लाइव टीवी

बच्चों की इन 5 गंदी आदतों को ऐसे करें दूर, हर पैरेंट्स अपनाएं ये टिप्स

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 3:18 PM IST
बच्चों की इन 5 गंदी आदतों को ऐसे करें दूर, हर पैरेंट्स अपनाएं ये टिप्स
फर्श पर गिरा खाना खाने से बच्चों के बीमार पड़ने का डर बना रहता है.

बच्चों को अक्सर स्केच या पेटिंग करना अच्छा लगता है. यह आदत तो अच्छी है पर दीवार पेटिंग करने या स्केच करने के लिए सही जगह नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 3:18 PM IST
  • Share this:
बच्चों की हरकतें अक्सर प्यारी होती हैं लेकिन कई ऐसी चीजें हैं जिनके करने से आपको बच्चों पर गुस्सा आने लगता है. बच्चों की कई आदतें प्यार करने लायक नहीं होतीं जिनमें खाने को फर्श पर पलट कर उसे दोबारा खाना, दीवारों पर पेंसिल से चित्रकारी कर देना, सोफे या गद्दों पर पेटिंग कर देना या उन्हें नुकसान पहुंचाना, टीवी पर देखी हुई चीजों को घर में दोहराना, परदे या टेबल कवर में गंदे हाथों को पोंछना शामिल हैं.

कुछ पैरेंट्स इसे उनकी कल्पनाशक्ति और रचनात्मकता के रूप में देखते हैं लेकिन कई अभिभावकों को लगता हैं कि इस तरह की आदतें उनके बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर कर सकती हैं. ये गंदी आदतें बड़े होने के साथ और बढ़ती जाती हैं. ऐसे में जरूरी है कि उन्हें शुरुआत से ही इन चीजों के लिए समझाया जाए. बच्चों के साथ मारपीट करने के बजाय उन्हें प्यार से इन गंदी आदतों से छुटकारा दिलाने के बारे में सोचें. आइए आपको बताते हैं कैसे छुटेंगी बच्चों की ये गंदी आदतें.

इसे भी पढ़ेंः खुले मैदान में खेलने से बेहतर होता है बच्चों का विकास, ये हैं 5 बड़े फायदे

खाने को फर्श पर पलट कर उसे दोबारा खाना

फर्श पर गिरा खाना खाने से बच्चों के बीमार पड़ने का डर बना रहता है. दरअसल फर्श गंदा होता है और उस पर जमे हुए कुछ माइक्रोब्स खाने के साथ साथ पेट में चले जाते हैं और बच्चों को बीमार करते हैं. इस आदत को ठीक करने के लिए आप बच्चों को बचपन से ही धीरे धीरे सलीके से टेबल या किसी एक जगह पर बैठकर खाना-पीना सिखाएं. बच्चे को शुरू से ही सही आदते सिखाते रहें. आपको बता दें कि कुछ बच्चे खाना घुमते-फिरते और इधर-उधर गिराते हुए खाते हैं. ऐसे में आप उसे शुरू से ही अपने साथ बैठा कर खाना खिलाएं. इस तरह बच्चे आपको देखकर अच्छी आदतों को अपनाने लगेंगे.

दीवारों पर पेंसिल से चित्रकारी करना

बच्चों को अक्सर स्केच या पेटिंग करना अच्छा लगता है. यह आदत तो अच्छी है पर 'दीवार' पेटिंग करने या स्केच करने के लिए सही जगह नहीं है. बहुत बार उन्हें स्केच बुक या पेंटबुक देने के बाद भी वह दीवारों पर अपनी कलाकारी दिखाते हैं. ऐसे बच्चों को समझाना बहुत जरूरी है. उन्हें प्यार से या फिर किसी कहानी के जरिए समझाएं कि दीवार पर चित्रकारी करने से वह अपना ही नुकसान कर रहे हैं. ऐसा करना गलत है. इससे घर गंदा होता है. बच्चे कहानियों की भाषा अच्छी तरह से समझते हैं. कहानी के माध्यम से वह इस
Loading...

आदत को बंद कर सकते हैं.

सोफे या गद्दों को नुकसान पहुंचाना

अक्सर बच्चे अपने नाखून से लगभग हर चीज को नोंचने और खाने की कोशिश करते हैं. बड़े होने के साथ साथ वह घर की चीजों को ऐसे ही नोंच- खरोंच कर नुकसान पहंचाने लगते हैं. ऐसे में बच्चे को समझाना बहुत जरूरी है. उसे ऐसे काम को करते वक्त ही बार बार रोकिए या आंख दिखाकर डराइए. आप बच्चो को थोड़ा बहुत डांट भी सकते हैं. धीरे-धीरे आपका कहना उसे समझ आजाएगा और वह उसे करना बंद कर देंगे. इस तरह एक दिन यह गंदी आदत चली जाएगी.

टीवी में देखी हुई चीजों को घर में दोहराना

अक्सर बच्चें टीवी पर देखी हुई चीजों को घर पर दोहराने लगते हैं. बच्चों के इस आदत को ठीक करने के लिए उन्हें ज्यादा टीवी या मोबाइल देखने न दें. उन्हें आउट-डोर गेम्स खेलने के लिए, पढ़ने के लिए और नए दोस्त बनाने के लिेए प्रेरित करें. इन तरीकों से वह घर हो या बाहर, खेल-कूद हो या पढ़ाई, हर चीज में बेहतर बनेंगे.

इसे भी पढ़ेंः आपके बच्चे को पूरी रात आए सुकून भरी नींद, इन 5 टिप्स की लें मदद

परदे या बेडशीट में गंदे हाथों को पोंछना

परदे या बेडशीट में गंदे हाथों को पोंछना बच्चों की सबसे गंदी आदतों में से एक है. बच्चे अक्सर कुछ खाने-पीने के बाद या हांथ धोकर आने के बाद, घर के परदों, टेबल-कवर या बेडशीट में हांथ पोंछ लेते हैं. ऐसे में बच्चों को शुरू से तौलिए में हांथ पोंछने की आदत डालें. इसके बावजूद अगर वह ऐसा करते हुए मिलें तो उन्हें हर बार टोके जिससे कि उन्हें याद रहे कि उन्हें किस चीज के लिए मना किया गया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...