Home /News /lifestyle /

वॉकिंग मेडिटेशन से दूर होता है डिप्रेशन, मिलते हैं कई फायदे

वॉकिंग मेडिटेशन से दूर होता है डिप्रेशन, मिलते हैं कई फायदे

वॉकिंग मेडिटेशन से तनाव दूर होता है (Image/Shutterstock)

वॉकिंग मेडिटेशन से तनाव दूर होता है (Image/Shutterstock)

Walking Meditation Benefits: वॉकिंग मेडिटेशन (Walking meditation) नॉर्मल मेडिटेशन की तरह ही ध्यान लगाने की एक प्रक्रिया (Process) है. इसमें बैठकर ध्यान लगाने की जगह चलते हुए ध्यान लगाना होता है.

    Walking Meditation Health Benefits: मेडिटेशन (Meditation) के बारे में आपने कई बार सुना होगा और शायद किया भी होगा लेकिन क्या आपने कभी वॉकिंग मेडिटेशन (Walking meditation) के बारे में सुना या पढ़ा है? अगर नहीं तो बता दें कि वॉकिंग मेडिटेशन, नॉर्मल मेडिटेशन की तरह ही ध्यान लगाने की एक प्रक्रिया है. इसकी खास बात ये है कि इसमें चलते हुए ध्यान लगाना होता है. आइए, जानते हैं इसके बारे में.

    क्या है वॉकिंग मेडिटेशन

    वॉकिंग मेडिटेशन में आपको टहलते हुए ध्यान लगाना होता है. इस दौरान आपको आपकी आंखें खुली रखनी होती हैं और अपने हर कदम पर फोकस करना होता है. साथ ही आस-पास के शोर को नजरअंदाज करना होता है.

    ये भी पढ़ें: मेंटल स्ट्रेस और डिप्रेशन को दूर करके सुकून का एहसास देगा चॉकलेट मेडिटेशन

    कैसे करें वॉकिंग मेडिटेशन?

    सबसे पहले आप आरामदायक कपड़े और जूते पहनें. किसी शांत वातावरण वाले साफ-सुथरे पार्क या बगीचे को चुनें, जहां शोर कम हो. वॉक का समय शुरुआत में केवल 5 मिनट का ही रखें. वॉकिंग मेडिटेशन करने के लिए सबसे पहले आप अपने दोनों पैरों पर बराबर का वजन डालकर सीधे खड़े हो जाएं. इसके बाद लंबी सांस लें. चलने से पहले अपने पैरों  पर ध्यान केंद्रित करें और महसूस करें कि वो जमीन को छू रहे हैं. अब चलना शुरू करें लेकिन ध्यान रखें कि बहुत तेजी से नहीं चलना है बल्कि छोटे-छोटे कदम रखते हुए धीरे-धीरे चलना है. अपने कदमों के साथ श्वास को समन्वयित करें यानी सांस को लेने और छोड़ने के साथ कदमों का तालमेल बिठाएं. इस दौरान अपनी गर्दन, कंधों और पेट की मांसपेशियों को ढीला छोड़ दें. अपने फोकस करने की क्षमता विकसित करें और इस दौरान अपनी आंखें खुली रखें. आपको बता दें कि इससे कई तरह के फायदे शरीर को होते हैं.

    तनाव दूर होता और नींद अच्छी आती है

    वॉकिंग मेडिटेशन करने से मांसपेशियों का तनाव कम होता है. साथ ही अनिद्रा की दिक्कत दूर होती है और नींद अच्छी आती है. साथ ही एकाग्रता भी बढ़ती है.

    ब्लड शुगर लेवल और ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है.

    वॉकिंग मेडिटेशन करने से ब्लड शुगर लेवल और ब्लड सर्कुलेशन सही रखने में मदद मिलती है. इस मेडिटेशन से टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों को काफी राहत मिलती है.

    ड्रिप्रेशन दूर होता है

    वॉकिंग मेडिटेशन करने से शारीरिक ही नहीं मानसिक तौर पर भी कई दिक्कतें कम होती हैं. इससे डिप्रेशन (Depression) की दिक्कत से धीरे-धीरे निजात मिलता है. साथ ही मूड बेहतर होता है और ब्लड प्रेशर भी सही रहता है.

    पाचन क्रिया सही काम करती है

    पाचन क्रिया को सही रखने में भी वॉकिंग मेडिटेशन मदद करता है. इससे पेट में गैस, अपच, कब्ज जैसी दिक्कत भी दूर होती हैं. साथ ही भोजन को पचने में भी काफी  मदद मिलती है.

    ये भी पढ़ें: ये 5 नैचुरल चीजें तनाव भगाने में करेंगी मदद, नहीं पड़ेगी दवा की जरूरत

    एकाग्रता और संतुलन बढ़ता है

    वॉकिंग मेडिटेशन करने से एकाग्रता और संतुलन को बढ़ने में भी मदद मिलती है. साथ ही पैरों, एड़ियों और तलवों में होने वाला दर्द भी धीरे-धीरे कम होने लगता है. 

    (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health, Health benefit, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर