#काम की बात: क्या सेक्स के समय लड़कों को भी पीड़ा हो सकती है?

इस समस्‍या के उपचार का सबसे सरल उपाय है हर बार शारीरिक संबंध बनाते वक्‍त कंडोम का उपयोग अवश्‍य करें. कंडोम का इस्‍तेमाल करने से लिंग के आगे की त्‍वचा का मूवमेंट फिक्‍स हो जाएगा और आपको खिंचाव भी नहीं महसूस होगा.

News18Hindi
Updated: May 18, 2018, 3:01 PM IST
#काम की बात: क्या सेक्स के समय लड़कों को भी पीड़ा हो सकती है?
काम की बात
News18Hindi
Updated: May 18, 2018, 3:01 PM IST
प्रश्‍न- क्‍या पहली बार सेक्‍स करने में लड़कों को भी दर्द होता है? 

#सेक्‍सोलॉजिस्‍ट डॉ.पारस शाह

उत्तर- यह बहुत महत्‍वपूर्ण प्रश्‍न है. सामान्‍य स्थितियों में ऐसा नहीं होता. लेकिन कई बार ऐसा होता है कि लड़कों में फायमोसिस (Phimosis) या पेराफायमोसिस (Paraphimosis) नाम की शारीरिक बीमारी हो जाती है, जो जन्म से होती है. कई बार पुरूषों के लिंग के आगे की चमड़ी ढकी होती है. वैसे तो ये चमड़ी आराम से नीचे की ओर सरक जाती है, लेकिन कई पुरुषों में ये जन्म से बहुत टाइट होती है. कई बार यह स्थिति यौन संबंध बनाते समय तकलीफदेह हो सकती है. जब भी पुरुष संबंध बनाने की कोशिश करता है तो उस जगह पर एक तरह का खिंचाव महसूस होता है. कई बार ये चमड़ी फट भी जाती है तो कई बार लिंग के आगे के भाग की चमड़ी में चीरे पड़ जाते हैं. इसीलए शारीरिक संबंध बनाते समय पुरुषों को दर्द होता है. इस दर्द के कारण कई बार लिंग में आया उत्‍थान या जिसे हम अंग्रेजी में इरेक्‍शन कहते हैं, वह भी खत्‍म हो जाता है और पुरुष शारीरिक संबंध बनाने में असमर्थ हो जाता है.

यदि आप भी इस समस्‍या से गुजर रहे हैं तो सबसे पहले अपने फैमिली डॉक्‍टर से संपर्क करें. समुचित जांच करवाएं और डॉक्‍टरी सलाह के मुताबिक आगे बढ़ें.

इस समस्‍या के उपचार के दो रास्‍ते हैं. इसका सबसे सरल उपाय है कि हर बार शारीरिक संबंध बनाते वक्‍त कंडोम का उपयोग अवश्‍य करें. कंडोम का इस्‍तेमाल करने से लिंग के आगे की त्‍वचा का मूवमेंट फिक्‍स हो जाएगा और आपको खिंचाव भी नहीं महसूस होगा और न ही त्‍वचा के उस भाग में चीरे या रैशेज पड़ेंगे. लेकिन यदि आप संतान चाहते हैं या इस दर्द से स्‍थायी रूप से मुक्ति पाना चाहते हैं तो फिर कंडोम का इस्‍तेमाल इसका स्‍थायी हल नहीं है.

आपको इसके लिए एक ऑपरेशन करवाना होगा, जिसे सुन्‍नत का ऑपरेशन कहते हैं. यह ऑपरेशन बहुत ही सरल है. इसमें 15-20 मिनट का वक्‍त लगता है और 4-5 घंटे अस्‍पताल में रहना पड़ता है. इसमें किसी तरह की शारीरिक पीड़ा भी नहीं होती और दूसरे दिन से ही आप अपने रूटीन काम कर सकते हैं. लेकिन ऑपरेशन के बाद डेढ़ महीने तक शारीरिक संबंध बनाने की मनाही होती है. लेकिन उसके बाद आप सामान्‍य जीवन जी सकते हैं.

कई बार सेक्‍स के समय लड़कों में होने वाले दर्द की वजह कोई लोकल इंफेक्‍शन भी हो सकता है. ऐसी स्थिति में तत्‍काल डॉक्‍टर से संपर्क करें. समय पर पता चल जाने और जरूरी कदम उठाने पर हर तरह के इंफेक्‍शन का इलाज मुमकिन है.

(डॉ. पारस शाह सानिध्‍य मल्‍टी स्‍पेशिएलिटी हॉस्पिटल, अहमदाबाद, गुजरात में चीफ कंसल्‍टेंट सेक्‍सोलॉजिस्‍ट हैं.) 

अगर आपके मन में भी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप इस पते पर हमें ईमेल भेज सकते हैं. डॉ. शाह आपके सभी सवालों का जवाब देंगे. 
ईमेल- Ask.life@nw18.com

ये भी पढ़ें-
#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करने से भी प्रेगनेंसी हो सकती है?
#काम की बात: मैं अपने लिंग की लंबाई कैसे बढ़ा सकता हूं?
#काम की बात: क्‍या मास्‍टरबेट करना बीमारी का लक्षण है?
News18 Hindi पर Bihar Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Lifestyle News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर