प्यार के रिश्ते को मजबूत बनाता है सेक्स? रिलेशनशिप में यौन सुख कितना जरूरी, जानें

सेक्स के कई भावनात्मक फायदे हैं. जानें फायदे
सेक्स के कई भावनात्मक फायदे हैं. जानें फायदे

क्या एक रिलेशनशिप (Relationship) में सेक्स (Sex) के मायने बहुत ही ज्यादा है? रिलेशनशिप में सेक्स करना आपकी निजी सोच, शारीरिक जरुरतों और आपकी रिलेशनशिप की सीमा पर निर्भर करता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 6:07 PM IST
  • Share this:
'सेक्स' (Sex) एक रिलेशनशिप (Relationship) में पुरुष और महिला दोनों के लिए समान मायने रखता है. हालांकि दोनों के लिए यह एक सुख की अनुभूति है लेकिन अनुभव में दोनों के विचारों में बहुत अंतर देखने को मिल सकता है. भारत जैसे विकासशील देश में शादी से पहले सेक्स करने की प्रक्रिया को अलग नरजिए से देखा जाता है. देश के कई हिस्सों में शादी से पहले सेक्स की पश्चिमी सभ्यता गले के नीचे नहीं उतरती है. खैर, अब कहा जाता है कि माहौल बदल चुका है और देश तरक्की की राह पर है. इसी सोच के आधार पर लड़का-लड़की खुद को एक-दूसरे को सौंपने में समय नहीं ले रहे हैं. क्या एक रिलेशनशिप (Relationship) में सेक्स (Sex) के मायने बहुत ही ज्यादा है? क्या सेक्स वाकई में कपल को सकारात्मक रूप से ऊर्जावान बनाता है?


रिलेशनशिप में सेक्स जरूरी है?
अगर कई कपल से इस सवाल का जवाब लिया जाए तो उनकी प्रतिक्रिया मिलीजुली हो सकती है. जवाब देने से पहले वे व्यक्तिगत तौर पर कई बातें सोचेंगे. लेकिन आपको बता दें कि एक रिलेशनशिप में सेक्स करना आपकी निजी सोच, शारीरिक जरुरतों और आपकी रिलेशनशिप की सीमा पर निर्भर करता है.



रिलेशनशिप में सेक्स जरूरी नहीं हैं?
रिलेशनशिप में सेक्स को लेकर कुछ की राय यह है कि वे रिलेशनशिप में रहने के दौरान बिना सेक्स किए भी खुश, स्वस्थ और रोमांटिक लाइफ जी रहे हैं, क्योंकि रिलेशनशिप में सेक्स करने और न करने के कई कारण होते हैं जो शारीरिक और मानसिक रूप से संबंधित हो सकते हैं. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि ऐसा करने से आपकी रिलेशनशिप पर कोई असर पड़ेगा. या फिर आपके पार्टनर आपकी और आपके प्यार की कद्र नहीं करते हैं. एक बेजोड़ रिलेशनशिप में सेक्स ही सबकुछ है ऐसा नहीं कहा जा सकता.


रिलेशनशिप में सेक्स क्यों है जरूरी ?
रिलेशनशिप में रहने वाले कुछ लोगों सेक्स को जरूरी भी मानते हैं. इसलिए वे रिलेशनशिप में सेक्स को पहली प्राथमिकता देते हैं. आइए जानते हैं इसके कारण

- अपने पार्टनर के साथ एक अच्छी साझेदारी बनाने का अवसर देता है .
-पार्टनर के प्रति प्यार और परवाह दिखाने का बेहतरीन टूल है.
-यदि आप रिलेशनशिप में रोजाना सेक्स करते हैं तो यह आपके रिश्ते को सुरक्षित करता है.
- सुख की अनुभूति का माध्यम है सेक्स.
-या फिर आप इससे गर्भवती होने का प्लान भी कर सकती हैं.


सेक्स करने के कई जरूरी फैक्ट 
भावनात्मक रूप से मिलती है मजूबती

सेक्स को लेकर कई लोग भावनात्मक होते हैं. यहां सेक्स के कई भावनात्मक फायदे हैं, जैसे कि यह आपमें आत्मविश्वास जगाता है, यह आपके शरीर में सुख का कारण बनता है, पार्टनर से प्यार दर्शाने का अच्छा फॉर्मूला साबित होता है साथ ही तनावमुक्त करता है. आपमें हॉर्मोन का संतुलन कायम रखता है. आपको जीवन में हर पल खुशी का आभास करवाता है.

शारीरिक तौर पर सेक्स के मायने

सेक्स आपकी शारीरिक स्थिति के लिए भी अच्छा हो सकता है. उदाहरण के लिए कुछ बातों पर नजर डालेंगे.

- प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करता है.
-यह एक हल्का और मजेदार वर्कआउट की श्रेणी में आता है.
-हृदय संबंधी परेशानियों को दूर करता है.
-याददाश्त को मजबूत करने में सहायक.
-सेक्स से माइग्रेन और सिरदर्द से राहत मिल सकती है.
- फर्टिलिटी की समस्या को भी दूर करता है.
-नींद लाने में सहायक होता है.


इंटीमेसी के लिए सेक्स अकेला हथियार नहीं
बता दें कि जो लोग यह विचार रखते हैं कि पार्टनर के साथ सेक्स ही संपूर्ण सुख की अनुभूति करवाता है तो उन्हें अपने विचारों में थोड़ी परिपक्वता लाने की जरूरत है. क्योंकि सेक्स भले ही आपको सुख की चरम सीमा पर पहुंचाता लेकिन पार्टनर को आप इन तरीकों से भी सुख का एहसास करा सकते हैं.
- पार्टनर को प्यार से छूकर भी उनमें सुख का आभास करा सकते हैं.
- उन्हें 'किस' कर अपना बेशुमार प्यार जताएं
- पार्टनर को अपनेपन और प्यार का असल महत्व समझाने के लिए उनके हाथों में हाथ डालें.
- पार्टनर के प्रति ईमानदार रहें और मीठी-मीठी बातें करें.
सेक्स के प्रति कपल के विचारों में विरोधाभास
रिलेशनशिप में कुछ कपल ऐसे भी होते हैं जब एक समय में दोनों के मन में सेक्स के प्रति विरोधाभास की स्थिति आ जाती है. या फिर यह कहें कि सेक्स पर एक की अनुमति है और दूसरा इससे से बचना चाहता है. यह दुविधा उन कपल में ज्यादा देखने को मिलती जिनमें से एक में कामेच्छा कम और दूसरा इसके विपरित होता है. ऐसे में दोनों के बीच आपसी समझ और चर्चा ही मददगार साबित होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज