Home /News /lifestyle /

national doctors day 2022 know date history importance and theme of this day in hindi mt

National Doctor’s Day 2022: जानिए 'नेशनल डॉक्टर्स डे' का इतिहास, महत्व और थीम

'डॉक्टर्स डे' डॉ. बिधान चंद्र रॉय को समर्पित है.

'डॉक्टर्स डे' डॉ. बिधान चंद्र रॉय को समर्पित है.

National Doctor's Day 2022: हर साल देश में 1 जुलाई को 'राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस' यानी 'नेशनल डॉक्टर्स डे' मनाया जाता है. डॉ. बीसी रॉय के जन्मदिवस को डॉक्टर्स दिवस के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है. इस दिन की शुरुआत कब और क्यों की गई, जानते हैं.

अधिक पढ़ें ...

National Doctor’s Day 2022: हर किसी की जिंदगी में डॉक्टर्स की भूमिका काफी अहम होती है. जन्म से लेकर हेल्दी लाइफस्टाइल इन्जॉय करने तक लोगों का सामना कभी न कभी डॉक्टर से ज़रूर होता है. आमतौर पर लोग अपनी शारीरिक और मानसिक परेशानी लेकर डॉक्टर के पास ही जाते हैं और डॉक्टर के पास भी लगभग हर समस्या का इलाज मौजूद रहता है. शायद इसलिए डॉक्टर्स को भगवान का दर्जा भी दिया जाता है. इसी सम्मान को कायम रखने के लिए हर साल 1 जुलाई को ‘नेशनल डॉक्टर्स डे’ मनाया जाता है.

वैसे तो पहले से ही डॉक्टर्स को जीवनदाता की संज्ञा दी गई है, लेकिन खासतौर पर कोरोना काल में अहम योगदान देकर डॉक्टर्स ने इसको बखूबी साबित भी किया. डॉक्टर्स ने दिन-रात एक करके लोगों की जान बचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि कोरोना वायरस को हराने में डॉक्टर्स ने मुख्य भूमिका निभाई है. आइए जानते हैं ‘राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस’ के बारे में विस्तार से.

नेशनल डॉक्टर्स डे कब मनाया जाता है
दुनिया के हर देश में अलग-अलग तारीख को डॉक्टर्स डे सेलिब्रेट किया जाता है. वहीं भारत में हर साल 1 जुलाई को नेशनल डॉक्टर्स डे मनाया जाता है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन हर साल देश में राष्ट्रीय चिकित्सा दिवस के कार्यक्रम का आयोजन करती है.

ये भी पढ़ें: Health Tips: डॉक्टर की सलाह के बिना पेन किलर लेना कितना खतरनाक? एक्सपर्ट से जान लीजिए

डॉक्टर्स डे का इतिहास
देश में डॉक्टर्स डे मनाने की शुरुआत 1 जुलाई 1991 से की गई थी. यह दिन डॉ. बिधान चंद्र रॉय को समर्पित किया गया है. जानकारी के अनुसार, बी.सी.रॉय का जन्म 1 जुलाई 1882 में हुआ था. दरअसल, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का इलाज करने वाले डॉ. बिधान रॉय ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में काफी योगदान दिया था. उनके इसी योगदान को सम्मान देने के लिए 1 जुलाई को ‘डॉक्टर्स डे’ मनाया जाता है. साथ ही 1975 से चिकित्सा, विज्ञान, दर्शन, कला और साहित्य के क्षेत्रों में अद्भुत काम करने वालों को भी हर साल बी.सी.रॉय पुरस्कार से नवाजा जाता है.

डॉक्टर्स डे 2022 की थीम
देश में हर साल डॉक्टर्स डे का सेलिब्रेशन किसी न किसी थीम पर आधारित होता है. इस वर्ष यानी साल 2022 के लिए नेशनल डॉक्टर्स डे की थीम ‘फैमली डॉक्टर्स ऑन दि फ्रंट लाइन’ निर्धारित की गई है.

ये भी पढ़ें: कभी न करें दवाओं से संबंधित ये गलतियां, वरना हो सकती है परेशानी

नेशनल डॉक्टर्स डे का महत्व
नेशनल डॉक्टर्स डे अमूमन डॉक्टर्स के बलिदान को सम्मान देने के लिए मनाया जाता है. बेशक मरीजों को ठीक करना डॉक्टर्स की ड्यूटी होती है, मगर अपनी इस ड्यूटी को पूरा करने के लिए डॉक्टर्स दिन-रात एक कर देते हैं. आमतौर पर डॉक्टर दिन के चौबीसों घंटे लोगों का इलाज करने के लिए तत्पर रहते हैं. उनके इसी लगन और जज्बे को सलाम करने के लिए यह खास दिन हर साल मनाया जाता है.

Tags: Health, Lifestyle, National Doctor's Day

अगली ख़बर