Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    International Day of the Girl Child 2020: अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस क्यों मनाते हैं, जानें क्या है इसका महत्व

    अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस का मकसद है लैंगिक असमानताओं के प्रति जागरूकता फैलाना. Image Credit/Pexels olia-danilevich
    अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस का मकसद है लैंगिक असमानताओं के प्रति जागरूकता फैलाना. Image Credit/Pexels olia-danilevich

    International Day of the Girl Child 2020: अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (International Day of the Girl Child) हर साल 11 अक्टूबर को मनाया जाता है. साल 2012 में इसकी शुरुआत हुई.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 11, 2020, 11:10 AM IST
    • Share this:
    International Day of the Girl Child 2020: अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (International Day of the Girl Child) हर साल 11 अक्टूबर को मनाया जाता है. साल 2012 में इसकी शुरुआत हुई. इस दिवस को बढ़ावा देने और लोगों को इसके प्रति जागरूक करने के लिए इस दिन दुनिया भर के देशों में विभिन्न प्रकार के आयोजन भी किए जाते हैं. ऐसे में इन आयोजन के जरिये लड़कियों की शिक्षा, उनके कानूनी अधिकार, पोषण आदि के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है.

    यह है इसे मनाने का मकसद
    इसका मकसद है लड़कियों को उनके अधिकार के प्रति जागरूक करना. ताकि उनके सामने आने वाली चुनौतियों का वे सामना कर सकें. साथ ही दुनिया भर में लड़कियों के प्रति होने वाली लैंगिक असामानताओं को खत्म करने के बारे में जागरूकता फैलाना भी इसका उद्देश्‍य है. इस दिवस को मनाने के पीछे एक वजह यह भी है कि समाज में जागरूकता लाकर लड़कियों को समान अधिकार दिलाए जा सकें.

    ये भी पढ़ें - International Day of Girl Child 2020: बालिका दिवस पर शेयर करें Wishes
    कैसे हुई शुरुआत


    बालिका दिवस मनाने की शुरुआत एक गैर-सरकारी संगठन 'प्लान इंटरनेशनल' प्रोजेक्ट के तौर पर की गई थी. इस संगठन की ओर से 'क्योंकि मैं एक लड़की हूं' नाम से एक अभियान भी शुरू किया था. इसके बाद इस अभियान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विस्तार देने के उद्देश्‍य से कनाडा सरकार ने आम सभा में इस प्रस्ताव को रखा. इसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने 19 दिसंबर, 2011 को इस प्रस्ताव को पारित किया और इसके लिए 11 अक्टूबर का दिन तय किया गया. ऐसे में पहला अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया.

    ये भी पढ़ें - कोरोना रोकने में मददगार है फेस मास्‍क, 25 फीसदी कम हुए मामले

    यह है इस बार की थीम
    पहला अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की थीम थी, 'बाल विवाह उन्मूलन'. इस साल अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की थीम है, 'हमारी आवाज और हमारा समान भविष्य'. इसका मकसद समाज में ये संदेश देना है कि किस तरह छोटी बालिकाएं आज पूरे विश्व को एक मार्ग दिखाने का प्रयास कर रही हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज