अगर नए रिश्ते में आ रही हैं ये 5 समस्याएं तो सोच-समझकर ही बढ़ें आगे

अगर नए रिश्ते में आ रही हैं ये 5 समस्याएं तो सोच-समझकर ही बढ़ें आगे
अच्छे रिलेशनशिप की खासियत है कि इसमें छोटी-छोटी बातें में लड़ाई नहीं होती.

अगर आप हाल ही में किसी नए रिश्ते (Relationship) में आए हैं और आप दोनों रिश्ते को आगे बढ़ाना चाहते हैं. लेकिन आप दोनों के सोच और काम में अंतर है तो इन बातों पर एक बार जरूर गौर करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 2:50 PM IST
  • Share this:
दो अलग-अलग इंसान चाहे वो पति-पत्नी (Husband wife) क्यों ना हों. किसी एक बात को लेकर सहमत हों यह जरूरी नहीं है. असहमति ही एक ऐसा कारण है, जिसको लेकर भविष्य (Future) में आपस में लड़ाई-झगड़े शुरू हो जाते हैं. हालांकि अच्छे रिलेशनशिप (Relationship) खासियत यही है कि छोटी-छोटी बातें कभी बहस (Dispute) और लड़ाई का कारण नहीं बनती हैं. हम सभी का अपना अलग स्वभाव होता है. कुछ लोगों की आदत होती है कि वो आपसे असहमत होने पर आपके मुंह पर ही बोल देते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसा नहीं करते हैं. कपल्स के बीच अगर छोटी-छोटी बातों पर हमेशा बहस होने लगे तो इससे उनका रिश्ता प्रभावित होता है. ऐसे में रिलेशन ब्रेक होने की कगार पर पहुंच जाता है. ऐसे में हमें तुरंत समाधान खोजने की जरूरत होती है. वर्ना आगे चलकर रिश्ता खराब हो सकता है. इसलिए इन 5 बातों को रिश्ते में कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.

अगर आपके विचार हमेशा टकराते हैं
ऑनली हेल्थ की खबर के अनुसार रिलेशनशिप की शुरुआत में अधिकतर लोग शारीरिक आकर्षण के कारण एक-दूसरे के करीब आते हैं. ऐसे में अगर एक-दूसरे के विचार आपस में नहीं मिलते हैं तो रिश्ता बहुत लंबे समय तक नहीं चल पाता. दोनों ज्यादातर एक-दूसरे की बातों से सहमत नहीं होते तो इसके बारे में दोनों को बैठकर बात करनी चाहिए.

पुरुष महिलाओं से छिपाते हैं ये पांच बातें, जानिए क्या है वजह
बार-बार धोखा देना और माफ करना


देखने में आता है कि रिलेशनशिप में एक पार्टनर सीधा और दूसरा पार्टनर उसके सीधेपन का फायदा उठाकर उसे धोखा देता है. जब वह पकड़ा जाता है तो माफी मांग लेता है. ये काम अगर कोई आपने पार्टनर से बार-बार करता है तो ऐसे रिश्ते में आगे बढ़ने के पहले आपको एक बार सही से सोचना चाहिए. गलतियों को माफ करना महानता है, मगर कोई व्यक्ति एक ही गलती बार-बार करे, तो उसे माफ करना मूर्खता होगी.

अगर पार्टनर सिर्फ फिजिकल होने की बात करे
रिलेशनशिप में फिजिकल होना कितना जरूरी है, ये कोई बहस का मुद्दा नहीं है. यह दोनों की व्यक्तिगत च्वाइस की बात है.अगर आप दोनों तैयार हैं, तो फिजिकल रिलेशनशिप में कोई बुराई नहीं है. अगर सामने से कोई भी पार्टनर आपसे हर बार मिलने या बात करने पर सिर्फ फिजिकल होने की बातें करता है, तो आपको उसकी साइकोलॉजी के बारे में एक बार गहराई से समझने की जरूरत है. संभव है कि ऐसा रिश्ता सिर्फ फिजिकल संटुष्टि के लिए बनाया जा रहा हो.

आपका पार्टनर सिर्फ अपने काम को महत्व देता है
अपने काम को सही तरीके से करना बहुत अच्छी बात है. लेकिन इस बीच व्यक्ति को अपनी निजी जिंदगी और लाइफ पार्टनर को इग्नोर नहीं करना चाहिए. क्योंकि आपका काम आपके पास एक समय तक है और आपकी लाइफ पार्टनर जिंदगी भर के लिए है. इसलिए उसको समय दें. कभी-कभार काम को ज्यादा महत्व देना समझ आता है, लेकिन अगर हमेशा ही कोई व्यक्ति अपने काम को रिश्ते से ज्यादा महत्व देता है, तो रिश्ते में आगे बढ़ने से पहले सोच लें.

आप पार्टनर के सामने खुलकर बोल नहीं पाते
पार्टनर या जीवनसाथी का अर्थ होता है सहभागी, यानी जो आपके हर काम में बराबर का हिस्सेदार हो. ऐसे में अगर आप अपने पार्टनर के सामने कुछ बोल ही न पाएं और वह हमेशा आपको चुप करा दे तो यह अच्छी बात नहीं है. आपकी हर बात को उसे सुनना चाहिए. आगे हो सकता है कि वह आदमी आपके ऊपर अपनी हर चीज को थोपने लगे. इसलिए इस रिश्ते में आगे बढ़ने से पहले ठीक स् विचार कर लें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading