लाइव टीवी
Elec-widget

सोशल मीडिया, टीवी और कंप्युटर किशोरों में बढ़ा रहे हैं तनाव


Updated: November 28, 2019, 8:54 AM IST
सोशल मीडिया, टीवी और कंप्युटर किशोरों में बढ़ा रहे हैं तनाव
अगर मानसिक स्वास्थ्य पर भी पूरा ध्यान दिया जाए तो मानसिक बीमारियों को काफी हद तक रोका जा सकता है.

सोशल मीडिया (Social Media Impact) पर रहने वालों, टीवी देखने वालों और कंप्युटर (Television and Computer) का इस्तेमाल करने वाले किशोरों में तनाव के गंभीर लक्षण पाए गए हैं.

  • Last Updated: November 28, 2019, 8:54 AM IST
  • Share this:
टोरंटो. एक अध्ययन से पता चला है कि सोशल मीडिया, टेलीविजन और कंप्युटर (Social Media side effects) के इस्तेमाल से किशोरों में तनाव के लक्षण (Stress in teenagers) बढ़ रहे हैं. कनाडा के जर्नल ऑफ साइक्रेट्री में (Journal of Psychiatry) छपे एक शोधपत्र के मुताबिक पिछले चार साल में औसत से अधिक सोशल मीडिया (Social Media Impact) पर रहने वालों, टीवी देखने वालों और कंप्युटर (Television and Computer) का इस्तेमाल करने वाले किशोरों में तनाव के गंभीर लक्षण पाए गए हैं.

मांट्रियाल यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने शोध में पाया कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल कम करते ही किशोरों मे तनाव के लक्षण भी कम हो गए. ऐसा ही असर टीवी और कंप्युटर का इस्तेमाल कम करने पर भी पाया गया.

शोधकर्ताओं ने पाया कि सोशल मीडिया और टीवी देखने का सीधा ताल्लुक अवसाद बढ़ने से है. लेकिन इस अध्ययन में तनाव से कंप्युटर के इस्तेमाल को कोई सीध संबंध स्थापित नहीं हो पाया.

यह बात जरूरी साबित हुई की कंप्युटर के इस्तेमाल से ऐंग्जाइटी बढ़ती है. सामान्यतः किशोर अपना होमवर्क करने के लिए कंप्युटर का इस्तेमाल करते हैं. कनाडा के वैज्ञानिकों का यह अध्ययन बच्चों में स्क्रीन टाइम कम करने की ओर इशारा करता है. इससे उनमें तनाव कम होगा.

शोधकर्ताओं का कहना है कि इस पर अभी और रिसर्च किया जा रहा है कि आखिर ऐसे तनाव के परिणाम क्या हो सकते हैं. इस शोध में मॉन्ट्रियाल विश्वविद्यालय के प्रोफेसर पैट्रिसिया की टीम ने 12 से 16 आयु वर्ग के चार हजार किशोरों को फॉलो किया.

इन किशोरों से स्क्रीन के सामने बिताए जाने वाले उनके समय के अनुभव के बारे में पूछा गया. इसमें उनसे खुद का आंकलन करने वाले सवाल पूछे गए. इनसे यह पता चला कि अगर वो अपना स्क्रीन टाइम कम करते है तो उनमें तनाव के लक्षण भी कम हो सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 8:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...