लाइव टीवी

Health Alert: चीन में तेजी से पैर पसार रहा है यह वायरस, निमोनिया से मिलते हैं लक्षण

News18Hindi
Updated: January 21, 2020, 4:50 PM IST
Health Alert: चीन में तेजी से पैर पसार रहा है यह वायरस, निमोनिया से मिलते हैं लक्षण
कोरोना वायरस भारत में न फैले इसके लिए भारत सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है.

कोरोना वायरस (Corona virus) के लक्षण निमोनिया जैसे ही हैं. कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज को सबसे पहले सांस लेने में परेशानी होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2020, 4:50 PM IST
  • Share this:
चीन में इन दिनों कोरोना वायरस (Corona virus) का प्रकोप दिख रहा है. अब तक इस वायरस से कई लोगों की मौत हो चुकी है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस वायरस पर कंट्रोल पाने के लिए आदेश जारी कर दिए हैं.

चीन में इस वायरस के फैलने के बाद भारत, अमेरिका समेत कई देशों में सार्स वायरस (SARS Virus) के लिए अलर्ट जारी कर दिया है. लॉस एंजेलिस टाइम्स के मुताबिक चीन के बाद इस खतरनाक वायरस ने थाईलैंड और जापान में भी अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं. वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट के मुताबिक, यह वायरस तेजी से अपने पैर पसार रहा है और अब तक 65 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं.

भारत सरकार ने की पुष्टि
चीन के साथ भारत सरकार ने भी कोरोना वायरस की पुष्टि की है. भारत में यह वायरस पैर न पसार सके, इसके लिए एयरपोर्ट पर यात्रियों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है. यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के मुताबिक Severe acute respiratory syndrome या SARS निमोनिया का खतरनाक रूप है. आइए जानते हैं क्या है कोरोना वायरस और इसके लक्षणों के बारे में...

सी-फूड से जुड़ा हुआ है
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, कोरोना वायरस सी-फूड से जुड़ी हुई बीमारी है. यह बीमारी चीन के सी-फूड बाजार से शुरू हुई. डब्लूएचओ के मुताबिक, यह वायरस ऊंट, बिल्ली, चमगादड़ सहित कई पशुओं में फैलने के बाद इंसानों में तेजी से फैल रहा है.

इसे भी पढ़ें : महिलाओं को वर्कआउट के बाद ही करना चाहिए सेक्स, फायदे कर देंगे हैरानक्या है कोरोना वायरस के लक्षण
इस वायरस के लक्षण निमोनिया जैसे ही हैं. कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज को सबसे पहले सांस लेने में परेशानी होती है. इसके अलावा यह लक्षण भी देखने को मिल सकते हैं.

- सांस लेने में परेशानी
- गले में दर्द या जलन का महसूस होना
- जुकाम, खांसी और बुखार
- किडनी से जुड़ी कई दिक्कतें भी बढ़ सकती हैं

क्या है कोरोना वायरस का इलाज
वर्तमान में कोरोना वायरस से बचाव के लिए किसी तरह का कोई वैक्सीन मौजूद नहीं है. इस वायरस से पीड़ित लोगों का अन्य दवाइयों के साथ इलाज किया जा रहा है. वैज्ञानिक इस वायरस का इलाज और वैक्सीन बनाने का काम कर रहे हैं.

ऐसे व्यक्तियों के संपर्क में आने से बचें जो बीमारी हों.
ऐसे व्यक्तियों के संपर्क में आने से बचें जो बीमार हों.


लाइफस्टाइल में इन बातों का रखें ध्यान
- कोरोना वायरस सी फूड से फैलता है, इसलिए वर्तमान में किसी तरह का सी फूड जैसे की मछली, झींगा, क्रेब्स का भोजन में इस्तेमाल करने से बचें.

- बाहर या ऑफिस में दूसरे लोगों से हाथ मिलाने से बचे. अगर, किसी से हाथ मिलाते भी हैं तो तुरंत हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं.

- ऐसे व्यक्तियों के संपर्क में आने से बचें जो बीमार हों. खासकर जिन लोगों को खांसी, बुखार, जुकाम जैसी बीमारियां हों उनके संपर्क में न आएं.

- यदि घर में कोई पालतू जानवर है तो उसे वैक्सीन दिलवाएं. जानवरों के संपर्क में न आएं.

- घर से बाहर निकलते वक्त मुंह को ढककर रखें. संभव हो तो मुंह पर मास्क या कपड़ा लगाकर ही घर से बाहर निकलें.

एयरपोर्ट पर खास इंतजाम
कोरोना वायरस भारत में न फैले इसके लिए भारत सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है.
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय दिल्ली, मुंबई और कोलकाता जैसे बड़े एयरपोर्ट्स पर आने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की जांच कर रही है. इन पर्यटकों की जांच थर्मल स्कैनर से की जा रही है.

क्या होता है थर्मल स्कैनर
जानकारी के लिए बता दें कि थर्मल स्कैनर एक खास तरह का डिवाइस होता है. थर्मल स्कैनर से लंबी-लंबी लाइनों में खड़े लोगों में बुखार का पता आसानी से लगाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें :- चीन के छिपाने की वजह से ज्यादा गंभीर होकर फैल रही रहस्यमय बीमारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 4:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर