अपना शहर चुनें

States

दिल्ली की आधी रात वाली 'गेड़ी' और मूलचंद के पराठे, एक बार जरूर लें मजा...

पराठे सेंक कर भी बनते हैं और तंदूर वाले भी.
पराठे सेंक कर भी बनते हैं और तंदूर वाले भी.

दिल्ली (Delhi) में वैसे तो पराठों की पूरी गली ही है, लेकिन देर रात वालों के लिए पराठों का ठिकाना तो मूलचंद (Moolchand) ही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 3:50 PM IST
  • Share this:
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अगर आप रहते हैं तो रात को 'गेड़ी' जरूर मारी होगी. गेड़ी के साथ आपको भूख भी लगी होगी. तो ऐसे में आधी रात के बाद आप अगर सड़कों पर हैं और साउथ दिल्ली (South Delhi) के आसपास हैं तो मूलचंद (Moolchand) का नाम जरूर ही सुना होगा. देर रात शौक से या मजबूरी में खाना खाने वालों के लिए यह एक बेहतरीन ठिकाना है. जी हां, आप समझ गए होंगे कि मैं मूलचंद के पराठों (Moolchand Ke Parathe) की बात कर रहा हूं. दिल्ली में वैसे तो पराठों की पूरी गली ही है, लेकिन देर रात वालों के लिए पराठों का ठिकाना तो मूलचंद ही है. पुरानी दिल्ली की पराठों वाली गली के पराठों से अलग होते हैं मूलचंद के पराठे और इसका प्रेजेंटेशन भी अलग होता है.

अलग-अलग स्टफिंग के साथ ये पराठे बनाए जाते हैं और अंचार व चटनी के साथ परोसे जाते हैं. पराठे सेंक कर भी बनते हैं और तंदूर वाले भी. पराठों के उस्ताद हैं मूलचंद के पराठे. पिछले करीब 50 सालों से मूलचंद पराठे अपना स्वाद बिखेर रहे हैं. लेकिन, स्वाद के साथ इनकी टाइमिंग के लिए ये ज्यादा मशहूर हैं. संजीव गुप्ता बताते हैं कि 10 साल पहले वे लखनऊ से दिल्ली आए थे. शहर नया था और अपने शहर से अलग. ऐसे में एक रात वो काम में व्यस्त रहने के कारण खाना नहीं खा पाए. आधी रात को भूखे पेट नींद भी नहीं आ रही थी. फिर उनके एक दोस्त ने कहा कि चलिए मूलचंद.

इसे भी पढ़ेंः भारत की 'भूत झोलकिया' से दुनिया को लगती है मिर्ची, कहानी है चौंकाने वाली
 पहले तो उन्हें विश्वास ही नहीं हुआ कि आधी रात के बाद भी कहीं स्वादिष्ट और ताजा खाना मिल सकता है. लेकिन, जब वे मूलचंद पराठे के पास पहुंचे तो अपनी पारी आने के लिए उन्हें इंतजार करना पड़ा. इसके बाद तो लेट नाइट क्रेविंग उनकी आदत ही बन गई. आलू, पनीर, प्याज और गोभी-मूली के पराठों के साथ मिक्स पराठे भी खूब डिमांड में रहते हैं. मूलचंद पराठे के दीवाने बहुत से हैं. इनमें बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख खान भी शामिल हैं.




इसे भी पढ़ेंः सब्जियों का राजा है 'बैंगन', भारतीयों का है खास रिश्ता


शाहरुख यहां अपने दोस्तों के साथ आया करते थे और पराठा व चाय का आनंद लेते थे. दिल्ली और एनसीआर में आज के समय में कई ऐसे ज्वाइंट्स हैं जो रातभर खुले होते हैं. वहां आप देर रात पराठों का आनंद ले सकते हैं. जो भी स्टफ कराना हो आप कराइए और जमकर खाइए. पराठों के ऊपर मक्खन कि टिक्की रखना भी लोग नहीं भूलते हैं. आखिर स्वाद का मामला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज