लाइव टीवी

पुरुषों को भी होता है ब्रेस्ट कैंसर, आज ही जान लें इसके कारण और लक्षण

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 2:55 PM IST
पुरुषों को भी होता है ब्रेस्ट कैंसर, आज ही जान लें इसके कारण और लक्षण
जो पुरुष अधिकतर शराब का सेवन करते हैं, उनमें ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम बढ़ जाता है.

ब्रेस्ट कैंसर को लेकर पुरुषों में जागरूकता की कमी है. लोग अक्सर इसके लक्षणों को इग्नोर करने लगते हैं जिससे बाद स्थिति और अधिक गंभीर हो जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 2:55 PM IST
  • Share this:
महिलाओं की तरह पुरुषों को भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा होता है, लेकिन इस विषय पर कोई भी खुलकर बात नहीं करता. यह जानना बहुत जरूरी है कि पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर किस तरह महिलाओं से अलग है. इसके लक्षणों में क्या अंतर है? क्‍या इसके लिए कोई जांच उपलब्ध है? आमतौर पर लोग यही मानते हैं कि ब्रेस्ट कैंसर केवल महिलाओं को ही होता है, हालांकि यह एक बड़ी गलतफहमी है.

वेबएमडी की रिपोर्ट के अनुसार, पुरुषों को भी ब्रेस्ट कैंसर होता है. हालांकि, पूरी दुनिया में कैंसर के कुल मामलों का केवल एक प्रतिशत पुरुषों को ब्रेस्ट कैंसर होता है. अमेरिकी कैंसर सोसायटी (ACS) के अनुसार एक पुरुष को उसके जीवन काल में ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा 883 में लगभग एक पुरुष को है. यह बहुत ही कम होने वाला कैंसर है जो पुरुषों के स्तन के टीश्‍यू में होता है.

इसे भी पढ़ेंः एक्सरसाइज करते वक्त लड़कियां क्यों पहनती हैं स्पोर्ट्स ब्रा, जानें 5 खास कारण

एक अध्ययन के अनुसार, पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर एक दुर्लभ बीमारी है जो आमतौर पर 60 वर्ष से अधिक आयु के पुरुषों को होती है. दरअसल ब्रेस्ट कैंसर को लेकर पुरुषों में जागरूकता की कमी है. लोग अक्सर इसके लक्षणों को इग्नोर करने लगते हैं. इससे बाद में स्थिति अधिक गंभीर हो जाती है. आइए जानते हैं उन लक्षणों के बारे में जिन्हें नजरअंदाज करना पुरुषों को भारी पड़ सकता है.

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण

छाती पर गांठ बनना
अगर आपकी छाती पर गांठ बन रही है तो इसे बिल्कुल इग्नोर न करें. ये ब्रेस्ट कैंसर का लक्षण हो सकता है. इन गांठों में दर्द नहीं होता है. जैसे-जैसे कैंसर बढ़ता है, इसकी सूजन गर्दन तक फैल जाती है.निप्पल का अंदर धंस जाना
ट्यूमर बढ़ने के साथ-साथ लिंगामेंट्स ब्रेस्ट के अंदर खिंचने लगता है. ऐसे में निप्पल्स अंदर की ओर धंस जाते हैं. निप्पल्स वाले हिस्से के आसपास की त्वचा भी ड्राई होने लगती है.

निप्पल डिस्चार्ज
अगर आपको अपनी शर्ट पर अक्सर किसी तरह का दाग दिखता है तो इसे बिल्कुल इग्नोर न करें. कई बार ये खून के धब्बे भी हो सकते हैं.

पिंपल की तरह का घाव
ब्रेस्ट कैंसर में ट्यूमर स्किन से ही उभरता है. ऐसे में कैंसर के बढ़ने के साथ-साथ आपके निप्पल्स पर खुला घाव दिखाई पड़ सकता है. ये घाव एक पिंपल की तरह दिखता है. इन लक्षणों के दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर के कारण

  1. पुरुष अधिकतर शराब का सेवन करते हैं, उनमें ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम बढ़ जाता है. शराब लिवर को नुकसान पहुंचाता है, जो हॉर्मोन लेवल को भी प्रभावित करता है. जैसे कि एस्ट्रोजन स्तर बढ़ सकता है, जिससे पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है.

  2. अगर छाती का दूसरे तरह के कैंसर के विकिरण के साथ इलाज किया गया है तो पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका अधिक होती है. अगर आप प्रोस्टेट कैंसर के लिए एस्ट्रोजेन लेते हैं या अंडकोष के टेस्टिकल जैसी किसी समस्या के लिए टेस्टिकल निकालने की सर्जरी हुई है तो भी आपकी समस्याएं बढ़ सकती हैं.

  3. अगर आपके भाई-बहन या परिवार के किसी सदस्य को कैंसर रहा है तो आप में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. XY के बजाए XXY गुणसूत्र से पैदा होने वाले पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 20 से 60 गुना तक बढ़ जाता है. इस स्थिति को क्लाइनफेल्टर सिंड्रोम कहते हैं. कैंसर का पता लगाने के लिए मैमोग्राम या अल्ट्रासाउंड जैसे इमेजिंग टेस्ट भी किए जा सकते हैं. आपको बायोप्सी की भी जरूरत पड़ सकती है.


इसे भी पढ़ेंः जान्हवी कपूर ने जिम में कुछ ऐसे किया Pilates, जानें क्यों करते हैं ये एक्सरसाइज

ब्रेस्ट कैंसर का इलाज
पुरुष स्तन कैंसर के लिए सर्जरी सबसे आम उपाय है. इसमें सामान्य तौर पर एक मास्टेक्टॉमी शामिल होती है, जो आपके स्तन के ऊतक और अरोला के साथ ही किसी भी आसपास के लिम्फ नोड्स को निकाल देती है, जहां कैंसर फैल गया हो.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 1:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर