• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • Postpartum Care: मां बनने के बाद खुद का ध्‍यान रखना भी है जरूरी, अपनाएं ये टिप्स

Postpartum Care: मां बनने के बाद खुद का ध्‍यान रखना भी है जरूरी, अपनाएं ये टिप्स

बच्‍चे के जन्‍म की खुशी में घर वाले मां की सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं और पोस्‍टपार्टम केयर (Postpartum Care) के अभाव में वह मेंटली और फिजिकली (Mentally And Physically) कमजोर होती चली जाती हैं.

बच्‍चे के जन्‍म की खुशी में घर वाले मां की सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं और पोस्‍टपार्टम केयर (Postpartum Care) के अभाव में वह मेंटली और फिजिकली (Mentally And Physically) कमजोर होती चली जाती हैं.

बच्‍चे के जन्‍म की खुशी में घर वाले मां की सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं और पोस्‍टपार्टम केयर (Postpartum Care) के अभाव में वह मेंटली और फिजिकली (Mentally And Physically) कमजोर होती चली जाती हैं.

  • Share this:

    जब एक लड़की मां (New Mother) बनती है तो उसके शरीर (Body) में कई बदलाव एक साथ आते हैं. ये बदलाव शारीरिक (Physically) रूप से तो पेनफुल (Painful) होते ही हैं, मानसिक रूप (Mentally) से भी कम स्‍ट्रेसफुल (Stressful) नहीं होते. दरअसल उस दौरान उसे तमाम तरह की सर्जरी (Surgery) का दर्द और बच्‍चे (Baby) की रात-दिन की जिम्‍मेदारी एक साथ उठानी पड़ती है. नतीजा यह होता है कि वह अपना ख्‍याल अच्‍छी तरह नहीं रख पाती. बच्चे के जन्‍म के बाद सब कुछ उसे बच्‍चे के हिसाब से ही करना पड़ता है. बेबी को हर आधे घंटे पर फीड (Feed) कराने से लेकर उसे क्‍लीन रखना, सुलाना, उसके गीले कपड़े को बदलना, धोना व सुखाना आदि में ही मां उलझी रह जाती है. ऐसे में यह जरूरी होता है कि मां इन तमाम मुश्किलों के बीच भी खुद के लिए समय निकाले और अपनी सेहत का ध्‍यान रखे. आइए जानते है कि बेबी डिलीवरी (Baby Delivery) के बाद महिलाओं को कैसे खुद का ख्‍याल रखना चाहिए.

    प्रोटीन और कैल्शियम से भरपूर हो भोजन

    नई मांओं को ब्रेस्‍ट फीड (Breastfeeding) कराना पड़ता है. ऐसे में उनके शरीर के पोषण पर ही बच्‍चा भी निर्भर करता है. अगर आप सेहतमंद भोजन नहीं करेंगी तो आपके शरीर के सारे पोषण समाप्‍त हो जाएंगे. तब आप में कमजोरी आ सकती है. भरपूर मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम (Protein And Calcium) को अपने भोजन में शामिल करें. डॉक्‍टर के बताए सप्‍लीमेंट को नजरअंदाज न करें.

    इसे भी पढ़ेंः रात को बिस्‍तर में नहीं आती नींद? तो करें ये उपाय, मिनटों में दिखेगा असर

    बेबी ब्लूज़ से खुद को बाहर निकालें

    बच्‍चे के जन्‍म के बाद नई मां में हॉर्मोनल, शारीरिक और मनोवैज्ञानिक स्तरों पर कई बदलाव आते हैं इसलिए कई बार नई मां मेंटली वीक और ओवर इमोशनल होने लगती हैं. ऐसे में उसका चिड़चिड़ा होना बेहद सामान्य बात है. इसे बेबी ब्लूज़ (Baby Blues) कहते हैं. अगर आप भी इस सिचुएशन से जूझ रही हैं तो घर वालों या डॉक्‍टर के साथ अपनी हर बात साझा करें.

    भरपूर नींद लें

    बच्‍चे के जन्‍म के बाद महीनों बेबी के साथ ही मां को भी रात-रात भर जागना पड़ता है. कई माएं रात भर बेबी के साथ जागती हैं और दिन भर काम में व्‍यस्‍त रहती हैं. इस वजह से न तो उनकी नींद पूरी होती है और न ही उन्हें भरपूर आराम मिल पाता है. ऐसे में ट्राई करें कि आप दिन में भी बेबी के साथ ही सोएं और उसके साथ ही जागें. इससे आपको आराम मिलेगा और आपकी बॉडी हील जल्‍दी होगी.

    इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में जरूर खाएं ड्रैगन फ्रूट, इम्यूनिटी होती है मजबूत

    घर वालों से लें मदद

    शुरुआती दिनों में घर के काम करने के लिए घरवालों की मदद लें. घर की जिम्‍मेदारियों को अपने पति और घर के अन्य सदस्यों के साथ शेयर करें. घर वालों को भी बच्‍चे के हर काम को करने में मां की बढ़चढ़ कर मदद करनी चाहिए. घर वालों को याद रखना चाहिए कि बेबी को जन्‍म देने और दूध पिलाने के अलावा उसके सारे अन्य काम घर वाले कर सकते हैं. ऐसे में घर वाले बेवजह हर काम की ज़िम्मेदारी मां के कमजोर शरीर पर न डालें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज