके साथ अच्छे से पेश आती हैं उन बच्चों का दिमाग तेज होता रहता है. दरअसल ऐसे बच्चों के दिमाग के हिप्पोकेंपस क्षेत्र में ज्यादा नर्व कोशिकाएं बनती हैं जिससे बच्चे का दिमाग तेज होता है.

मैथ्स (Maths) का खेल
यह उन बच्चों के लिए बहुत ही अच्छा है, जिन्हें गिनती आती है. अपने बच्चे को 1 से 20 तक गिनती में बीच-बीच में कोई अंक छोड़ दें और उसे उन मिसिंग नंबर के बारे में जानने को कहें. इससे उनका मनोरंजन भी होगा और दिमाग का तेजी से विकास भी होगा. गणित एक ऐसा सब्जेक्ट है जो कि बच्चों में बचपन से ही दिमाग को तेज करता है.

शब्‍दों का खेल
यह छोटे बच्चों के लिए बहुत अच्छा होता है. अपने बच्चे के सामने कोई शब्द बोलें और उसे उस शब्द का अपोजिट बताने के लिए कहें. पर यह खेल खेलते हुए इस बात का ध्यान रखें कि ऐसे शब्द बोलें जिसे वे समझ सकें. साथ ही आप अपने बच्चों को शब्दों के माध्यम से गाना और कविता पाठ भी सिखा सकते हैं.

टंग ट्विस्‍टर
बच्चों के साथ खेलते समय आप उन्हें एक अच्छा-सा टंग ट्विस्टर सही तरीके से बोलने को कह सकते हैं. इससे बच्चों का दिमागी विकास होने के साथ साथ उनकी एकाग्रता भी बढ़ती है.

सवाल-जवाब
कई बार बच्चे टीवी देखते समय कई तरह की बातें जानना चाहते हैं लेकिन पैरेंट्स उनकी बातों का जवाब देना जरूरी नहीं समझते जो कि गलत है. बच्चों के सवालों का जबाव दें और विषय के बारे में समझाएं, वो भी बिल्कुल सही तरीके से.

इसे भी पढ़ेंः बच्चों में नजर आ रहा है चिड़चिड़ापन? पैरेंट्स इन 5 बातों का रखें ख्याल

बातें करें शेयर
दिन में हुई किसी भी घटना को डिनर पर बच्चे के साथ शेयर करें. बच्चे को भी अपने स्कूल और मित्रों की बातें शेयर करने के लिए प्रोत्साहित करें. बच्चे के साथ ढेर सारी बातें करें ताकि वह आपसे खुलकर दिल की बातें बोल सकें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 10:53 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर