Home /News /lifestyle /

'हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश पे दम निकले',पढ़िए मशहूर शायर मिर्ज़ा ग़ालिब के जन्मदिन पर उनके बेहतरीन शेर

'हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश पे दम निकले',पढ़िए मशहूर शायर मिर्ज़ा ग़ालिब के जन्मदिन पर उनके बेहतरीन शेर

मिर्ज़ा ग़ालिब

मिर्ज़ा ग़ालिब

मिर्जा ग़ालिब उर्दू के बेहतरीन शायर थे. आज उनका जन्मदिन है.

    1. हम को मालूम है जन्नत की हक़ीक़त लेकिन

    दिल के ख़ुश रखने को 'ग़ालिब' ये ख़याल अच्छा है.

    2. हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश पे दम निकले

    बहुत निकले मिरे अरमान लेकिन फिर भी कम निकले.

    Isha Ambani Anand Piramal Wedding: ईशा ने शादी में पहनी इस दुकान की चूड़ियां, राजा-महाराजा भी करते हैं यहां शॉपिंग

    3. आह को चाहिए इक उम्र असर होते तक

    कौन जीता है तिरी ज़ुल्फ़ के सर होते तक.

    4. काबा किस मुँह से जाओगे 'ग़ालिब'

    शर्म तुम को मगर नहीं आती.
    Google पर सर्च करें 'Idiot' तो आएगी डोनाल्‍ड ट्रंप की तस्वीर, सुंदर पिचाई ने बताई ये वजह
    5. मोहब्बत में नहीं है फ़र्क़ जीने और मरने का

    उसी को देख कर जीते हैं जिस काफ़िर पे दम निकले.

    6. न था कुछ तो ख़ुदा था कुछ न होता तो ख़ुदा होता

    डुबोया मुझ को होने ने न होता मैं तो क्या होता.

    शोमैन राज कपूर का जन्म हुआ था आज ही, जानिए इतिहास में किस तरह दर्ज है 14 दिसंबर

    7. उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक़

    वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है.

    8. ये न थी हमारी क़िस्मत कि विसाल-ए-यार होता

    अगर और जीते रहते यही इंतिज़ार होता.

    Tags: Lifestyle, Religion, Sher aur shayri

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर