जानें कोरोना वायरस का डर और वर्क फ्रॉम होम में संतुलन कैसे बनाएं

अगर आपके पास घर पर एक बच्चा है तो आप अपने बॉस को अपने घर की स्थिति से अवगत कराएं.
अगर आपके पास घर पर एक बच्चा है तो आप अपने बॉस को अपने घर की स्थिति से अवगत कराएं.

अब आपको घर से काम करना (Work From Home) है लेकिन आपके पास परिवार (Family) के लिए अभी भी समय नहीं है. अगर आप अपने घर को एक ऑफिस में बदल देंगे तो यह रिश्तों, स्वास्थ्य और समग्र खुशी को नुकसान पहुंचा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2020, 10:50 AM IST
  • Share this:
तेजी से बढ़ती प्रतिस्पर्धी दुनिया में, ज्यादातर लोग पहले से ही काम और जीवन के बीच के संतुलन के कारण बहुत पीड़ित थे. प्रौद्योगिकी ने कर्मचारियों को 24 घंटे उपलब्ध कराया है और परिवार के लिए समय कम था और फिर COVID-19 (कोविड-19) ने इसे और प्रभावित किया. अब आपको घर से काम करना है लेकिन आपके पास परिवार के लिए अभी भी समय नहीं है. अगर आप अपने घर को एक ऑफिस में बदल देंगे तो यह रिश्तों, स्वास्थ्य और समग्र खुशी को नुकसान पहुंचा सकता है. वर्क-लाइफ बैलेंस का मतलब अलग-अलग लोगों के लिए कुछ अलग होता है और आपको वह बैलेंस ढूंढना चाहिए जो आपके लिए सही हो, उसके बारे में यहां बताया गया है.

अपने बॉस से बात करें
अगर आपके पास घर पर एक बच्चा है तो आप अपने बॉस को अपने घर की स्थिति से अवगत कराएं. कहा जाता है कि एक बच्चे को एक गांव को पालना पड़ता है और इस समय आपकी मदद के लिए सिर्फ आपके पति मौजूद हैं. ऐसे में आपको अपने बॉस को आपकी शिफ्ट की जरूरतों से अवगत कराना होगा.

इसे भी पढ़ेंः क्या है 4-7-8 श्वास तकनीक और इसे कैसे किया जाता है अप्लाई?
अपने पार्टनर से बात करें


आप दोनों को अपने कामों के समय को विभाजित करने के तरीके खोजने पड़ सकते हैं. आप दोनों को वेबिनार स्थान, समय और एकांत की जरूरत हो सकती है. चाइल्ड केयर कर्तव्यों की मांग को देखते हुए आप अलग-अलग समय पर काम करें ताकि बच्चे को भी देख सकें.

बच्चों के साथ धैर्य रखें
कोरोना वायरस के कारण घरों में बंद लोग एक छत के नीचे एक साथ रहने के लिए मजबूर हैं क्योंकि आप एक अत्यधिक संक्रामक वायरस को रोकने का प्रयास कर रहे हैं. इस बीमारी ने यह सुनिश्चित कर दिया है कि न तो आप और न ही बच्चे अधिक लोगों से मिल सकते हैं. आपको उन्हें डिजिटल उपकरणों पर समय बिताने की अनुमति देनी होगी.

अनप्लग करना भी सीखें
जब एक बार आपके कार्यालय के वेबिनार खत्म हो जाते हैं, तो अपना फोन बंद कर लें. अपने प्रियजनों के साथ जुड़ें. हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में मनोविज्ञान के एक प्रोफेसर और द पावर ऑफ़ रेजिलिएशन के सह-लेखक रॉबर्ट ब्रूक्स कहते हैं कि अपने जीवन में नियंत्रण रखें और अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए तनाव को खत्म करें.

एक्सरसाइज के लिए समय निकालें
जब हम हर चीज के लिए समय निकाल सकते हैं, तो एक्सरसाइज करने की बात क्यों छोड़ें. स्वास्थ्य विशेषज्ञ हमें याद दिलाते रहते हैं कि एक्सरसाइज तनाव को कम करने वाला काम है जो आपके शरीर के माध्यम से हैप्पी हार्मोन-एंडोर्फिन (Hormone–Endorphins) को रिलीज़ करता है और आपके मूड को अच्छा करने में मदद करता है.

योग या मेडिटेशन करें
प्राणायाम या गहरी सांस लेने का एक्सरसाइज आपको आराम करने में मदद करेंगे. किसी विशेषज्ञ से ऑनलाइन मेडिटेशन सीखें और तनाव को कम करें.

अपने जीवन पर एक लंबी नज़र डालें
क्या आप एक ढर्रे में ढल गए हैं? क्या आप अपने लक्ष्यों और उनके मार्ग को फिर से डिज़ाइन कर सकते हैं? कुछ पुरानी आदतों को छोड़ दें जिन्हें बाहर निकालने की जरूरत है. एक नया खाका तैयार करें और जीवन को नए सिरे से देखें.

इसे भी पढ़ेंः Diwali 2020: त्योहारी सीजन में डायबिटीज से बचने के लिए अपनाएं ये 7 आसान टिप्स

एक Gratitude डायरी बनाएं
जीवन में शिकायत करने के लिए बहुत कुछ है. एक लम्बी-चौड़ी बकेट लिस्ट है जिसे कभी भी प्राथमिकता नहीं देना चाहिए. हमें उस सिपाही की तरह होना चाहिए जो सुरंग के अंत में प्रकाश को देख रहा है. इसलिए अपने आप को इन असत्य सपनों के गर्भ से मुक्त करें. आधे-भरे गिलास की सराहना करें. मुस्कुराओ, हंसो और नाचो.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज