लाइव टीवी

लंच और डिनर की तरह स्नैक्स खाना भी जरूरी, जानें किस समय क्या खाएं

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 5:07 PM IST
लंच और डिनर की तरह स्नैक्स खाना भी जरूरी, जानें किस समय क्या खाएं
स्नैक्स की टाइमिंग आपके काम करने के टाइम टेबल पर भी निर्भर करती है. यह आपकी दिनचर्या और भोजन पर भी निर्भर करता है.

शाम के नाश्ते का समय या दोपहर और रात के खाने के बीच के समय में अक्सर लोगों को हल्की भूख लग जाती है. यह एक ऐसा समय है जब कुछ भी खाना पेट की समस्याओं को बढ़ा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 5:07 PM IST
  • Share this:
क्या आपको मालूम है कि ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर की तरह ही स्नैक्स भी आपकी सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है. समय पर सही स्नैक्स लेना आपको हेल्दी बनाता है और आपके शरीर की एनर्जी को बरकरार रखता है. शाम के नाश्ते का समय या दोपहर और रात के खाने के बीच के समय में अक्सर लोगों को हल्की भूख लग जाती है. यह एक ऐसा समय है जब कुछ भी खाना पेट की समस्याओं को बढ़ा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः हर रोज सुबह आप करते हैं ये 5 गलतियां तो समय से पहले ही नजर आने लगेगा बुढ़ापा

स्नैक्स की टाइमिंग
अगर आप उन लोगों में से हैं जो हल्की भूख लगने तले हुए स्नैक्स लेते हैं, तो आने वाले समय में आप इसके चलते गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं. दरअसल स्नैक्स की टाइमिंग आपके काम करने के टाइम टेबल पर भी निर्भर करती है. यह आपकी दिनचर्या और भोजन पर भी निर्भर करता है. आइए आपको बताते हैं कि स्नैक्स में आपको क्या खाना चाहिए और किस समय.

स्नैक्स लेने पर नींद की गुणवत्ता में सुधार, कब्ज की परेशानी को दूर करना और एनर्जी के स्तर में सुधार करने में भी मदद मिलती है.


रात का खाना हल्का हो
ज्यादातर लोगों को शाम 4 से 6 बजे के बीच हल्की भूख लगती है. ऐसे में स्नैक्स के रूप में कुछ चीजें लेनी चाहिए. हालांकि इस समय जंक फूड खाने से बचना चाहिए. इस टाइम में आप किसी भी पौष्टिक चीज का सेवन कर सकते हैं. इसके साथ ही आप ये भी याद रखें कि आपका रात का खाना हल्का हो ताकि आप बेहतर नींद ले सकें.फलों का सेवन
शाम 4 से 6 के स्नैक्स में आप मूंगफली, हल्के बिस्किट्स, चिक्की, घर में बना चकली और ताजे मौसमी फलों का सेवन कर सकते हैं. शाम के इस स्नैक्स से डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, पीसीओडी और इंसुलिन प्रतिरोध जैसी चीजों से बचा जा सकता है. साथ ही ये क्रेविंग्स को भी मारते हैं.

कब्ज की परेशानी होगी दूर
वहीं रात के खाने से पहले स्नैक्स के रूप में आप गुड़ के साथ रोटी ले सकते हैं. वहीं आप कई और चीजों को भी इस वक्त के स्नैक्स में शामिल कर सकते हैं. इसमें इडली, दही वाले चावल, झालमुड़ी मुख्य रूप से शामिल है. यह सभी चीजें कम हीमोग्लोबिन के स्तर वाले लोगों के लिए सबसे अच्छा विकल्प हैं. इसके अलावा इस समय स्नैक्स लेने पर नींद की गुणवत्ता में सुधार, कब्ज की परेशानी को दूर करना और एनर्जी के स्तर में सुधार करने में भी मदद मिलती है.

मिड-नाइट क्रेविंग्स की परेशानी
इवनिंग या नाइट शिफ्ट्स में रहने वाले लोगों के लिए स्नैक्स अगर किसी की शाम की शिफ्ट है यानी कि उनके डिनर अनियमित होते हैं और वह नियमित रूप से देर रात तक काम करते हैं, तो उनमें मूड स्विंग और मिड-नाइट क्रेविंग्स की परेशानी आम बात होती है. वहीं इस समय भारी भरकम कुछ खाने से आपको सुस्ती, पैर में ऐंठन और कमजोरी हो सकती है.

भारी भरकम कुछ खाने से आपको सुस्ती, पैर में ऐंठन और कमजोरी हो सकती है.


हल्का और हेल्दी फूड
ऐसे में हल्का और हेल्दी फूड खाना बेहतर होता है. इस समय आप स्नैक्स के रूप में पोहा या उपमा, घर का बना डोसा, गोंड या बेसन या रवा लड्डू, अंडे का टोस्ट, प्रोटीन शेक या फिर होममेड खाकरा या थेपला खा सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में की जाने वाली ये 5 गलतियां बालों को करती हैं खराब, आज ही सुधार लें

जीरो डाइट फॉलो करना
यह उन लोगों के लिए भी अच्छा होता है जो वजन बढ़ने के कारण शाम को भूख लगने पर कुछ खाने से बचते हैं और जीरो डाइट फॉलो करते हैं. आप अपने हल्थे का ख्याल रखते हुए विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व से भरपूर स्नैक्स का सेवन जरूर करें. साथ ही पैकेज्ड और प्रोसेस्ड स्नैक फूड पर निर्भर रहने के बजाय स्वस्थ खाद्य पदार्थ चुनें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 5:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर