• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • International Daughters Day 2021: इस तरह से बढ़ाएं अपनी बेटियों का आत्मविश्वास

International Daughters Day 2021: इस तरह से बढ़ाएं अपनी बेटियों का आत्मविश्वास

बेटियों को खुद से प्यार और खुद का सम्मान करना सिखाएं

बेटियों को खुद से प्यार और खुद का सम्मान करना सिखाएं

International Daughter's Day 2021: बेटी और बेटे में सिवाय जेंडर (Gender) के अब और कोई फर्क नहीं रह गया है. अपनी बेटी का आत्मविश्वास (Self-confidence) बढ़ाएं और उसको इंडिपेंडेंट बनने की सीख दें.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    International Daughter’s Day 2021: डॉटर्स डे, वीमेन्स डे और मदर्स डे जैसे दिनों को भले ही बहुत धूमधाम से सेलिब्रेट किया जाता है. लेकिन आज के इस हाईटेक दौर में भी बड़ी संख्या में ऐसी  बेटियां (Daughters) हैं जिनको आज भी बेटे से कमतर समझा जाता है. इसी की वजह से उनमें आत्मविश्वास (Self-confidence) की कमी बनी रहती है. जबकि उनमें जज़्बा वो सब करने का होता है, जो बेटा कर रहा होता है. ऐसे में ज़रूरत है अपनी बेटी के आत्मविश्वास को बढ़ावा देने की. जिससे आपकी बेटियां भी बिना किसी डर और भेदभाव की भावना को मन में रखे अपने लक्ष्य (Aim) को हासिल कर सकें.

    बेटियों के आत्मविश्वास को बढ़ावा देने में केवल मां ही नहीं बल्कि पिता भी अहम रोल निभा सकते हैं. आज इंटरनेशनल डॉटर्स डे के अवसर पर हम आपको बताते हैं, कि अपनी बेटी के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए क्या किया जा सकता है. जिससे वो अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए आगे कदम बढ़ा सकें.

    ये भी पढ़ें: Daughters’ Day 2021: ‘प्यारी बेटी, हमें तुम पर गर्व है…’ डॉटर्स डे पर अपनी लाडली को खास अंदाज में करें विश

    ऐसे बढ़ाएं बेटियों का हौसला

    बेटियों के घर से बाहर जाते समय उनकी सुरक्षा के लिहाज से घर का कोई न कोई सदस्य उनके साथ जाता है. लेकिन जब आपकी बेटी बड़ी होने लगे तो उसके मन में निडर होने की भावना पैदा करें और उसको इंडिपेंडेंट बनने की सीख दें. उसको अपनी पसंद का काम करने दें और उसको समझाएं कि अपने किसी काम के लिए उसे किसी पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं है.

    अपनी आवाज उठाना सिखाएं

    बेटियों को अपने मन की बात कहने पर या अपनी आवाज उठाने पर अक्सर डांट दिया जाता है. जिससे उनके अंदर आत्मविश्वास की कमी होने लगती है. ऐसे में बेटियों को कॉन्फिडेंट बनाने के लिए जरूरी है, कि उन्हें अपनी बात कहने के लिए प्रेरित किया जाए. उनके मन की बात को सुना और समझा जाये. जिससे बेटियां खुलकर अपनी बात कहना सीख सकें. साथ ही वो गलत बात के लिए अपनी आवाज को बुलंद करने की हिम्मत कर सकें. जिससे उनके साथ कुछ गलत न हो सके.

    ये भी पढ़ें: Daughter’s Day 2021: बॉलीवुड इन 8 गानों के साथ आज बताएं बेटी क्यों हैं खास

    खुद से प्यार और सम्मान करना सिखाएं

    बेटी और बेटे में सिवाय जेंडर के और कोई फर्क अब नहीं रह गया है. इसलिए उनको प्यार करें और उनका सम्मान करें. साथ ही उनको खुद से प्यार करना और खुद का सम्मान करना भी सिखाएं. जिससे वो अपनी अहमियत समझें और दूसरे भी उनका सम्मान करें. बेटियों को बताएं कि गलत बात का विरोध करना ज़रूरी है. इसके लिए अगर कोई उन्हें नापसंद भी करे, तो भी उसको इसके लिए तैयार रहना चाहिए. इससे आपकी बेटी का हौसला बढ़ेगा और वो अपने लक्ष्य की ओर बढ़ती जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज