अवसर हमेशा हमारे सामने से आते जाते रहते है पर हम उसे पहचान नहीं पाते

News18Hindi
Updated: June 18, 2018, 4:31 PM IST
अवसर हमेशा हमारे सामने से आते जाते रहते है पर हम उसे पहचान नहीं पाते
प्ररक कथाएं

कई बार हम सिर्फ इसलिए चूक जाते हैं क्योकि हम बड़े अवसर के ताक मे रहते हैं.

  • Share this:
एक बार एक ग्राहक फोटो की दुकान पर गया . उसने वहां पर अजीब से चित्र देखे . पहले चित्र मे चेहरा पूरी तरह बालों से ढका हुआ था और पैरों मे पंख थे. एक दूसरे चित्र मे सिर पीछे से गंजा था.

ग्राहक ने पूछा – यह चित्र किसका है?

दुकानदार ने कहा – अवसर का.

ग्राहक ने पूछा – इसका चेहरा बालों से ढका क्यों है?

दुकानदार ने कहा -क्योंकि अक्सर जब अवसर आता है तो मनुष्य उसे पहचानता नहीं है.

ग्राहक ने पूछा – और इसके पैरो मे पंख क्यों हैं?

दुकानदार ने कहा – वह इसलिए कि यदि इसका उपयोग न हो तो यह तुरंत उड़ जाता है.
Loading...

ग्राहक ने पूछा – और यह दूसरे चित्र मे पीछे से गंजा सिर किसका है?

दुकानदार ने कहा – यह भी अवसर का है . यदि अवसर को सामने से ही बालो से पकड़ लेंगे तो वह आपका है.

अगर आपने उसे थोड़ी देरी से पकड़ने की कोशिश की तो पीछे का गंजा सिर हाथ आएगा और वो फिसलकर निकल जाएगा. वह ग्राहक इन चित्रो का रहस्य जानकर हैरान था, पर अब वह बात समझ चुका था.

लोग कई बार कहते हैं  कि ’हमे अवसर ही नही मिला’ लेकिन ये अपनी जिम्मेदारी से भागने और अपनी गलती को छुपाने का बस एक बहाना है . भगवान ने हमे ढेरों अवसरो के बीच जन्म दिया है . अवसर हमेशा हमारे सामने से आते जाते रहते है पर हम उसे पहचान नहीं पाते या पहचानने मे देर कर देते है . और कई बार हम सिर्फ इसलिए चूक जाते हैं क्योकि हम बड़े अवसर के ताक मे रहते हैं . पर अवसर बड़ा या छोटा नहीं होता है, हमें हर अवसर का भरपूर उपयोग करना चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 18, 2018, 4:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...