Home /News /lifestyle /

LGBT: इंद्रधनुषी झंडे में किस रंग का क्या मतलब है? 8 रंगों के झंडे में से हट चुके हैं 2 रंग

LGBT: इंद्रधनुषी झंडे में किस रंग का क्या मतलब है? 8 रंगों के झंडे में से हट चुके हैं 2 रंग

छ: रंगों वाला ये झंडा LGBT समुदाय की पहचान है. (Image:shutterstock)

छ: रंगों वाला ये झंडा LGBT समुदाय की पहचान है. (Image:shutterstock)

छ: रंगों वाला ये झंडा LGBT समुदाय की पहचान है. विश्व के सभी LGBT अपनी यूनिटी दिखाने के लिए इसका उपयोग करते हैं. इस झंडे को 1978 में LGBT समुदाय के प्रतीक के रूप में मान्यता मिली थी. 1990 का दशक आते-आते यह झंडा दुनियाभर में एलजीबीटी समुदाय का प्रतीक बनता गया. इस झंडे को पहली बार सैन-फ्रांसिस्को में 25 जून को गे फ्रीडम डे के मौक़े पर फहराया था. सैन-फ्रांसिस्को के कलाकार गिलबर्ट बेकर आठ रंगों वाला डिज़ाइन किया हुआ झंडा लोगों के सामने लेकर आए थे. उस दौरान बेकर ने कहा था कि इस झंडे के माध्यम से वे विविधता के बारे में दिखाना चाहते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    LGBT: 6 सितंबर 2018 को भारत में ऐतिहासिक फैसला सुनाया गया. इस दिन LGBT समूह को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की तरफ से हरी झंडी मिल गई. भारत में दो वयस्क लोगों के बीच समलैंगिक संबंध अब अपराध नहीं हैं. L- लेस्बियन (Lesbian) : दो औरतों का आपस में प्यार करना, G (gay) – गे: दो पुरुषों का आपस में प्यार होना, B (bisexual) – बायसेक्सुअल: इसमें पुरुष और महिला दोनों से प्यार हो सकता है, T- ट्रांस जेंडर (transgender) : जो बड़े होने के बाद अपने लिंग को पहचानते हैं, अंत में Q- क्वीर: एलजीबीटी कम्यूनिटी को एक साथ क्वीर कम्यूनिटी कहा जाता है. इस समूह का झंडा बड़ा ही आकर्षक है. 6 रंगों से बने इस झंडे के हर रंग का एक अलग मतलब है.

    झंडे का इतिहास
    छ: रंगों वाला ये झंडा LGBT समुदाय की पहचान है. विश्व के सभी LGBT अपनी यूनिटी दिखाने के लिए इसका उपयोग करते हैं. इस झंडे को 1978 में LGBT समुदाय के प्रतीक के रूप में मान्यता मिली थी. 1990 का दशक आते-आते यह झंडा दुनियाभर में एलजीबीटी समुदाय का प्रतीक बनता गया. इस झंडे को पहली बार सैन-फ्रांसिस्को में 25 जून को गे फ्रीडम डे के मौक़े पर फहराया था. सैन-फ्रांसिस्को के कलाकार गिलबर्ट बेकर आठ रंगों वाला डिज़ाइन किया हुआ झंडा लोगों के सामने लेकर आए थे. उस दौरान बेकर ने कहा था कि इस झंडे के माध्यम से वे विविधता के बारे में दिखाना चाहते हैं. समलैंगिकों का ये झंडा सबसे पहले सेन फ्रांसिस्को के कलाकार गिल्बर्ट बेकर ने एक स्थानीय कार्यकर्ता के कहने पर समलैंगिक समाज को एक पहचान देने के लिए बनाया था. सबसे पहले उन्होंने 5 पट्टे वाले “फ्लैग ऑफ द रेस” से प्रभावित होकर इस आठ पट्टे वाले झंडे को बनाया था. बता दें, उनका निधन साल 2017 में 65 साल की उम्र में हो गया था.

    इसे भी पढ़ें : सिंगल से मिंगल होने जा रहे हैं तो रखें कुछ बातों का ध्यान, अच्छी होगी शुरुआत

    झंडे में इंद्रधनुषी रंगों का मतलब
    इस झंडे में शामिल सभी रंगों के कुछ ना कुछ मायने हैं. जो हमारी और आपकी ज़िंदगी से जुड़े ख़ूबसूरत पहलुओं को उजागर करते हैं. इस झंडे में लाल, ऑरेंज, पीला, नीला, हरा और बैंगनी रंग शामिल है. जो देखने से इंद्रधनुष जैसा दिखता है. सबसे पहले इस झंडे में 8 रंग थे, लेकिन अभी इस झंडे में सिर्फ छ: रंग ही हैं.

    इसे भी पढ़ें : विंटर ब्रेक में बर्फबारी का मज़ा लेना है तो इन जगहों पर घूमने का बना सकते हैं प्लान

    गुलाबी: सेक्शुएलिटी का प्रतीक
    लाल: जिंदगी का प्रतीक
    नारंगी: इलाज का प्रतीक
    पीला: सूरज की रोशनी का प्रतीक
    हरा: प्रकृति का प्रतीक
    फिरोजी: कला का प्रतीक
    नीला: सौहार्द का प्रतीक
    बैंगनी: इंसानी रूह (आत्मा) का प्रतीक

    Tags: Lifestyle, Relationship

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर