New year 2020 : नए साल में पुराना कैलेंडर ही नहीं लड़कियों के लिए बदलें सोच भी

New year 2020 : नए साल में पुराना कैलेंडर ही नहीं लड़कियों के लिए बदलें सोच भी
आज भी हम न जानें क्यों महिलाओं को अबला, बेचारी नारी की समझने की भूल कर बैठते हैं.

New year 2020 : नए साल में अगर लड़कियों के प्रति सोच नहीं बदलेंगे, तो जनाब इससे आपको ही नुकसान होने वाला है. ऐसा इसलिए क्योंकि आपकी सोच से लड़कियों को कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2019, 4:18 PM IST
  • Share this:
नया साल, नई उम्मीदें, नई खुशियां, नया जज्बा और नई कहानी. नए साल में कितना कुछ बदल जाएगा न. और कुछ बदले न बदले लेकिन नए साल में घर का कैलेंडर जरूर बदल जाएगा. कैलेंडर तो बदल जाएगा, लेकिन लड़कियों के प्रति सोच बदल पाएगी! ऐसा नहीं है लड़कियों के प्रति अपनी सोच बदलने की हम कोशिश नहीं करते या करना नहीं चाहते हैं पर बात अटक ही जाती है.

नए साल में अगर लड़कियों के प्रति सोच नहीं बदलेंगे, तो जनाब इससे आपको ही नुकसान होने वाला है. ऐसा इसलिए क्योंकि आपकी सोच से लड़कियों को कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा. अक्सर अखबार के पन्नों और न्यूज में हम कई बार पढ़ते हैं कि लड़के की दकियानूसी सोच के कारण दुल्हन मंडप छोड़कर भाग गई. लड़कियों के लिए न सही अपनी इज्जत बचाने के लिए ही थोड़ी सी सोच बदलने पर काम किया जाए.

21वीं सदी में बदला तो बहुत कुछ है, लेकिन आज भी हम न जानें क्यों महिलाओं को अबला, बेचारी नारी की समझने की भूल कर बैठते हैं. जबकि वास्तविकता इससे काफी परे हैं. महिलाएं आज पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही हैं, चाहे वो ऑफिस हो या फिर घर. महिलाएं हर जगह कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं. आज ही नारी पहले ही कहीं ज्यादा मजबूत और सशक्त है.



इसे भी पढ़ें: New year 2020: नए साल की पार्टी में कैरी करनी है शॉट ड्रेस, तो इन बॉलीवुड दीवाज को करिए फॉलो
इमोशन को समझने की कोशिश है जरूरी
अगर आप एक महिला को सिर्फ त्याग की मूर्ति, संबंध बनाने वाली मशीन समझते हैं तो जनाब थोड़ा सा उनके इमोशन को समझने की कोशिश करिए. अगर, आप उन्हें ऐसा समझेंगे, तो वो भी आपको संबंधों के लिए भिखारी, अत्याचारी समझ सकती है. वैसे भी एक जैसे इंसान को दो तराजूओं में तौलना गलत बात है.

अक्सर लोग लड़कियों की आदतों के आधार पर उन्हें जज करने लगते हैं.
अक्सर लोग लड़कियों की आदतों के आधार पर उन्हें जज करने लगते हैं.


ये वाली तो आसानी से राजी हो जाएगी
आजकल की लाइफस्टाइल में कई बार हम लड़कियों को सिगरेट, शराब और अन्य नशा करते हुए देखते हैं. लड़कियों को नशा करते देखते ही हमारी सोच बदल जाती है. कुछ लोग सोचते हैं कि लड़की नशा करती है तो आसानी से किसी भी काम के लिए राजी हो जाएगी. अब आप खुद के लिए नशे के टेंशन दूर करने वाली दवा बताते हैं तो लड़कियों को भी इसका इस्तेमाल करने दीजिए. किसी भी लड़की को उसकी लाइफस्टाइल के हिसाब से जज करना बंद कीजिए.

इसे भी पढ़ें: Fashion Trends 2019 : महिलाओं पर इस साल चला सीक्वेन का जादू, नए साल पर कैरी कर सकती हैं ये स्टाइल

मुंह बंद करके रखना बेहतर है
घर में महिलाओं को दबाकर, डराकर रखने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. पर अब वक्त बदल चुका है. महिलाएं घर की चारदीवारी से निकलकर अंतरिक्ष की यात्रा कर रही है, चांद के रहस्यों को खोज रही है. अब इस बात को आप मानें या माने, पर सच्चाई तो यही रहने वाली है. अगर, आप महिला को दबाकर रखने की कोशिश करते हैं, तो हो सकता है आपको मुंह की खानी पड़े. अब लड़के और लड़कियों के बीच के फर्क को खत्म करिए और साथ कदम से कदम मिलाकर चलिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading