होम /न्यूज /जीवन शैली /International Women's Day: पीएम मोदी के अकाउंट से कश्मीर की बेटी ने सुनाई अपनी कहानी

International Women's Day: पीएम मोदी के अकाउंट से कश्मीर की बेटी ने सुनाई अपनी कहानी

गिरती दस्तकारी को वापस उठाने और जम्मू कश्मीर की शान को बचाने के लिए आरिफ ने कदम बढ़ाए.

गिरती दस्तकारी को वापस उठाने और जम्मू कश्मीर की शान को बचाने के लिए आरिफ ने कदम बढ़ाए.

प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Narendra modi) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल (Twitter) से कई महिलाओं की कहानी को शेयर किया ...अधिक पढ़ें

    अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day 2020) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर की कमान महिलाओं को सौंपी. इस खास मौके पर प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Narendra modi) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल (Twitter) से कई महिलाओं की कहानी को शेयर किया गया. नरेंद्र मोदी के ट्विटर हैंडल से ट्वीट करने वाली तीसरी महिला कश्मीर की आरिफा.

    अपनी कहानी को शेयर करते हुए आरिफा ने बताया कि कैसे उन्होंने किसी जमाने में जम्मू कश्मीर की शान रही दस्तकारी को जिंदा करने की कोशिश की. आरिफा ने बताया कि कैसे उन्होंने वुमन्स को नौकरी खोजने की बजाय आंट्रप्रन्योरशिप की ओर कदम बढ़ाने के लिए कहा.







    कारीगरों की हालत पर डाला प्रकाश

    उन्होंने बताया कि फील्ड विजिट के लिए उन्हें कारीगरों के घरों में ले जाया जाता था. इस दौरान उन्हें पता चला कि आज के समय में कारीगरों की ऐसी हालत क्यों है. उन्होंने बताया कि कारीगरों को उनके मेहनत की उचित मजदूरी नहीं मिलती हैं. इसी वजह से ये दस्तकारी गिरती जा रही हैं.

    गिरती दस्तकारी को वापस उठाने और जम्मू कश्मीर की शान को बचाने के लिए आरिफ ने कदम बढ़ाए. इसके साथ उन्होंने नमदा क्राफ्ट को दोबारा जिंदा करना का मन बना लिया. आरिफा ने बताया कि महिला कारिगरों को रोजाना 50 रुपये मिलते थे. विदेशों में इसका निर्यात भी गिर गया है महज 2 प्रतिशत ही रह गया है. सबसे पहले तो आरिफा ने महिलाओं का एक समूह बनाया और नमदा को रिवाइव करने में जुट गई. पिछले सात सालों में उन्होंने नामदा का काफी अच्चा बिजनेस बना दिया है.

    Tags: International Women Day, Jammu and kashmir, Narendra modi, Pm narendra modi, Social media, Twitter, Women

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें