लाइव टीवी

एक भारतीय ने दिया था अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस मनाने का आइडिया, जानें क्यों मनाया जाता है और क्या है इस बार की थीम

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 1:11 PM IST
एक भारतीय ने दिया था अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस मनाने का आइडिया, जानें क्यों मनाया जाता है और क्या है इस बार की थीम
अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस क्यों मनाया जाता है

अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस (International Children's Day): इस ख़ास दिन लोगों में बच्चों के अधिकारों के प्रति जागरूकता फैलाते हैं और उन्हें साक्षर बनाने के लिए भी अभियान चलाए जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 1:11 PM IST
  • Share this:
अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस (International Children's Day): बाल दिवस जिसे Children's Day भी कहा जाता है भारत में 14 नवंबर को मनाया जाता है. इसे पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं. लेकिन आज यानी कि 20 नवंबर को अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस मनाया जा रहा है. विश्व भर के देश आज अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस मना रहे हैं. इस ख़ास दिन लोगों में बच्चों के अधिकारों के प्रति जागरूकता फैलाते हैं और उन्हें साक्षर बनाने के लिए अभियान चलाए जाते हैं. आइए United Nations की वेबसाइट के हवाले से जानते हैं क्यों आज के दिन मनाते हैं अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस और क्या है इसका महत्व...

बच्चों के अधिकार:
संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली ने सन 1959 को ही बाल अधिकारों (child Rights) का ऐलान किया था. बच्चों के अधिकारों को इस तरह बांटा गया है-
1.जीवन जीने का अधिकार (Right to live)

2.संरक्षण का अधिकार (Right to live)
3.सहभागिता का अधिकार (Right of protection)
4.विकास का अधिकार (Development right)
Loading...

अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस की थीम:
हर साल विश्व बाल दिवस अलग-अलग थीम पर मनाया जाता है. इस बार की थीम है 'इंड चाइल्ड वायलेंस' यानी कि बच्चों के प्रति हिंसा (वायलेंस) का खात्मा. इसे सीधे तरीके से ऐसे भी समझा जा सकता है कि अपने आसपास, घर, स्कूल, समुदाय और सार्वजनिक स्थानों को बच्चों के लिए सेफ बनाया जाए ताकि उन पर हिंसा की कोई वारदात या घटना ना घट सके. साथ ही इस मौके पर बच्चों को गुड टच और बैड टच के बारे में भी समझाया जा सकता है.

किसने की विश्व बाल दिवस की शुरुआत:
बाल दिवस सबसे पहले सन 1954 में मनाया गया. लेकिन सबसे ख़ास बात है कि अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस मनाने का आइडिया एक भारतीय वी.के कृष्ण मेनन (Mr. V.K. Krishna Menon) का था जिसे The United Nations General Assembly ने अपनाया था.

वी.के कृष्ण मेनन कौन थे?
वी.के कृष्ण मेनन को कश्मीर का हीरो कहा जाता है. वो भारतीय राजनयिक (राजदूत) थे और वो सन 1952 से लेकर 1962 तक यूएन में भारत के रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर कार्यरत रहे.

यह भी पढ़ें :

International Men’s Day 2019: हैंडसम लुक के लिए पुरुष अपनाएं ये ग्रूमिंग टिप्स
Video: चेन स्मोकर ने दान किए फेफड़े, डॉक्टर्स ने दिखाया ऐसा हो चुका है लंग
आज से आम लोगों के खुला ट्रेड फेयर, यहां जानें हर जानकारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 12:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...