लाइव टीवी

मूडी हो रहे हैं आप? जरा सोने के समय पर दें ध्यान

News18Hindi
Updated: October 19, 2019, 1:18 PM IST
मूडी हो रहे हैं आप? जरा सोने के समय पर दें ध्यान
अनिद्रा का मूड पर गहरा असर पड़ता है

जब आपके सोने और जागने का समय निश्चित नहीं होता है तो कई बार आपके व्यवहार पर भी इसका काफी व्यापक असर पड़ता है. आइए जानते हैं इसके बारे में...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2019, 1:18 PM IST
  • Share this:
क्या आपको भी कभी कभी महसूस होता है कि आप कभी बेवजह गुस्सा करते हैं या आपके जानने वालों को लगता है कि आपमें काफी तेजी से मूड स्विंग्स होते हैं. अगर आपके साथ यह समस्या सामने आ रही तो अपने सोने के समय आर पैटर्न (sleep time pattern) पर थोड़ा ध्यान दें. जब आपके सोने और जागने का समय निश्चित नहीं होता है तो कई बार आपके व्यवहार पर भी इसका काफी व्यापक असर पड़ता है. आइए जानते हैं इसके बारे में...

बेटरहेल्थ वेबसाइट के अनुसार, मूड में परिवर्तन और अनिद्रा का गहरा संबंध है. और ये एक दूसरे के पूरक की तरह का करते हैं. अनिद्रा की समस्या की वजह से आपको मूड स्विंग्स की शिकायत हो सकती है और मूड स्विंग्स की वजह से आपकी नींद भी प्रभावित होती है.

इसे भी पढ़ेंः Golden Milk: जानिए आखिर क्या है गोल्डन मिल्क, क्यों दुनिया में बढ़ी मांग

लंबे समय तक अगर आपको अनिद्रा की शिकायत रहती है तो इससे आपको सेहत संबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि ह्रदय से संबंधित रोग और डायबिटीज. न सो पाने से या कम नींद लेने से कई बार आपके स्वभाव में चिढ़चिढापन और गुस्से जैसे लक्षण भी नजर आ सकते हैं.

कई बार अनिद्रा/इंसोमनिया के तार डिप्रेशन से भी जुड़े हो सकते हैं. लेकिन 15 प्रतिशत लोग डिप्रेशन में अलग तरह से भी व्यवहार करते हैं. डिप्रेशन में जहां कुछ लोगों को नींद नहीं आती है वहीं पंद्रह फीसदी लोग ऐसे भी होते हैं जो अवसाद, तनाव या चिंता होने पर जरूरत से ज्यादा सोते हैं.

अगर कभी आपको महसूस हो कि आपका शरीर पहले की अपेक्षा अधिक संवेदनशील होता जा रहा है तो एक बार अपने स्लीप पैटर्न पर नजर डालें. जब किसी भी वजह से लंबे समय से ठीक से नींद नहीं ले पा रहे हैं तो इसका असर आपकी इम्युनिटी यानी कि रोग प्रतिरोधक क्षमता पर भी पड़ेगा. यही वजह है कि कई बार अनिद्रा की समस्या होने पर आपकी बॉडी काफे सेंसेटिव हो जाती है.

इसे भी पढ़ेंः Health Tips: सर्दियों में तेल मालिश के इन फायदों को जानते हैं आप, जानें क्या है शिरोधारा
Loading...

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 1:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...