• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • Belly Fat: गंभीर बीमारियों से बचना है तो ऐसे कम करें बैली फैट

Belly Fat: गंभीर बीमारियों से बचना है तो ऐसे कम करें बैली फैट

बैली फैट के कारण हो सकते हैं ह्रदय संबंधी रोग (Image-Shutterstock)

बैली फैट के कारण हो सकते हैं ह्रदय संबंधी रोग (Image-Shutterstock)

Impact Of Belly Fat: एक अध्यन के अनुसार कमर पर फैट जमा होने के कारण ह्रदय रोग, टाइप-2 डायबिटीज और कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. ऐसे में कुछ तरीकों के बैली फैट से छुटकारा पा कर कई सारी परेशानियों को दूर भगाया जा सकता है.

  • Share this:

    Get Rid Of Belly Fat: देर तक बैठे रहने और नियमित कसरत न करने के कारण बैली फैट (Belly Fat) इकट्ठा होने लगता है. आपको बता दें कि एक्सपर्ट्स के मुताबिक कमर के आसपास चर्बी जमा होना एक चिंता का विषय है क्योंकि इसकी वजह से कई सारी दिक्कतें झेलनी पड़ सकती हैं. आपको बता दें कि अनहेल्दी फैट (Unhealthy Fat) को विसरल फैट (Visceral Fat) कहा जाता है. दैनिक भास्कर में छपी हार्वर्ड मेडिकल हेल्थ (Harvard Medical Health) की रिपोर्ट के मुताबिक अगर कमर पर फैट जमा हो रहा है तो इससे ह्रदय रोग का खतरा बढ़ सकता है. यह दरअसल एक चेतावनी की तरह है. जानकारी के मुताबिक ज्यादा चर्बी दिल संबंधी बीमारियों के साथ-साथ टाइप-2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) और कैंसर का खतरा भी पैदा कर देती है. हांलाकि, ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है. आप इन 4 तरीकों से बैली फैट से छुटकारा पा सकते हैं.

    नियमित एक्सरसाइज और वॉक करना

    आपको बता दें कि रोज नियमित तौर पर कसरत करने और वॉक करने से आप पेट और कमर की चर्बी को कम कर सकते हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक हाई इंटेंसिटी ट्रेनिंग और वर्कआउट बहुत मददगार साबित होती है. हांलाकि, आपको ऐसा शुरुआत में किसी एक्सपर्ट की देख-रेख में ही करना चाहिए.

    पूरी नींद लेना

    जितना जरूरी कसरत करना है, उतना ही जरूरी आराम करना और पूरी नींद लेना भी है. जानकारी के लिए बता दें कि कम नींद लेने या अनिद्रा के कारण भूख पर असर पड़ता है. शारीरिक तौर पर थकान महसूस होती है और बॉडी में ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) भी असंतुलित हो जाता है. इसलिए 7-8 घंटे की नींद एक स्वस्थ शरीर के लिए बहुत जरूरी है.

    यह भी पढ़ें- तनाव और थकान को करना है दूर तो लगाएं चंदन का लेप, जानें इसके फायदे

    सही मात्रा में सही खाना

    हम किस चीज का सेवन कर रहे हैं, हमें इस पर भी नजर रखने की बहुत जरूरत है. आपको बता दें कि शरीर में होने वाली मेटाबॉलिज्म (Metabolism) प्रक्रिया के दौरान रोज 80 से 100 कैलोरी खर्च होती हैं. ऐसे में जरूरत से ज्यादा कैलोरी का सेवन न करने की सलाह दी जाती है. साथ ही सही मात्रा में सही पोषण लेने के लिए भी कहा जाता है. आप अपनी बॉडी टाइप के अनुसार डॉक्टर या डाइटिशियन (Dietician) से अपने लिए डाइट चार्ट (Diet Chart) बनवा सकते हैं.

    यह भी पढ़ें- रोज खाली पेट पिएं ‘तुलसी का पानी’, इन परेशानियों से मिलेगी मुक्ति

    भूखे न रहें

    आपको बता दें कि डॉक्टर्स कभी वजन कम करने और मोटापा घटाने के लिए भूखा रहने की सलाह नहीं देते हैं. विशेषज्ञों के अनुसार वजन कम करने के लिए जिनता खाना खाया जाए, उससे 500 कैलोरी ज्यादा बर्न करनी चाहिए. साइंस की भाषा में इसे हेल्दी कैलोरी डेफिसिट (Healthy Calorie Deficit) कहा जाता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज