Parenting Tips: वर्क फ्रॉम होम के दौरान बच्चे कर रहे हैं परेशान तो अपनाएं ये तरीके

Parenting Tips: वर्क फ्रॉम होम के दौरान बच्चे कर रहे हैं परेशान तो अपनाएं ये तरीके
लॉकडाउन में परिवार के साथ रहकर वर्क फ्राम होम करना आसान काम नहीं है.

लॉकडाउन (Lockdown) में वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) में ऑफिस की तरह काम नहीं हो पाता है. दूसरी ओर बच्चे इतना परेशान कर देते हैं कि काम से ध्यान भटक जाता है. आज आपकी इस समस्या का हम यहां समाधान (Solution) बता रहे हैं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 3, 2020, 9:27 AM IST
  • Share this:
देश भर में लॉकडाउन (Lock down) है और प्रोफेशनल्स वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) कर रहे हैं. ऐसे में घर में कई तरह के काम और बच्चों (Children) की शैतानी के चलते पेरेंट्स परेशान हो जाते हैं. इसकी वजह से ऑफिस का काम (Office Work) पूरा नहीं हो पाता है. अपने बच्चों को हम प्यार करते हैं, इसलिए उनको समझाने के अलावा हमारे पास कोई और तरीका नहीं होता. अगर घर में बच्चे फ्री रहेंगे तो वो आपको परेशान करेंगे. इसलिए आपको चाहिए कि आप बच्चों को उनके मतलब के काम में लगा दें, इसके बाद वो अपने काम में व्यस्त रहेंगे तो आपको परेशान नहीं करेंगे. इसके लिए आपको कुछ ऐसे कामों के बारे में बताते हैं, जिनमें आप बच्चों को व्यस्त रख सकते हैं.

शेड्यूल है जरूरी
इंडिया टुडे की खबर के अनुसार  सबसे पहले तो आप अपने बच्चों की पढ़ाई का, खेलने का, टेलिविजन देखने और सोने आदि का शेड्यूल बना दें. इसका फायदा यह होगा कि हर समय आपका बच्चा आपके पास नहीं आएगा और आप डिस्टर्ब नहीं होंगे. अगर बच्चा कोई क्रिएटिव काम करता है तो उस काम के लिए उसको थोड़ा ज्यादा समय शेड्यूल में दें. इससे बच्चा ज्यादा देर तक बिजी रहेगा.

Sunday Special: कोरोना काल में मानसिक तकलीफों को रखें दूर, Don't Worry Be Happy
बच्चों को वीडियो कॉलिंग करने दें


इस समय बच्चे कहीं जा नहीं पा रहे हैं. ऐसे में वे आमने-सामने अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से बात करना चाहते हैं. खासकर बच्चे अपने नाना-नानी और दादा-दादी से वीडियो कॉलिंग में बात करते हैं. इसका मतलब यह है कि बच्चों के लिए एक समय निर्धारित करना चाहिए, जिसमें वो वीडियो कॉलिंग में लोगों से बात कर सकें. ऐसा करने से बच्चे व्यस्त रहेंगे और आप इस टाइम में परेशान नहीं होंगे. दूसरे दिन से बच्चे खुद इस काम को रुटीन बना लेंगे.

नए गेम खेलने को दें
बच्चों को बिजी रखने का यह अच्छा तरीका है. इसलिए बच्चों को मोबाइल पर गेम खेलने के लिए दें. अगर आपके पास कंप्यूटर घर में हो तो फ्री टाइम में बच्चों को गेम खेलने दें. इस समय को आप अपने घर के दूसरे सदस्यों को दे सकते हैं. गेम खेलने में बच्चों का दिमाग भी विकसित होता है और उनको अकेलापन भी नहीं लगेगा. इस काम में बच्चों को मजा आएगा तो बाहर भी नहीं जाएंगे. इससे संक्रमण का खतरा नहीं होगा.

बच्चों को स्क्रीन टाइम दें लेकिन थोड़ा
मोबाइल पर ज्यादा देर तक समय काटना अच्छी बात नहीं है. डॉक्टर भी लगातार बच्चों को इससे दूर रखने या फिर स्क्रीन टाइम कम करने की सलाह देते हैं. अगर बच्चे कुछ देर का समय कुछ बेहतर सीखने में लगाए तो यह अच्छा होगा. अपने बच्चे को आप जितनी भी देर मोबाइल देखने की इजाजत देते हैं तो उसमें कुछ एजुकेशनल ऐप डाउनलोड कर दें. इससे बच्चा कुछ सीखेगा.

Happy Rakshabandhan 2020: रक्षाबंधन पूजा की थाली ऐसे सजाएं, राखी बांधते समय पढ़ें मंत्र

क्रिएटिव टास्क दें
घर पर बच्चों को कोई क्रिएटिव टास्क दें. इसके लिए बच्चों को यूट्यूब की मदद लेने के लिए कहें. ऐसा करने से बच्चे व्यस्त भी रहेंगे और कुछ नया भी सीखेंगे. बच्चों को घर में पड़े कुछ पेपर, कलर या फिर पुरानी चीजें दीजिए और उन्हें रीसाइकिल करने का विकल्प दीजिए. उन्हें बताइए कि कैसे वो पुरानी चीजों से कमाल कर सकते हैं. इस वक्त आप बच्चों की अगली क्लास से जुड़ा कोई प्रोजेक्ट भी दे सकते हैं. कि इसके बारे में देखकर मुझ समझाओ.

बच्चों के साथ मिलकर कुछ नया करें
दिनभर बच्चे आपसे दूर थे इसलिए आपको चाहिए कि शाम को जब आपको समय मिलता है, बच्चों के साथ मिलकर कुछ नया करें. अगर कुछ नहीं करते हैं तो उनके साथ कोई गेम खेलें और उनसे बातें करें. अपने काम से फ्री होकर थोड़े समय के लिए बच्चों के साथ कुछ एक्टिविटी की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज