लाइव टीवी

इस उपाय से अब लकवे के मरीज भी चल सकेंगे

भाषा
Updated: October 4, 2019, 2:15 PM IST
इस उपाय से अब लकवे के मरीज भी चल सकेंगे
अब लकवे में भी चल फिर पाएंगे लोग, जानें कैसे

टेट्राप्लेजिक उन लोगों को कहा जाता है जो किसी चोट या बीमारी के कारण लकवे से ग्रस्त हो जाते हैं जिसके चलते उनके हाथ-पैर पूरी तरह या आंशिक रूप से काम करना बंद कर देते हैं.

  • Share this:
लकवे की बीमारी में मरीज के हाथ पैर काम करना बंद कर देते हैं और वो वो नियमित काम करने और चलने फिरने में भी असमर्थ हो जाता है. अपने दैनिक कामकाज के लिए भी लकवाग्रस्त लोग दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है. लेकिन अब लकवा से पीड़ित लोगों के लिए एक आविष्कार उम्मीद की नई किरण साबित हो सकता है. दरअसल, वैज्ञानिकों ने लकवे से पीड़ित लोगों के इलाज के लिए 'एग्जोस्केलेटन' (बाहरी ढांचा) बनाया है. इसकी मदद से लकवाग्रस्त लोग चल फिर सकते हैं.  इसकी मदद से फ्रांस से परेशान एक मरीज (टेट्राप्लेजिक)चलने फिरने में सक्षम हो पाया है.

इसे भी पढ़ेंः World Smile Day: जानें कैसे हुई वर्ल्ड स्माइल डे की शुरुआत, इस तरह हरदम मुस्कुराएं, हार जाएंगी परेशानियां

टेट्राप्लेजिक उन लोगों को कहा जाता है जो किसी चोट या बीमारी के कारण लकवे से ग्रस्त हो जाते हैं जिसके चलते उनके हाथ-पैर पूरी तरह या आंशिक रूप से काम करना बंद कर देते हैं. मरीज को इसका इस्तेमाल करना सिखाने के लिए कई महीनों तक प्रशिक्षण दिया गया। इसमें उसे आधारभूत क्रियाएं करने के लिए मस्तिष्क के संकेतों के जरिए कंप्यूटर आधारित साकार रूपों को नियंत्रित करना सिखाया गया.

इसे भी पढ़ेंः  सावधान! क्या आप भी देर तक सोते हैं, आज ही बदलें ये आदत, नहीं हो तो सकते हैं बेहद बीमार

यह परीक्षण करने वाले डॉक्टरों ने आगाह किया है कि इस उपकरण को सार्वजनिक प्रयोग के लिए सामने रखने में अभी कई साल का वक्त है लेकिन उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि इसमें मरीजों के जीवन का स्वरूप सुधारने तथा उन्हें और अधिक स्वायत्ता देने की क्षमता है. लायोन के 28 वर्षीय थिबॉल्ट ने कहा कि इस प्रौद्योगिकी ने उसे नया जीवन दिया है। नाइट क्लब में एक हादसे के दौरान चोट लगने के बाद वह लकवाग्रस्त हो गया था.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 12:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...