Home /News /lifestyle /

how to take care of kids while traveling for a pleasant journey mt

बच्चों के साथ कर रहे हों ट्रैवल, तो यात्रा को इस तरह से बनाएं सुखद

सफर में भी बच्चे के रूटीन का ध्यान में रखें

सफर में भी बच्चे के रूटीन का ध्यान में रखें

सफर के दौरान बच्चों का खास ख्याल रखना बेहद जरूरी होता है. सफर अगर लंबा हो, तो बच्चे की देखभाल भी अधिक करनी पड़ती है. यात्रा आपके और बच्चे दोनों के लिए सुगम और सुरक्षित हो, इलसिए हम आपसे शेयर कर रहे हैं ट्रेवलिंग से जुड़े ज़रूरी टिप्स.

अधिक पढ़ें ...

Travel guide: छोटे बच्चों को लेकर ट्रैवल करना आसान काम नहीं होता है. वैसे तो बच्चों को घूमने में काफी मजा आता है और वो बेझिझक होकर हर सफर को पूरी तरह एन्जॉय करते हैं. मगर, माता-पिता के लिए सफर के दौरान बच्चों का खास ख्याल रखना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. ऐसे में कुछ जरूरी बातों पर ध्यान देकर आप बच्चों के साथ ट्रैवलिंग को आसान बना सकते हैं.

दरअसल कम दूरी की यात्रा पर तो पेरेंट्स बच्चों को हैंडल कर ही लेते हैं. लेकिन असली मुश्किल लंबा सफर करने के दौरान आती है. ऐसे में बच्चों को दूध पिलाने से लेकर उनकी हर छोटी-बड़ी चीजों की स्पेशल केयर करने की ज़रूरत पड़ती है. चलिए जानते हैं बच्चे के साथ ट्रैवेलिंग से जुड़े कुछ ऐसे टिप्स, जिन्हें फॉलो करते हुए आप बच्चे के साथ अपनी जर्नी को बिना किसी परेशानी के पूरा कर सकते हैं.

डेली रूटीन का रखें ध्यान
यात्रा के लिए टिकट बुक कराते समय बच्चे के डेली शेड्यूल को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है. खासकर ट्रेन से यात्रा करने के दौरान भूख लगने और नींद पूरी न होने पर बच्चे रोना शुरू कर देते हैं. इसलिए यात्रा शुरू करने से पहले बच्चे को खिलाकर सुला दें ताकि सफर शुरू होने के दौरान बच्चा फ्रेश महसूस करे.

जरूरी चीजों को करें पैक
सफर की पैकिंग करते समय बच्चे की ज़रूरी और मनोरंजन से जुड़ी चीज़ों को रखना न भूलें. बच्चे के लिए बेडशीट, खिलौने, पानी, डायपर, प्लास्टिक बैग्स और ब्रेस्टफीडिंग के लिए दुप्पटा या स्टाल जरूर रख लें.

फर्स्ट एड बॉक्स
यात्रा के दौरान बच्चों को चोट लगने या तबीयत खराब होने की संभावना अधिक रहती है. इसलिए थर्मामीटर, एंटीसेप्टिक बैंडेज, कॉटन, मोशन सिकनेस और डाइजेशन की दवाओं सहित फर्स्ट एड बॉक्स में सर्दी-जुकाम की दवाइयों को भी शामिल करें.

ये भी पढ़ें: समुद्र किनारे घूमने का है मन तो भारत के ये 7 बीच रहेंगे बेस्ट, यादगार रहेगा ट्रिप

डॉक्टर से करें संपर्क
सफर पर जाने से पहले बच्चे के डॉक्टर से संपर्क करना ना भूलें. यात्रा के समय बच्चों की सेफ्टी के लिए डॉक्टर से बात करें और सफर पर डॉक्टर की सलाह का सख्ती से पालन करने की कोशिश करें.

बच्चे के कम्फर्ट का रखें ख्याल
सफर के दौरान बच्चे को कम्फर्टेबल रखने की कोशिश करें. सफर पर बच्चे बोर होने की वजह से रोने लगते हैं. ऐसे में आप खिलौने, पिक्चर बुक्स, कलरिंग किट,आईपॉड जैसी चीज़ें रख लें, ताकि उनका सफर खुद में व्यस्त रहते हुए कट जाए. साथ ही पब्लिक प्लेस पर बच्चों को कैरी करने के लिए प्रैम की जगह स्लिंग या कैरियर की मदद लें.

ये भी पढ़ें: समर वेडिंग के बाद मनाना चाहते हैं ‘कूल हनीमून’ तो ये 8 जगह रहेंगी बेस्ट, अभी से बना लें प्लान

डाइट को न करें अनदेखा
ट्रैवलिंग के दौरान बच्चों को समय-समय पर ब्रेस्टफीडिंग कराने की कोशिश करें. साथ ही मोटे आहार के बजाए सफर में बच्चों को फल, सीरियल, होममेड फूड और प्यूरी हीदें. जिससे बच्चों को डाइजेशन में परेशानी नहीं होगी.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Child Care, Lifestyle, Parenting tips, Travel

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर