बच्चों को कैसे समझाएं 'नशा करना बुरी चीज है'

News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 4:59 PM IST
बच्चों को कैसे समझाएं 'नशा करना बुरी चीज है'
बच्चों को कैसे बताएं नशा करना बुरी चीज है

इन टिप्स की मदद से आप अपने बच्चे को नशे के अंधेरे से दूर रख सकते हैं-

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2019, 4:59 PM IST
  • Share this:
माना जाता है कि बच्चे बड़ों को देखकर ही सीखते हैं. घर में कोई नशा करता हो तो बच्चे को यह सीखते हुए भी देर नहीं लगती. अब तो ये चलन हो गया है कि बच्चे दसवीं, ग्यारहवीं में जाते-जाते बीयर और सिगरेट तो पीने ही लगते हैं. कुछ मामले में और भी कम आयु में उन्हें इन नशीले पदार्थों की लत लग जाती है. मां-बाप इस बात से अनभिज्ञ रहते हैं. बच्चे की इस आदत के बारे में जब पता भी चलता है तो काफी देर हो चुकी होती है. ऐसे में मां-बाप को अपने बच्चों से खूब बातचीत करते रहनी चाहिए. इन टिप्स की मदद से आप अपने बच्चे को नशे के अंधेरे से दूर रख सकते हैं-

  • बच्चा जब छोटा होता है तो अपने मां-बाप के काफी करीब होता है. वो स्कूल से लेकर ट्यूशन की हर बात आकर अपना मां-बाप को बताता है. बिल्कुल एक दोस्त की तरह. लेकिन जैसे ही जैसे उम्र बढ़ती है वह चीजें छुपाने लगता है. अपने मां-बाप से दूर होने लगता है. ऐसी स्थिति अपने बच्चे और अपने बीच आने ही न दें. हमेशा उसके बेस्ट फ्रेंड बनकर उससे सारी चीजें शेयर करें और पूछें.

  • घर के बड़े फैसलों में भी बच्चे की राय लें. इससे उसे महसूस होगा उससे कुछ छुपा हुआ नहीं है.


  • बचपन से ही बताएं कि नशीले पदार्थ कैसे होते हैं. उन्हें खाने से क्या होता है. उन्हें क्यों नहीं खाना-पीना चाहिए. कुछ मां-बाप ये सारी चीजों के बारे में अपने बच्चों से बात नहीं करते.

  • अगर आपको नशे की आदत है तो अपने बच्चे को बार-बार बताएं कि ये आदत बुरी है और आप इसे छोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. आपका बच्चा भी आपकी मदद करेगा.

  • अपने बच्चे के दोस्तों के बारे में जानकारी रखें. वह किससे मिलता है क्या करता है, ये सारी चीजें आपको पता होनी चाहिए.

  • Loading...

  • बच्चे की पॉकेट मनी ज्यादा न रखें

  • अपने बच्चे पर भरोसा रखें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 4:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...