छोटे बच्चों की इस खास तेल से करें मालिश, जरूर रखें इन बातों का ख्याल

छोटे बच्चों की इस खास तेल से करें मालिश, जरूर रखें इन बातों का ख्याल
स्‍वीट आल्‍मंड ऑयल प्राकृतिक रूप से स्किन को मॉइश्चराइज करने का काम करता है और इससे कई घंटों तक बच्‍चे की स्किन मुलायम बनी रहती है.

बच्‍चे की मालिश (Massage) के लिए ऐसा तेल चुनना चाहिए तो उसकी त्‍वचा (Skin) को पोषण देने के साथ-साथ मांसपेशियों को काफी हद तक आराम पहुंचा सके. इसके लिए बादाम का तेल (Alomond Oil) बहुत फायदेमंद होता है. बादाम के तेल में कई पौष्टिक गुण होते हैं.

  • Share this:
शिशु की हड्डियों (Bones) और मांसपेशियों (Muscles) को मजबूत और स्‍वस्‍थ बनाने के लिए उनकी मालिश (Massage) करना बहुत जरूरी होता है. वहीं शिशु की मालिश के लिए सही तेल चुनना भी बहुत जरूरी होता है. बच्‍चे की मालिश के लिए ऐसा तेल चुनना चाहिए तो उसकी त्‍वचा को पोषण देने के साथ-साथ मांसपेशियों को काफी हद तक आराम पहुंचा सके. इसके लिए बादाम का तेल (Alomond Oil) बहुत फायदेमंद होता है. बादाम के तेल में कई पौष्टिक गुण होते हैं. बादाम के तेल से आप अपने शिशु की मालिश आसानी से कर सकते हैं. इससे शिशु की त्‍वचा और शरीर को कई तरह के लाभ मिलते हैं. आइए आपको बताते हैं कि बादाम के तेल से छोटे बच्चों की मालिश करन से क्या फायदे होते हैं और मालिश करते वक्त किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

बादाम तेल से मालिश करने के फायदे

स्‍वीट आल्‍मंड ऑयल प्राकृतिक रूप से स्किन को मॉइश्चराइज करने का काम करता है और इससे कई घंटों तक बच्‍चे की स्किन मुलायम बनी रहती है.



वहीं बादाम तेल में विटामिन ए, बी2 और बी6 मौजूद होता है. स्किन को स्‍वस्‍थ बनाने वाला विटामिन ई भी इस तेल में पाया जाता है.
इस तेल की मालिश करने से शिशु के शरीर को बहुत अधिक आराम मिलता है. रात को सोने से पहले बादाम तेल से मालिश करने से बच्‍चे के हाथ-पैरों को आराम मिलता है. इससे शरीर के ब्लड सर्कुलेशन में सुधार आता है और अच्छी तरह से सांस लेने में भी मदद मिलती है. इस तरह शिशु को अच्‍छी नींद भी आती है.

स्‍वीट आल्‍मंड ऑयल से मालिश करने से बच्‍चों में अपच और पेट खराब होने का खतरा भी कम हो जाता है. बच्‍चों में पेट से जुड़ी समस्‍याएं बहुत होती हैं इसलिए बादाम तेल की मदद से आप बच्‍चे को पेट दर्द से बचा सकते हैं.

शिशु को रैशेज होने पर भी बादाम तेल का इस्‍तेमाल किया जा सकता है. ये तेल बच्‍चों के लिए बिल्‍कुल सुरक्षित होता है. ये उनके फटे होंठों को भी मुलायम करता है.

इसे भी पढ़ेंः कुणाल खेमू ने बेटी इनाया को सिखाया ॐ का जाप करना, जानें छोटे बच्‍चों के लिए क्यों है ये जरूरी

मालिश करते वक्त इन बातों का रखें ध्‍यान

वैसे तो बादाम तेल या स्‍वीट आल्‍मंड ऑयल के कई फायदे होते हैं लेकिन इससे किसी भी प्रकार का नुकसान होने से बचने के लिए आपको कुछ बातों का ध्‍यान रखना बहुत जरूरी है.

बच्‍चों की त्‍वचा बहुत नाजुक होती है इसलिए उनकी मालिश के दौरान बहुत सावधान रहें. हमेशा हल्‍के हाथों से ही मालिश करें. हाथों से मालिश शुरू करते हुए पैरों, छाती, पेट और फिर पीठ की म‍ालिश करें.

मालिश के लिए बादाम तेल की सिर्फ कुछ बूंदें ही लें क्‍योंकि ज्‍यादा तेल की वजह से रैशेज हो सकते हैं.

नाभि, आंखों और नाक के आसपास तेल न लगाएं क्‍योंकि इन हिस्‍सों में तेल जाने से बच्‍चे को इंफेक्‍शन हो सकता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज