लाइव टीवी

घर को कैसे बनाएं बैक्टीरिया फ्री, जानें कुछ आसान ट्रिक्‍स

News18Hindi
Updated: October 29, 2019, 9:21 AM IST
घर को कैसे बनाएं बैक्टीरिया फ्री, जानें कुछ आसान ट्रिक्‍स
साफ सुथरा घर सभी को पसंद होता है. इससे शरीर तो स्वस्थ रहता ही है साथ ही घर में पॉजिटिविटी भी बनी रहती है.

कई बार घर की पूरी सफाई के बाद भी बैक्टीरिया से मुक्ति नहीं मिलती है. हमें घर में रहने वाले बैक्टीरिया को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2019, 9:21 AM IST
  • Share this:
घर की सफाई रोज करनी चाहिए. इससे शरीर तो स्वस्थ रहता ही है साथ ही घर में पॉजिटिविटी भी बनी रहती है. साफ सुथरा घर सभी को पसंद होता है. पर क्या आपने कभी सोचा है कि रोजाना घर की सफाई करने से क्‍या हमारा घर सही में जर्म फ्री हो जाता है. घर पर पूरी सफाई के बावजूद हम यह विश्‍वास के साथ नहीं कह सकते कि हमारा घर सौ फीसदी बैक्टीरिया फ्री हो चुका है. कई बार घर की पूरी सफाई के बाद भी बैक्टीरिया से मुक्ति नहीं मिलती है. हमें घर में रहने वाले बैक्टीरिया को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. आइए जानें घर की कैसे करें सफाई ताकि घर में मौजूद गंदे बैक्टीरिया से मुक्ति मिल सके.

इसे भी पढ़ेंः दिवाली के बाद इन घरेलू नुस्खों की मदद से रखें अपनी सेहत का ख्याल, प्रदूषण से ऐसे बचें

बेडरूम की सफाई-

बेडशीट्स और तकियों में डस्ट माइट्स और एलर्जेंस पनपते है, जिस वजह से सर्दी-जुकाम, बदनदर्द और सांस संबंधी परेशानियां हो सकती हैं. इससे बचने के लिए तकिये के कवर को हर 15 दिन में गर्म पानी में धोएं और हर 2 साल में तकिया जरूर बदलें.

बेडशीट्स, चादर और गद्दे का इस्‍तेमाल हम सोने के लिए करते है, जिसका सीधा असर हमारे शरीर पर पड़ता है. डस्ट माइट्स और एलर्जेन्स चादर और गद्दे आपको गंभीर रूप से बीमार कर सकते हैं. इससे बचने के लिए चादर और गद्दे के कवर को हर 15 दिन में एक बार गर्म पानी में धोएं. साथ ही, गद्दों को समय-समय पर धूप में डालें ताकि इसमें डस्ट माइट्स न हों.

किचन की सफाई-

हमेशा खाने-पीने की चीजों से भरे रहने की वजह से किचन में कीटाणुओं, जीवाणुओं और कीड़ों-मकोड़ों के पनपने की संभावना सबसे ज्‍यादा होती है. इससे बचने के लिए बर्तन धोनेवाले स्पॉन्ज और किचन क्लॉथ को सही तरीके से साफ करें. इसके लिए हर बार इनके इस्तेमाल के बाद इन्‍हें सूखने के लिए धूप में रखें. यह जितनी ज्‍यादा देर तक गीला रहेगा, कीटाणु उतनी ही तेजी से फैलेंगे. स्पॉन्ज को आप माइक्रोवेव में रखकर सैनेटाइज कर सकते हैं.
Loading...

फल-सब्जियों और बाकी की सामग्री के लिए एक और मीट, चिकन, फिश जैसे नॉन वेज के लिए दूसरा कटिंग बोर्ड रखें. ऐसा करने से क्रॉस कंटैमिनेशन नहीं होता. कटिंग बोर्ड को नियमित रूप से एंटी बैक्टीरियल क्लीनर से क्लीन करें.

किचन काउंटर्स पर हमेशा कुछ न कुछ खाने का सामान गिरता रहता है, जिससे फूड बैक्टीरिया और कीड़े-मकोड़े पनप जाते हैं, इससे बचने के लिए काउंटर को रोजाना साबुन से धोने के बाद पानी में एक टेबल स्‍पून क्लोरीन ब्लीच डालें और उससे साफ करें. साथ ही, कैबिनेट में मौजूद कंटेनर्स को अच्छी तरह से बंद करके रखें.

नियमित रूप से बर्तन रखने वाली ट्रॉली को साफ करें और हाइजीनिक रखें. खाने के तुरंत बाद बर्तनों को धो-पोंछकर रख दें, सिंक में यूं ही पड़े न रहने दें. इससे बीमारियां फैलती हैं.

डस्टबिन में हमेशा ब्लैक पॉलीथिन डालकर रखें और इसे हमेशा ढककर रखें. हर हफ्ते डस्टबिन को साबुन या सर्फ से साफ करें.

घर के बाकी हिस्सों की सफाई-

दरवाजे पर सबसे अधिक गंदगी हती है. इसके हैंडल को किसी एंटी-बैक्टीरियल क्लीनर से रोजाना साफ करें. दीवारों पर जमी धूल-मिट्टी को भी साफ करें. नियमित रूप से दीवारों के जालें साफ करें. घर के लिए लो वीओसी पेंट्स, मिल्क पेंट और व्हाइट वॉश चुनें. इस बात का भी ध्यान रखें कि पेंट में लेड न हो.

समय-समय पर कार्पेट निकालकर धूप में रखें ताकि किसी तरह के बैक्टीरिया या फंगस इसमें न पनपें. शू रैक को हमेशा घर से बाहर ही रखें. समय-समय पर जूते-चप्पलों को निकालकर शू रैक साफ करें और उसमें कीटनाशक भी स्प्रे करें.

बाथरूम की सफाई-

बाथरूम को हमेशा सूखा रखने की कोशिश करें क्‍योंकि बाथरूम में मौजूद नमी बैक्टीरिया को पनपने में मदद करती है. टॉयलेट साफ करते समय टॉयलेट का हैंडल जरूर साफ करें. इसे साफ करने के लिए साबुन के अलावा एंटी बैक्टीरियल क्लीनर का भी इस्तेमाल करें.

इसे भी पढ़ेंः आपकी त्वचा और बालों के लिए कितना जरूरी है पानी, जान लें ये 5 कारण

बाथरूम में बाल्‍टी में पानी भरकर न रखें. नहाने के तुरंत बाद बाल्टी को उल्टा करके रखें और बॉथटब को पोंछकर साफ करके रखें. अगर शावर कर्टन्स का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो हर 15 दिन में इसे जरूर साफ करें. सोप और टूथब्रश होल्डर नियमित रूप से साफ करें. टूथब्रश पर कैप लगाकर और साबुन का झाग धोकर रखें, ताकि यह जल्दी सूख जाएं. एक ही साबुन को अगर एक से ज्‍यादा लोग इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसे हमेशा धोकर इस्तेमाल करें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 9:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...