जानें क्या होते हैं Menstrual Cups, कौन सा मेंस्ट्रुअल कप है आपके लिए सही

मेंस्ट्रुअल कप घंटी के आकार का मुलायम और लचीले लेटेक्स का बना एक कप होता है.
मेंस्ट्रुअल कप घंटी के आकार का मुलायम और लचीले लेटेक्स का बना एक कप होता है.

Menstrual Cup एक स्त्री के लिए स्वच्छता उपकरण है जिसे पीरियड्स (Menstruation) के दौरान वजाइना (Vagina) में डाला जाता है. इसका उद्देश्य गर्भाशय से निकलने वाले रक्त को एकत्रित करना और उसे कपड़ों पर फैलने से बचाना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 8:27 AM IST
  • Share this:
युवावस्था के दौरान लड़कियों के शरीर में सबसे अहम बदलाव होने वाला होता है. 12 से 15 साल की उम्र की लड़की के अंडाशय हर महीने एक विकसित डिम्ब (अंडा) उत्पन्न करना शुरू कर देते हैं. वह अंडा अंडवाहिका नली (फैलोपियन ट्यूब) के द्वारा नीचे जाता है जो कि अंडाशय को गर्भाशय से जोड़ती है. जब अंडा गर्भाशय में पहुंचता है, उसका अस्तर रक्त और तरल पदार्थ से गाढ़ा हो जाता है. ऐसा इसलिए होता है कि यदि अंडा उर्वरित हो जाए, तो वह बढ़ सकेगा और शिशु के जन्म के लिए उसके स्तर में विकसित हो सकेगा. यदि वह डिम्ब पुरुष के शुक्राणु से सम्मिलन न हो तो वह स्राव बन जाता है जो कि योनि से निष्कासित हो जाता है. इस स्राव को मासिक धर्म, पीरियड्स, रजोधर्म या माहवारी (Menstruation) कहते हैं. शरीर में चक्रीयहॉर्मोंस में होने वाले इन बदलावों की वजह से गर्भाशय से नियमित तौर पर खून का स्राव होता है. एक माहवारी चक्र 21-35 दिनों का हो सकता है. चक्र की अवधि से तात्‍पर्य है, माहवारी आने के पहले दिन से लेकर अगली माहवारी आने के पहले दिन तक की अवधि.

Menstrual Cup क्या है?
Menstrual Cup एक स्त्री के लिए स्वच्छता उपकरण है जिसे पीरियड्स के दौरान वजाइना (Vagina) में डाला जाता है. इसका उद्देश्य गर्भाशय से निकलने वाले रक्त को एकत्रित करना और उसे कपड़ों पर फैलने से बचाना है. Menstrual Cup आम तौर पर लचीले मेडिकल ग्रेड सिलिकॉन से बने होते हैं और एक छोटे से तने के साथ घंटी के आकार के होते हैं.

इसे भी पढ़ेंः खून में जिंक की कमी से बढ़ सकता है कोरोना वायरस का खतरा, शोध में खुलासा
Menstrual Cup


वर्तमान में मेंस्ट्रुअल कप सबसे कम इस्तेमाल किया जाता है. मेंस्ट्रुअल कप घंटी के आकार का मुलायम और लचीले लेटेक्स का बना एक कप होता है. मेंस्ट्रुअल कप को कई बार इस्तेमाल किया जा सकता है. लेकिन सिंगल यूज के लिए भी मेंस्ट्रुअल कप मिलते हैं.

मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग कितना सुरक्षित है?
मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग बहुत पहले से होता आ रहा है. लेकिन जागरूकता की कमी के कारण ज्यादातर महिलाएं इसके बारे में नहीं जानती. कप को आप कई बार इस्तेमाल कर सकते हैं, जिसके कारण एक बार पैसे लगाने के बाद आपको कई महीनों तक खर्च करने की जरूरत नहीं होती है.

Menstrual Cup के प्रकार

कीपर कप (Keeper Cup)
यह छोटा, लचीला, आंतरिक रूप से पहना जाने वाला पुन: प्रयोज्य मेंस्ट्रुअल कप है. यह प्राकृतिक गोंद रबर (लेटेक्स) से बना है. इसका उपयोग करना सरल है. साथ ही यह किफायती, आरामदायक और पर्यावरण के अनुकूल है. दुनिया भर में महिलाओं द्वारा इसका उपयोग साल 1987 से किया जा रहा है.

मूनकप (Moon Cup)
यह रबर या सिलिकॉन से बना एक छोटा, लचीला कीप के आकार का कप है. इसे आप आसानी से अपनी योनि में डालते हैं ताकि पीरियड्स के दौरान निकलने वाला तरल पदार्थ इकट्ठा हो सके. ये कप अन्य तरीकों की तुलना में अधिक रक्त धारण कर सकता हैं. इस्तेमाल करने में थोड़ा समय लग सकता है लेकिन एक बार जब आप इसे इस्तेमाल कर लेते हैं तो आप इसके बिना नहीं रहना चाहेंगे.

इसे भी पढ़ेंः क्या है पैनिक अटैक, कैसे करें पैनिक अटैक वाले इंसान की मदद

दीवा कप (Diva Cup)
एक मेंस्ट्रुअल कप जो स्त्री स्वच्छता के साथ पुन: प्रयोज्य उत्पाद का एक प्रकार है. यह रबड़ या सिलिकॉन से बना एक छोटा, लचीला फनल-आकार (Funnel-size) का कप है जिसे आप अपनी योनि में डालते हैं ताकि पीरियड्स के दौरान तरल पदार्थ इकट्ठा हो सके. महिलाएं इसका उपयोग पर्यावरण के अनुकूल विकल्प के रूप में कर सकती हैं.

लेना कप (Lena Cup)
इसे आधुनिक जागरूकता से प्रेरित होकर डिजाइन किया गया है ताकि आप अपनी अवधि के दौरान एक आरामदायक और सक्रिय जीवनशैली बनाए रख सकें. इसे आप रात भर और एक बार में 12 घंटे तक पहन सकते हैं. इसे पूर्ण आराम और कार्यक्षमता के लिए विकसित किया गया है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज