अपना शहर चुनें

States

कई बीमारियों को दूर रखता है काफिर नींबू, स्ट्रेस से जुड़ा है कनेक्शन

काफिर में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए प्रभावी माने जाते हैं.
काफिर में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए प्रभावी माने जाते हैं.

अनोखे स्वाद वाले काफिर नींबू (Kaffir Lime) का इस्तेमाल पकवानों में स्वाद बढ़ाने के लिए भी किया जाता है. वहीं इसके पत्तों का भी इस्तेमाल कुकिंग (Cooking) में किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 7:36 AM IST
  • Share this:
काफिर नींबू (Kaffir Lime) हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसके पत्तों (Leaves) और तेल (Oil) को औषधी के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है. यह एल्कलॉएड, सिट्रोनेलोल, लिमोनेन, और नेरोल जैसे पौषक तत्व से भरपूर है. अनोखे स्वाद वाले काफिर नींबू का इस्तेमाल पकवानों में स्वाद बढ़ाने के लिए भी किया जाता है. वहीं इसके पत्तों का भी इस्तेमाल कुकिंग में किया जाता है. हालांकि इसका स्वाद बाकी नींबुओं की तरह ही होता है लेकिन इसके पत्ते, तेल, और छिलकों को अलग-अलग बीमारियों को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

ओरल हेल्थ
काफिर का हर हिस्सा सेहत के लिए फायदेमंद है. मसूड़ों से जुड़ी समस्याओं से निजात पाने के लिए इसके पत्तों को रगड़ने से बहुत फायदा मिलता है. इससे मसूड़ें हेल्दी रहते हैं और यह मुंह के अंदर जमे बैक्टीरिया को खत्म करता है जो खाने की वजह से अंदर पनपते हैं. वहीं काफिर के ऑयल का इस्तेमाल टूथपेस्ट और माउथवॉश के रूप में भी किया जाता है, जो ओरल हेल्थ की देखभाल करने में मदद करता है.

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में जरूर खाएं ड्रैगन फ्रूट, इम्यूनिटी होती है मजबूत
सूजन करे कम


काफिर के पत्ते और ऑयल दर्द और सूजन जैसी समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करते हैं. इसमें मौजूद एंटी इन्फ्लमेट्री प्रभाव अर्थराइटिस, माइग्रेन, सिरदर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है. इसके अलावा काफिर का इस्तेमाल कीट निवारक के रूप में भी किया जाता है. इसमें मौजूद सिट्रोनेलोल, और लिमोनेन तत्व कीड़ों के कारण होने वाली जलन को कम करते हैं और तुरंत राहत देते हैं.

इम्यूनिटी करता है बूस्ट
काफिर में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए प्रभावी माने जाते हैं. यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संबंधी बीमारियों को रोकने के लिए भी जाना जाता है. वहीं अगर आप कब्ज या फिर पेट से जुड़ी अन्य परेशानियों से जूझ रहे हैं तो काफिर नींबू का सेवन कर सकते हैं. यह पाचन तंत्र को भी मजबूत करता है.

त्वचा और बालों के लिए है फायदेमंद
काफिर नींबू का रस कोशिकाओं से जुड़ी समस्याओं को धीमा करता है जिससे दाग-धब्बे, पिंपल्स और त्वचा से जुड़ी अन्य परेशानियों को दूर करने में मदद मिलती है. इसके अलावा यह बालों से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है. काफिर नींबू के रस को स्कैल्प में लगाने से हेयर फॉल जैसी समस्या से निजात मिलती है.

ब्लड को करता है डिटॉक्स
यह ब्लड को डिटॉक्सीफाई करता है. अगर आप ब्लड से जुड़ी किसी परेशानी का सामना कर रहे हैं तो काफिर नींबू का सेवन कर सकते हैं. इसमें मौजूद पोषक तत्व ब्लड से जुड़ी बीमारियों को खत्म करते हैं और तत्काल राहत प्रदान करते हैं.

इसे भी पढ़ेंः क्‍या है इंटरमिटेंट फास्टिंग, जानें इस उपवास में क्या खाएं और क्या नहीं

स्ट्रेस करता है कम
एरोमाथेरेपी में काफिर ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है. स्ट्रेस या फिर एंग्जाइटी दूर करने के लिए काफिर के ऑयल का उपयोग किया जाता है. ऐसा माना जाता है कि तेल के वाष्प को सांस लेने से शरीर और मन रिलैक्स रहता है.(Disclaimer:इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज