International Women's Day 2021: वीमेंस डे पर जानें देश-विदेश की राजनीति में सक्रिय खास महिलाओं के बारे में

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देना है.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देना है.

International Women's Day 2021: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हम आपको देश-विदेश की राजनीति में सक्रिय ऐसी पांच महिलाओं के बारे में बताते हैं जो 2020-2021 में खासी चर्चा में रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 8, 2021, 10:32 AM IST
  • Share this:
International Women's Day 2021: हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है. इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देना है. इस वर्ष के लिए 'अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2021' की थीम- Women in Leadership: Achieving an equal future in a COVID-19 world (महिला नेतृत्व: COVID-19 की दुनिया में एक समान भविष्य को प्राप्त करना) रखी गई है. आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हम आपको देश-विदेश की राजनीति में सक्रिय ऐसी  पांच महिलाओं के बारे में बताते हैं जो 2020-2021 में खासी चर्चा में रही हैं.

जैसिंडा अर्डर्न (Jacinda Ardern)

जैसिंडा अर्डर्न (Jacinda Ardern) न्यूजीलैंड की चर्चित प्रधानमंत्री हैं. वह न्यूजीलैंड की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री और देश की तीसरी महिला प्रधानमंत्री हैं. 40 वर्षीय जैसिंडा अर्डर्न ने लेबर पार्टी के नेता के रूप में भी कार्य किया है. वह 2008 के आम चुनाव में एक सूची सांसद के रूप में प्रतिनिधि सभा के लिए चुनी गई थीं. जैसिंडा पहली बार अंतरराष्ट्रीय सुर्ख़ियों में तब आई थीं, जब  लगभग ढाई वर्ष पहले प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए उन्होंने बेटी को जन्म दिया था. और संयुक्त राष्ट्र की बैठक में अपनी चार महीने की बेटी को गोद में लेकर शामिल हुई थीं. इसके बाद एक बार फिर वो सुर्ख़ियों में रहीं कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ी गई लड़ाई के चलते. प्रधानमंत्री जेसिंडा द्वारा COVID-19 के खिलाफ लड़ी गई लड़ाई और न्यूजीलैंड में महामारी के प्रसार को रोकने में सफलता पर आधारित एक सर्वे न्यूशब-रीड रिसर्च द्वारा कराया गया था जिसमें  यह नतीजे सामने आये थे.



इसे भी पढ़ेंः International Women's Day 2021: 45 साल से महिलाओं के स्वास्थ्य को समर्पित डॉक्टर रेखा डावर ने दिया हेल्थ का फॉर्मूला
कमला हैरिस  (Kamala Harris)

भारतीय मूल की  कमला हैरिस (Kamala Harris) अमेरिकी उप-राष्ट्रपति हैं. उन्होंने 20 जनवरी 2021 को अमेरिका के उप-राष्ट्रपति का पद संभाला है. अमेरिका में साल 2020 के चुनाव में  56 वर्षीय कमला हैरिस ने डेमोक्रेटिक पार्टी  से चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी. उन्होंने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उपराष्ट्रपति माइक पेंस को हराया था. इस जीत के साथ ही उन्होंने  इतिहास रच दिया था. वह अमेरिका की पहली महिला उप-राष्ट्रपति चुनी गयीं. कमला हैरिस संयुक्त राज्य अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति हैं. वह अमेरिकी इतिहास में सबसे अधिक रैंकिंग वाली महिला निर्वाचित अधिकारी भी हैं. इसके साथ ही वह पहली अफ्रीकी-अमेरिकी उपराष्ट्रपति और पहली एशियाई अमेरिकी उपराष्ट्रपति भी  हैं. कमला हैरिस की माँ श्यामला गोपालन मूल रूप से भारत के चेन्नई की रहने वाली हैं और पिता डॉनल्ड हैरिस जमैका मूल के हैं. कमला हैरिस अपनी मां के साथ भारत आती रही थीं, जहां अब भी उनके परिवार के लोग रहते हैं.

जेनेट येलेन (Janet Yellen)

जेनेट येलेन (Janet Yellen) इन दिनों काफी चर्चा में हैं. उन्होंने जनवरी में ही अमेरिका की वित्तमंत्री (Finance Minister) के रूप में कार्यभार संभाला है. न्यूयॉर्क के ब्रुकलिन में जन्मी 74 वर्षीय येलेन का नाम अमेरिका के इतिहास में पहली महिला वित्त मंत्री के तौर पर दर्ज  हुआ है.  येलेन  इससे पहले अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की गवर्नर रह चुकी हैं. येलेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति, जो बाइडन के मंत्रिमंडल की तीसरी सदस्य बन गयी हैं.वह फेडरल रिजर्व ऑफ सैन फ्रांसिस्को की प्रेसीडेंट व मुख्य कार्यकारी अधिकारी भी रह चुकी हैं. साथ ही पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के समय में वह  व्हाईट हाऊस की आर्थिक सलाहकार समिति की प्रमुख थीं. उन्होंने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय और बर्कले के हास स्कूल ऑफ बिज़नेस में अध्यापन कार्य भी किया है.

निर्मला  सीतारमन (Nirmala Sitharaman)

निर्मला सीतारमन (Nirmala Sitharaman) भारतीय राजनीति का खास चेहरा हैं. वह देश की पहली महिला रक्षामंत्री हैं और उन्हें पूर्णकालिक प्रभार दिया गया है. निर्मला सीतारामन 2003 से 2005 तक राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्या रह चुकी हैं. वे 03 सितंबर 2017 तक भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता के साथ-साथ भारत की वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री रहीं हैं.  सितंबर 2017 को  नरेंद्र मोदी की सरकार में उन्हें रक्षा मंत्री बनाया गया. राजनीति में आने से पहले निर्मला ब्रिटेन में बतौर अर्थशास्त्री,कृषि इंजीनियरिंग फर्म में काम कर चुकी हैं. जवाहर लाल विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में एम.ए कर चुकी निर्मला  सीतारामन ब्रिटेन से भारत लौटते ही भाजपा में शामिल हो गई थीं. डोकलाम विवाद के बाद जब रक्षामंत्री के तौर पर वे चीनी सैनिकों से मिली थीं, तब भारत ही नहीं चीन में भी उनकी काफी तारीफ हुई थी.

इसे भी पढ़ेंः Happy Women's Day 2021 Shayari: शायराना अंदाज में महिलाओं को दें महिला दिवस की बधाई

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) वर्ष 2011 से लगातार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के पद पर हैं. 66 वर्षीय ममता को जितना उनके नाम से जाना जाता है उससे ज्यादा "दीदी" के नाम से जाना जाता है. वह पश्चिम बंगाल की पहली महिला मुख्यमंत्री हैं. ममता  त्रिणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की प्रमुख हैं. उन्होंने केवल 15 वर्ष की आयु में राजनीति ज्वाइन की थी. ममता बनर्जी को देश का सबसे युवा सांसद बनने का गौरव प्राप्त है. यही नहीं उन्हें देश की पहली महिला रेल मंत्री बनने का भी गौरव प्राप्त है. वह केंद्र सरकार में कोयला, मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री, युवा मामलों और खेल के साथ ही महिला व बाल विकास की राज्य मंत्री भी रह चुकी हैं. 2011 में उन्होंने पश्चिम बंगाल में 34 वर्षों से सत्ता पर काबिज वामपंथी मोर्चे का सफाया किया था. जिसके बाद 2012 में प्रतिष्ठित 'टाइम' मैगजीन ने उन्हें 'विश्व के 100 प्रभावशाली' लोगों की सूची में स्थान दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज