पकौड़े खाने हैं तो चले आइए दिल्ली के सरोजनी नगर, 15 तरह की वैरायटीज हैं मौजूद

‘खानदानी पकौड़े वाला’ दुकान में वर्ष 1962 से पकौड़े बेचे जा रहे हैं.

Khandani Pakore Wala: इस दुकान पर अलग ही अंदाज में पकौड़े बेचे जाते हैं. विभिन्न वैरायटी के पकौड़ों को तलकर एक काउंटर में रख दिया जाता है.

  • Share this:
    (डॉ. रामेश्वर दयाल)

    Khandani Pakore Wala: जब भी मौसम सुहाना हो जाता है, बादलों से रिमझिम बारिश (Rain) गिरती है, ठंडी बयार मन को आल्हादित करती है तब मन की अपनी उड़ान होती है, लेकिन तन तो पकौड़ों (Pakora) के लिए मचलने लगता है. इस मौसम में गरमा-गरम पकौड़े हों, साथ में खट्टी-मीठी चटनी और चाय की चुस्कियां भी चल रही हों तो उस वक्त जिंदगी तृप्तमय नजर आने लगेगी. तो आज हम आपको गरमा-गरम पकौड़ों का स्वाद चखवाते हैं. दुकान पर पकौड़ों की एक से एक वैरायटी है. खास बात यह है कि वहां पकौड़े बेचने का अंदाज निराला है.

    हरी मिर्च का पकौड़ा 5 रुपये का तो पनीर का पकौड़ा 20 रुपये में मौजूद है
    यह दुकान है साउथ दिल्ली स्थित सरोजनी नगर इलाके में और दुकान का नाम है 'खानदानी पकौड़े वाला'. अब हम सीधे पकौड़ों की बात करते हैं. यहां पर पकौड़ों की करीब 15 वैरायटी है, जिसमें कुछ सीजनल है, जैसे पतौड़ (अरबी के पत्ते), करेला, स्वीट कॉर्न, कमल ककड़ी आदि. रोज बेचे जाने वाले पकौड़ों में पनीर, सोया ब्रेड आलू, प्याज, पालक, गोभी, हरी मिर्च आदि के पकौड़े शामिल हैं. दुकान में विभिन्न वैरायटी के पकौड़े तलते रहते हैं. जब ये पकौड़े गरम तेल से निकलते हैं तो सारा माहौल ही पकौड़ामय हो जाता है. पकौड़ों में पनीर व सोया पकौड़ों की कीमत 20 रुपये है. बाकी सभी का मूल्य 16 रुपये प्रति पीस है. हां, चटपटी मिर्च का पकौड़ा मात्र 5 रुपये में बेचा जाता है.



    इसे भी पढ़ेंः दिल्ली के दरियागंज में मिलेगा देसी आइसक्रीम का स्वाद, पहुंचें 'ज्ञानी फ्रूट आइसक्रीम' की दुकान पर

    अलग ही अंदाज में बेचे जाते हैं पकौड़े
    इस दुकान पर अलग ही अंदाज में पकौड़े बेचे जाते हैं. विभिन्न वैरायटी के पकौड़ों को तलकर एक काउंटर में रख दिया जाता है. आपको जो पकौड़ा पसंद है, उसका नाम बताइए. आपकी पसंद के गरमा-गरम पकौड़े पेपर प्लेट में आपको मिल जाएंगे. काउंटर के बाहर हरी चटनी का खास डिब्बा रखा होता है, उसमें से चटनी डालिए और जहां मन करे, स्कूटर की सीट पर कार के बोनट पर या हाथों में लेकर चटपटे पकौड़ों का आनंद उठाइए. चटपटे पकौड़े खाने के बाद गले को तर करने का मन करे तो 50 रुपये में बादाम मिल्क शेक हाजिर है. पैकिंग के लिए भी बढ़िया सुविधा है. इन पकौड़ों को घर ले जाएंगे तो लाजिमी है कि घरवाले आपको जरूर दुआएं देंगे.



    इसे भी पढ़ेंः मुंबई की भेलपुरी खानी हो तो दिल्ली के 'बॉम्बे भेल हाउस' पहुंचें, साथ में मिलेगी गुजरात की नमकीन

    वर्ष 1962 से बेचे जा रहे हैं पकौड़े, चौथी पीढ़ी के हाथ में बागडोर
    ‘खानदानी पकौड़े वाला’ दुकान में वर्ष 1962 से पकौड़े बेचे जा रहे हैं. यह दुकान कहां पर है, यह भी जान लें. रिंग रोड पर धौला कुआं से लाजपत नगर की ओर चलेंगे तो बाईं ओर एक सड़क सरोजनी नगर की ओर मुड़ती है. उसी के कोने पर बनी मार्केट के शुरू में ही पकौड़े वाले की दुकान है. शुरू में बालाराम ने पकौड़े बेचने का काम शुरू किया. उसके बाद उनके बेटे कन्हैया लाल ने यह काम संभाला. फिर उनके दो बेटे ओमप्रकाश और विजय ने कामकाज शुरू किया. अब ओमप्रकाश के बेटे प्रतीक (विक्की) भी साथ में खानदानी काम संभाल रहे हैं. दुकान का समय सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक है. अवकाश कोई नहीं है. यानी जब मन करे, ‘खानदानी’ पकौड़े खाए जा सकते हैं. दुकान पर मिठाइयां भी मिलती है, लेकिन बाजी तो पकौड़ों के हाथ में है.

    नजदीकी मेट्रो स्टेशन: भीकाजी कामा प्लेस

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.