जानिए क्या है लू? क्यों हो जाती है लू लगने से मौत

जब शरीर में पानी की कमी डिहाइड्रेशन हो जाता है तो बॉडी से पसीना निकलने की प्रक्रिया बंद हो जाती है. जब बाहरी वातावरण का तापमान बढ़कर 45° डिग्री से ज्यादा हो जाता है तो बॉडी से पसीना निकलना एकदम बंद हो जाता है जिससे शरीर ठंडा नहीं रह पाता है.

News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 8:49 AM IST
जानिए क्या है लू? क्यों हो जाती है लू लगने से मौत
जानिए क्या है लू? क्यों हो जाती है लू लगने से मौत
News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 8:49 AM IST
गर्मियों के मौसम में शुष्क और गर्म हवाओं को लू कहते हैं. मई या जून के मौसम में जब हवा उत्तर-पूर्व तथा पश्चिम से पूरब दिशा से आती है तो वो काफी गर्म होती है. ये इतनी खतनाक होती हैं कि इससे लोगों की जान भी जा सकती है. लू लगने का मुख्य कारण है शरीर में पानी और नमक की कमी.

लू के लक्षण:


लू लगने पर सिर में भारीपन महसूस होता है. खून का बहाव बॉडी में बहुत तेजी से होता है.

सांसे काफी तेज चलती हैं. ऐसा लगता है जैसे शरीर टूट रहा है. अचानक से काफी तेज बुखार आता है. आंखों में भी जलन होती है और पानी आता है.

गर्मियों में लू से बचने के लिए ऐसे पिएं सत्तू, गर्भवती महिलाओं के लिए भी है अमृत

लू से होती है मौत:
गर्मियों के दिनों में कई बार लोग जरूरी काम या घूमने के लिए घर से बाहर निकलते हैं तब उनके शरीर का सामान्य तापमान 37° सेल्शियस होता है. दरअसल, इस तापमान पर ही हमारे अंग सही तरह से काम कर पाते हैं. लेकिन गर्म हवा और लू की वजह से शरीर का तापमान सामान्य से बहुत ज्यादा हो जाता है और शरीर के कई महत्वपूर्ण अंग काम करना बंद कर देते हैं. इस वजह से लोगों की मौत हो जाती है.Opinion- प्यार की तलाश में हैं लोग! क्या शादी से उठ गया है विश्वास?

शरीर के तापमान को नियंत्रित रखें:
हमारे शरीर में ऑटोमेटिक कूलिंग होती रहती है. दरअसल, पसीने के निकलने की वजह से शरीर ठंडा रहता है और तापमान 37° सेल्सियस बना रहता है. लेकिन जब शरीर में पानी की कमी डिहाइड्रेशन हो जाता है तो बॉडी से पसीना निकलने की प्रक्रिया बंद हो जाती है. जब बाहरी वातावरण का तापमान बढ़कर 45° डिग्री से ज्यादा हो जाता है तो बॉडी से पसीना निकलना एकदम बंद हो जाता है जिससे शरीर ठंडा नहीं रह पाता है. तब शरीर का तापमान सामान्य से कई गुना ज्यादा हो जाता है. जब शरीर का तापमान 42° सेल्सियस के करीब पहुंचता है तो खून अचानक से गर्म होने लगता है. सांस लेने में दिक्कत आती है. ब्लडप्रेशर काफी कम हो जाता है. धीरे-धीरे शरीर के सारे अंग काम करना बंद कर देते हैं और मौत हो जाती है.

लाइफस्टाइल, खानपान, रिश्ते और धर्म से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार