कोरोना काल में बच्चों को पढ़ाने के लिए अपनाएं ये लर्निंग स्किल, देखें कमाल

छोटे बच्चों की स्टडी के लिए सेट करें रुटीन-Image credit/pexels-allan-mas

In Covid times Tips to Increase Child Learning Skill And Study- जिन बच्चों का स्कूल में दाखिला इस वर्ष होना था, मगर कोरोना की वजह से (Due to corona) नहीं हो सका. उन बच्चों की स्टडी और लर्निंग स्किल (Study and learning skills) को घर में किस तरह से निखारा जाये, जानें.

  • Share this:
    कोरोना के चलते (Due to Corona) पिछले एक वर्ष से जितना मेंटल स्ट्रेस बड़ों को हुआ है, बच्चे भी कम परेशान नहीं हुए हैं. हालांकि बच्चों की परेशानी कोरोना और उसकी वजह से प्रभावित हुए रोज़गार की वजह से नहीं है. बच्चे पिछले एक वर्ष से जिस तरह से घर में रहने को मजबूर हैं (Children are forced to stay at home) और स्कूल, पार्क और बाहर घूमने नहीं जा पा रहे हैं, उसने बच्चों में काफी बोरियत भर दी है. रही बात पढ़ाई की तो जो बच्चे स्कूल जाते रहे हैं, उनकी ऑनलाइन क्लास तो स्कूल की तरफ से लग ही जाती हैं. लेकिन दिक्कत उन बच्चों के लिए ज्यादा है, जिनका दाखिला पहली बार पिछले वर्ष या इस वर्ष स्कूल में करवाया जाना था लेकिन कोरोना की वजह से नहीं हो सका. ऐसे बच्चों की स्टडी और लर्निंग स्किल को (Study and learning skills of children) किस तरह से निखारा जाये, ये दिक्कत पेरेंट्स के साथ बनी हुई है. आइये बताते हैं कि घर पर बच्चों की स्टडी और लर्निंग स्किल निखारने के लिए आप क्या कर सकते हैं.

    बच्चों का रूटीन सेट करें

    लम्बे समय से घर में रहने की वजह से बच्चों का क्या, बड़ों का भी रुटीन भी काफी गड़बड़ा गया है. हालांकि बड़े तो ज़रूरत के हिसाब से इसको फिर से सही कर सकते हैं. लेकिन बच्चों के लिए रुटीन सेट करना बेहद ज़रूरी है क्योंकि इस छोटी सी उम्र में उनकी जो आदतें पड़ जाएंगी उसको कोरोना काल खत्म होने के बाद बदल पाना आसान नहीं होगा. इसलिए ज़रूरी है कि बच्चों के सोने, जागने, नित्यकर्म, खाने, पढ़ने और खेलने का रुटीन अभी से सेट किया जाए. साथ ही उस रुटीन को बच्चों से प्यार के साथ फॉलो भी करवाया जाये. इससे बच्चों में बोरियत भी नहीं होगी और आगे चलकर दिक्कत भी नहीं होगी.

    ये भी पढ़ें: बच्चों के कमरे में कभी न रखें ये चीजें, हो सकती हैं खतरनाक


    निखारें स्टडी और लर्निंग स्किल

    बच्चों की स्टडी और लर्निंग स्किल को निखारने के लिए ज़रूरी है कि पेरेंट्स या घर के अन्य सदस्य बच्चों की क्लास खुद शुरू करें. बच्चे की पढ़ाई का समय तय करें और रोज़ाना उसकी क्लास लें. पढ़ाई की शुरुआत शॉर्ट लर्निंग सेशन से करें फिर धीरे-धीरे इसको आधा घंटा फिर एक घंटा इस तरह से बढ़ाएं. आप बच्चों को ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से पढ़ाएं ताकि उनकी स्टडी और लर्निंग स्किल में निखार आ सके.

    ये भी पढ़ें: बच्चों के लिए खिलौने खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान


    सवालों के दें जवाब और खुद भी पूछें सवाल

    बच्चे के सवाल चाहें पढ़ाई से जुड़े हों या समाज और चीजों से, झुंझलाने की बजाय उसके सवालों का जवाब प्यार और धैर्य के साथ दें. तभी उसकी लर्निंग स्किल को निखारने में मदद मिलेगी. अगर बच्चा खुद से सवाल नहीं पूछता है, तो उसको सवाल पूछने के लिए प्रोत्साहित करें, साथ ही उससे खुद भी सवाल करें. इससे उसकी जिज्ञासा को बढ़ावा मिलेगा और उसकी जानकारी भी बढ़ेगी.
    Published by:Meenal Tingel
    First published: